home page

UP News : यूपी के इस इलाके में गरजा प्रशासन का बुलडोजर, खाली कराई गई जमीन

UP News : मेरठ में मल्टीलेवल पार्किंग का सपना जल्द पूरा होने जा रहा है जिसके लिए निगम परिसर के आवास तोड़ने का काम शुरू हो गया है, बताया जा रहा है की जमीन खाली करवाने के लिए प्रशासन के बुलडोजर ने गरजना शुरू कर दिया है। इसके लिए शासन ने पूरी तरह से परमिशन दे दी है। आइए खबर में जानते है इससे जुड़ी पूरी जानकारी।

 | 

HR Breaking News, Digital Desk - नगर निगम परिसर में मल्टी लेवल कार पार्किंग (Multi Level Car Parking)  के निर्माण के लिए आवास और कार्यालय तोड़ने का कार्य शुरू हो गया। परिसर की चिह्नित जमीन (Marked land of the campus) को पूरी तरह से खाली कराने के बाद जलनिगम सीएंडडीएस (Jalnigam C&DS) मल्टी लेवल कार पार्किंग का निर्माण शुरू करेगा। सितंबर 2025 तक पार्किंग का कार्य पूरा करना है।


राज्य स्मार्ट सिटी परियोजना (State Smart City Project) के अंतर्गत नगर निगम परिसर में मल्टी लेवल कार पार्किंग का निर्माण कार्य शासन ने पांच अगस्त 2023 को स्वीकृति किया था। जल निगम सीएंडडीएस को निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी गई है। निर्माण कार्य का शुभारंभ नौ मार्च 2024 को किया गया था। लेकिन बीच में लोकसभा चुनाव (lok sabha election 2024) की आचार संहिता लगने की वजह से कार्य अवरुद्ध रहा।


इसके बाद कार्यदायी संस्था को नगर निगम के आवास (municipal housing) और कार्यालय खाली कराने में एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा। करीब एक महीने की कवायद के बाद आवास खाली हो सके। तत्पश्चात आवास व कार्यालय तोड़ने से निकलने वाले मलबे के निस्तारण के लिए नीलामी की गई।


करीब 26 लाख में नीलामी छूटी। इतनी प्रक्रिया के बाद सोमवार को आवास तोड़ने का कार्य तेजगति से शुरू हुआ है। नगर निगम परिसर (municipal corporation) में स्थित कुल 23 आवास टूटेंगे। इनमें से छह आवास तोड़ दिए गए हैं। जलकल कार्यालय, कर्मचारी संघ जलमल कार्यालय, जलमल स्टोर भी तोड़ दिया गया है।


ये कार्यालय होंगे शिफ्ट


पुराना नगर आयुक्त कार्यालय, महापौर कार्यालय, अपर नगर आयुक्त तृतीय, जलकल कार्यालय, जलकल स्टोर, फायर स्टेशन, संपत्ति अनुभाग को शिफ्ट किया जाना है। नगर आयुक्त कार्यालय पहले ही दूसरे भवन की दूसरी मंजिल पर शिफ्ट हो चुका है। इसी मंजिल पर अन्य कार्यालय भी शिफ्ट किए जा रहे हैं। वहीं, फायर स्टेशन को टाउनहाल परिसर में शिफ्ट किया जा रहा है।