home page

Govt Dividend Income : सरकार को चेक देने वालों की लगी लाइन, 24 घंटे में मिले मिले 6733 करोड़ रुपये

Govt Dividend Income : एक रिपोर्ट के मुताबिक आपको बता दें कि मोदी सरकार के खजाने में एक दिन में ही 6733 करोड़ रुपये जमा हुए हैं। ये कमाई पब्लिक सेक्टर के बैंक (PSU Banks) के जरिए सरकार को दिए गए डिविडेंड से हुई है। बता दें कि पहला डिविडेंड चेक केनरा बैंक (Canara Bank) की ओर से मिला है, जो कि 1838.15 करोड़ रुपये का है।
 | 

HR Breaking News, Digital Desk-  एक ही दिन में सरकार का खजाना पांच पीएसयू बैंकों (PSU Banks) ने भर दिया है. बैंक ऑफ इंडिया (Bank Of India) से लेकर केनरा बैंक (Canara Bank) तक ने डिविडेंड के रूप में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) को चेक सौंपे. इन पांचों बैंकों ने कुल 6733 करोड़ रुपये के चेक दिए हैं. Nirmala Sitharaman ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी शेयर करते हुए चेक लेते हुए तस्वीरें भी शेयर की हैं. 

पीएसयू बैंकों ने भरा सरकार का खजाना-
मोदी सरकार के खजाने में एक दिन में ही 6733 करोड़ रुपये जमा हुए हैं. ये कमाई पब्लिक सेक्टर के बैंक (PSU Banks) के जरिए सरकार को दिए गए डिविडेंड से हुई है. दरअसल, सरकारी बैंक जब डिविडेंड बांटती है, तो इनमें Govt की हिस्सेदारी होने के चलते उसके खजाने में भी डिविडेंड (Dividend) का पैसा पहुंचता है, जिसे सरकार अपने हिसाब से खर्च में लाती है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा एक्स प्लेटफॉर्म पर शेयर की गई जनाकारी के मुताबिक, उन्हें पहला डिविडेंड चेक केनरा बैंक (Canara Bank) की ओर से मिला है, जो कि 1838.15 करोड़ रुपये का है. बैंक के एमडी और CEO के सत्यनारायण राजू ने वित्त मंत्री को ये चेंक सौंपा. 

बैंक ऑफ बड़ौदा ने दिए 2514 करोड़-
सरकार के पास वित्त वर्ष 2023-24 के लिए डिविडेंड के तौर पर दूसरा चेक इंडियन बैंक (Indian Bank) से आया. वित्त मंत्री द्वारा शेयर की गई तस्वीर में इंडियन बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ शांति लाल जैन व अन्य अधिकारी उन्हें 1193.45 करोड़ रुपये का चेक देते नजर आ सरे हैं. वहीं बैंक ऑफ बड़ौदा की ओर से निर्मला सीतारमण को सौंपा गया डिविडेंड चेक 2514.22 करोड़ रुपये का था, जिसे Bank CEO देवदत्त चंद ने सौंपा. 

इन दो बैंकों ने भी वित्त मंत्री को सौंपा चेक-
सरकार को डिविडेंड देने वाले अन्य बैंकों की बात करें तो इस लिस्ट में अगला नाम बैंक ऑफ इंडिया का आता है. Bank Of India की ओर से भी बुधवार को 935.44 करोड़ रुपये का चेक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को सौंपा गया है. BOI CEO रजनीश कर्नाटक ने अन्य अधिकारियों के साथ वित्त मंत्री को ये चेक दिया. पांचवां बैंक India Exim Bank रहा, जिसने फाइनेंस मिनिस्टर को 252 करोड़ रुपये का चेक दिया. 

SBI ने सौंपा था 7000 करोड़ रुपये का चेक!
इससे पहले बीते जून महीने की 21 तारीख को देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई (SBI) ने वित्त वर्ष 2023-24 (FY24) के लिए सरकार को 6959.29 करोड़ रुपये का डिविडेंड दिया था. एसबीआई के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) को डिविडेंड का चेक सौंपा था. इसके साथ ही बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र (Bank Of Maharashtra) ने भी सरकार को डिविडेंड का भुगतान किया था. बैंक की ओर से उसी दिन 857 करोड़ रुपये का डिविडेंड चेक सौंपा गया था. 

RBI ने दी है 2.11 लाख करोड़ की मंजूरी-
यहां बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने भी वित्त वर्ष 2023-24 के लिए केंद्र सरकार को 2.11 लाख करोड़ रुपये के डिविडेंड भुगतान का ऐलान किया है. बीते मई महीने में इसे मंजूरी दी थी. ये रकम आरबीआई की ओर से डिविडेंड के रूप में दी जाने वाली अब तक सबसे ज्यादा राशि है. इससे पिछले वित्त वर्ष 2022-23 के लिए RBI ने 87,416 करोड़ रुपये का डिविडेंड भुगतान सरकार को किया था. इस हिसाब से देखें तो इस साल ये आंकड़ा दोगुना से ज्यादा है.