home page

Railway Fare Increase : रेलवे ने बढ़ाया इस ट्रेन का किराया, अब हवाई जहाज से भी महंगा हुआ सफर

Indian railway news : ट्रेन के किराए को लेकर रेलवे ने बड़ा अपडेट जारी किया है, कई रूटों पर रेलवे ने ट्रेन के टिकट महंगे कर दिए है, आइए खबर में जानते है कि किस रूट पर कितना महंगा होगा ट्रेन का टिकट.....
 | 

HR Breaking News, Digital Desk - आम आदमी के लिए अब ट्रेन का सफर करना भी महंगा होने लगा है। त्योहारी सीजन में ट्रेनों का किराया आसमान छू रहा है। सुविधा एक्सप्रेस ट्रेन (Suvidha Express Train) में सेकेंड एसी का किराया 11,230 रुपये तक पहुंच गया है। अब जयपुर-यशवंतपुर (बेंगलुरु) सुविधा एक्सप्रेस का किराया भी इतना ही बढ़ गया है। यह आम आदमी की पहुंच से बाहर है। वहीं मुंबई-पटना रूट के लिए 9,395 रुपये तक पहुंच गया है। इन प्रीमियम एक्सप्रेस ट्रेनों के हाई फ्लेक्सी फेयर की समीक्षा की जा सकती है। हालांकि इस सीजन में ट्रेन के टिकटों की कीमत कम होने के आसार कम ही हैं।


इस वजह से महंगा है टिकट

बता दें कि रेलवे ने एसी और नॉन एसी दोनों बर्थ के लिए 300 रुपये तक किराया बढ़ाने की अनुमति दे रखी है। ऐसे में इन ट्रेनों में किराया असामान्य रूप से ज्यादा है। मौजूदा समय में केवल दो सुविधा एक्सप्रेस ट्रेनें मुंबई-पटना और जयपुर-यशवंतपुर पर चल रही हैं। प्रीमियम एक्सप्रेस ट्रेन सेवा 2014 में व्यस्त मार्गों पर शुरू की गई थी और केवल कन्फर्म और आरएसी टिकट जारी किए जाते हैं। हालांकि इतने हाई फ्लेक्सी फेयर को देखते हुए रेलवे जल्द ही कुछ कदम उठा सकता है।

फ्लाइट से ज्यादा है ट्रेन का किराया

रेलवे टिकट बुकिंग (railway ticket booking) वेबसाइट आईआरसीटीसी के मुताबिक, मुंबई-पटना सुविधा एक्सप्रेस ट्रेनों में 2AC टिकट 8 दिसंबर तक 9,395 रुपये है। इसी तरह जयपुर-यशवंतपुर सुविधा एक्सप्रेस के मामले में, 3 फरवरी तक 2AC का किराया 11,230 रुपये है। रेल किराया हवाई किराये से ज्यादा है। उदाहरण के लिए, 25 नवंबर को जयपुर से मुंबई के लिए एक तरफा उड़ान टिकट 7,549 रुपये है। वहीं 22 नवंबर को मुंबई से पटना के लिए एक तरफा सबसे सस्ता हवाई किराया 7,022 रुपये है।
 

रेलवे चला रहा एक्स्ट्रा ट्रेनें

त्योहार की भीड़ को देखते हुए रेलवे अतिरिक्त ट्रेनें चला रहा है। मौजूदा त्योहारी सीज़न के दौरान, रेलवे ने 1 अक्टूबर से विशेष ट्रेनों की 2,423 यात्राएं संचालित की हैं। इनमें 36 लाख यात्री यात्रा कर रहे हैं। एक अधिकारी ने बताया कि पिछले साल 1 अक्टूबर और 31 दिसंबर के दौरान 2,614 यात्राएं हुईं। इस साल, रेलवे ने इसे तीन गुना बढ़ा दिया है। भीड़ को कम करने के लिए कुल 6,754 यात्राएं होंगी।