home page

Haryana Mausam : हरियाणा के इन जिलों में आज रात होगी बारिश, IMD ने बताया 15 जुलाई तक कैसा रहेगा मौसम

Haryana weather Latest Update - आज  रात से हरियाणा का मौसम करवट बदलने वाला है। शाम होते ही आसमान में हल्के बादल नजर आने लगे हैं।  हाल ही में मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया है कि आज रात हरियाणा के कई जिलों में गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। वहीं, अगर देखा जाए तो अभी तक ज्यादातर जिलों में मानसून की बारिश कम हुई है। आइए जानते हैं आने वाले दिनों में कैसा रहेगा मौसम का हाल - 

 | 

HR Breaking News (ब्यूरो)। हरियाणा में आज रात से मानसून सक्रिय (Monsoon Active in Haryana) होने की संभावना है। इसलिए 13 जुलाई तक प्रदेश के ज्यादातर जिलों में हल्की मध्यम बारिश होने का अलर्ट जारी कर दिया गया है। चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय हिसार के कृषि मौसम विज्ञान (IMD Rain Alert) विभागाध्यक्ष डॉ. मदन खीचड़ ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम मानसून की सक्रिय होने की वजह से 11 से 13 जुलाई तक ज्यादातर क्षेत्रों में हल्की मध्यम बारिश होने की संभावना है।


 इसके अलावा 14-15 जुलाई के दौरान मानसूनी (monsoon update) हवाओं की सक्रियता में मामूली कमी आ सकती है, जिस वजह से उत्तरी जिलों में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश तथा पश्चिमी व दक्षिणी जिलों में कुछ स्थानों पर छिटपुट बूंदाबांदी होने की संभावना है। इसलिए तापमान में मामूली गिरावट और वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ने की संभावना है।

आधे से ज्यादा जिलों में मानसून बारिश की कमी  

मानसून की बात करें तो 1 जून से 10 जुलाई तक हरियाणा में कुल 73.5 MM बारिश दर्ज की गई है, जबकि पूरे प्रदेश में सामान्य बारिश 84.4 MM होती है, जो 17% कम है। मौसम वैज्ञानिक डॉ. चंद्र मोहन ने बताया कि हरियाणा प्रदेश में अभी मानसून ब्रेक और कमजोर मानसून की स्थिति बनी हुई है। आधे से ज्यादा जिलों में अभी मानसून की बारिश की कमी है।

दक्षिण-पश्चिम में सामान्य से अधिक बारिश

अभी तक हरियाणा (Haryana weather) के पश्चिमी और दक्षिणी जिलों में मानसून बेहतर रहा है। यहां पर सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है। जबकि उत्तरी और पूर्वी जिलों में अब भी अधिक मानसूनी बारिश की जरूरत है। हरियाणा-एनसीआर (Haryana NCR Mausam Update) के दक्षिणी हिस्सों में आज भी उत्तर-पूर्वी राजस्थान के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का प्रभाव बना हुआ है। ऐसे में इसका आंशिक असर देखने को मिल सकता है। महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, मेवात और सोनीपत के दक्षिणी जिलों में कहीं-कहीं छिटपुट बूंदाबांदी/बारिश की सक्रियता देखने को मिल रही है।

 उत्तरी और पूर्वी जिलों में मूसलाधार बारिश की संभावना

आपको बता दें कि हरियाणा-एनसीआर (aaj Ka Mausam) के दक्षिणी हिस्सों में मानसून 28 जून को आया था। 11 जुलाई को एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय हुआ था इसलिए पंजाब के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनेगा। ऐसे में मानसून की ट्रफ लाइन अपने सामान्य स्थान यानी हरियाणा-एनसीआर में पहुंचने की संभावना है। आज से 13 जुलाई तक हरियाणा-एनसीआर (NCR Mausam) के उत्तरी और पूर्वी जिलों में मेघ गर्जन के साथ हल्की-मध्यम बारिश के साथ मूसलाधार बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा हरियाणा के अन्य हिस्सों में हल्की बारिश बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। पिछली बार पश्चिमी और दक्षिणी जिलों में मानसून का ज्यादा असर रहा देखने को मिला था। जबकि इस बार उत्तरी और पूर्वी जिलों में  मानसून ज्यादा असर देखने को मिलेगा।


अधिक मात्रा में नमी से आम जनता परेशान

हरियाणा-एनसीआर में अधिकतर स्थानों पर रात में तापमान (aaj Ka Tempreature) 25.0 से 29.0 डिग्री सेल्सियस के बीच चल रहा था। राज्य में एक दिन पहले अधिकतर स्थानों पर दिन का तापमान 35.0 से 38.0 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया है। मानसून सक्रिय न होने की वजह से धीरे-धीरे पूरे इलाके में  तापमान में बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा अधिक मात्रा में नमी से आम जनता परेशान है और उन्हें पसीने वाली उमस भरी गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।