home page

Chanakya ki Niti : ऐसी महिलाएं पति से कभी नहीं रहती संतुष्ट, हर बात पर रहता है झगड़ा

Chanakya Niti For Women : आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों के बल पर एक साधारण बालक चंद्रगुप्त को मधग का सम्राट बना दिया था। चाणक्य नीति कहती है कि मनुष्य का जीवन अनमोल है। इस जीवन को यदि सफल और सार्थक बनाना है, तो हर किसी को कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखना चाहिए। चाणक्य ने ऐसी महिलाओं का जिक्र किया है जो अपने पति से कभी संतुष्ट नहीं रहती है।
 | 
Chanakya ki Niti : ऐसी महिलाएं पति से कभी नहीं रहती संतुष्ट, हर बात पर रहता है झगड़ा

HR Breaking News, Digital Desk - शादी के बाद पत्नी की पहली जिम्मेदारी (wife's first responsibility) पति होता है। जीवन को सरल, सहज और मधुर चलाने के लिए हर व्यक्ति को हमेशा समझदारी से काम लेना चाहिए। महान नीतिकार आचार्य चाणक्य ने भी मानव जीवन से जुड़ी कई बातों (things related to human life) के बारे में बताया है, जो व्यक्ति का सही मार्गदर्शन करती है। चाणक्य नीति में व्यवसाय, दांपत्य जीवन, पैसे और सेहत से जुड़ी बातों की जानकारी दी है। आचार्य चाणक्य ने उन महिलाओं के बारे में भी बताया है, जो अपने पतियों से कभी संतुष्ट नहीं होती हैं। इस लेख में उन महिलाओं के बारे में बताएंगे जो पति से असंतुष्ट नहीं दिखाई देती हैं।


बातूनी महिलाएं, पति भी ऐसा ही चाहती हैं


महिलाओं को बात करने की ज्यादा आदत होती है। वे किसी ने किसी विषय पर दिनभर बातचीत करती रहती हैं। वे यही चाहती हैं कि उनका पति भी उनसे बातचीत करने वाला हो। यदि पति उनसे बहुत बात करें, तो वह खुश रहती हैं, लेकिन कम बात करने वाला पति हो तो वे असंतुष्ट हो जाती हैं। महिलाओं को यदि शांत प्रवृत्ति के पति मिलते हैं, तो वे उनसे ज्यादा खुश नहीं रहती हैं। कई बार तो कम बात करने के कारण उनके रिश्तों में दरार (rift in relationships)आ जाती हैं। जब महिला कम बात करती है या शांत रहती है, तो वो चाहती है कि पति उनसे बात करे।
 

अधिक गुस्सा


कुछ महिलाओं का स्वभाव अक्सर गुस्सैल किस्म का होता है। ऐसी महिलाएं अपने पति से असंतुष्ठ ही रहती है। वे जरा-जरा सी बात में अनबन करने लगती हैं। नतीजा यह होता है कि रिश्तों में दरार आना शुरू हो जाती है। पत्नी यदि गुस्सा से है, पति का समक्ष लेना चाहिए की कोई भूचाल आने वाला है। ऐसे में पति कितनी भी कोशिश करें, पत्नी नहीं मानती।
 

पति का ध्यान नहीं रखना


शादी के बाद पत्नी की पहली जिम्मेदारी (wife's first responsibility) होती है कि वो पति का ध्यान रखें। पति उसके लिए परमेश्वर होता हैं। लेकिन कुछ महिलाएं सिर्फ अपने बारे में ही सोचती हैं और अपना फायदा ही देखती हैं। ऐसी महिलाएं अपने पति से संतुष्ठ नहीं रहती हैं, क्योंकि हर जगह उन्हें सिर्फ की खुद की परवाह होती है। इसका असर उनके रिश्ते पर भी पड़ता है।
 

विश्वासघात


महिलाएं शादी के बाद अपने पति पर आंख बंद करके भरोसा (trust blindly) करती हैं। यदि उसके इस भरोसे को एक बार ठेस पहुंच जाए, तो वे दोबारा भरोसा नहीं कर पाती हैं। रिश्ते में विश्वासघात करने वाले पुरुषों से महिलाएं संतुष्ट नहीं रहती हैं। इनके मन में हर बार पति को लेकर सवाल आते रहते हैं, जिससे रिश्तों में शक पैदा होने लगता है। इसलिए पति-पत्नी को अपने रिश्ते में हमेशा विश्वास रखना चाहिए।


डिसक्लेमर


इस लेख में दी गई जानकारी/ सामग्री/ गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ ज्योतिषियों/ पंचांग/ प्रवचनों/ धार्मिक मान्यताओं/ धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें।