home page

7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों का DA 50 प्रतिशत, वित्त मंत्रालय ने बेसिक सैलरी में वृद्धि को लेकर बताई 6 बातें

7th Pay Commission DA Hike : अगर आप सरकारी कर्मचारी हैं तो ये खबर आपके काम की है। दरअसल, सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (dearness allowance) में चार फीसदी की बढ़ोतरी की है। कर्मचारियों को डीए अब 46 फीसदी से बढ़कर 50 फीसदी हो गया है। हाल ही में वित्त मंत्रालय ने कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में वृध्दि को लेकर छह महत्वपूर्ण बातें बताई है। 

 | 
7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों का DA 50 प्रतिशत, वित्त मंत्रालय ने बेसिक सैलरी में वृद्धि को लेकर बताई 6 बातें

HR Breaking News (ब्यूरो)। केंद्र सरकार के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (DA) बढ़कर 50 फीसदी तक पहुंच गया है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों को अब उनके महंगाई भत्ते (DA) में 4 प्रतिशत की बढ़ोतरी मिलेगी। केंद्र सरकार के पेंशनभोगियों के लिए, कीमतों में बढ़ोतरी की भरपाई के लिए महंगाई राहत (DR) 4 प्रतिशत तक बढ़ाई गई है।

7 मार्च, 2024 को PIB के एक प्रेस नोट के मुताबिक, महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत (DR) दोनों के कारण सरकारी खजाने पर संयुक्त रूप से सालाना 12,868.72 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ेगा। इससे लगभग 49.18 लाख कर्मचारियों और 67.95 लाख पेंशनर्स को लाभ मिलेगा।

Gratuity Rules change : ग्रेच्युटी के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, जानिए 15 हजार बेसिक सैलरी वालों को कितना होगा फायदा

12 मार्च, 2024 को वित्त मंत्रालय द्वारा जारी कार्यालय ज्ञापन (Office Memorandum) के मुताबिक, बेसिक सैलरी वृद्धि को लेकर यहां पर 6 बातें दी गई हैं।

बेसिक सेलरी कितनी बढ़ेगी?


1 जनवरी 2024 से केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता (dearness allowance) दरें मूल वेतन के 46 प्रतिशत से बढ़कर 50 प्रतिशत हो जाएंगी।

बेसिक सैलरी क्या है?


संशोधित वेतन में मूल वेतन शब्द का अर्थ सरकार द्वारा स्वीकृत 7वें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिशों के मुताबिक, वेतन मैट्रिक्स में निर्धारित स्तर पर लिया गया वेतन है, लेकिन इसमें कार्यालय ज्ञापन के अनुसार किसी अन्य प्रकार का वेतन जैसे विशेष वेतन आदि शामिल नहीं है।

DA अलग बना रहेगा


महंगाई भत्ता (DA) पारिश्रमिक का एक अलग तत्व बना रहेगा और इसे एफआर 9(21) के दायरे में वेतन के रूप में नहीं माना जाएगा।

भिन्नों से संबंधित भुगतान


महंगाई भत्ते (DA) के कारण 50 पैसे और उससे अधिक के पार्ट के भुगतान को अगले उच्च रुपये में पूर्णांकित किया जा सकता है और 50 पैसे से कम होने पर उसको नजरअंदाज किया जा सकता है।

बकाया का भुगतान


महंगाई भत्ते (dearness allowance) की बकाया राशि का भुगतान मार्च, 2024 के वेतन वितरण की तारीख से पहले नहीं किया जाएगा।

अन्य सरकारी कर्मचारियों के लिए DA में बढ़ोतरी


ये आदेश रक्षा सेवा अनुमान से वेतन पाने वाले असैन्य कर्मचारियों पर भी लागू होंगे और व्यय रक्षा सेवा अनुमान के संबंधित प्रमुख से वसूला जाएगा। सशस्त्र बल कर्मियों और रेलवे कर्मचारियों के संबंध में क्रमशः रक्षा मंत्रालय और रेल मंत्रालय द्वारा अलग-अलग आदेश जारी किए जाएंगे।

DA बढ़ोतरी के बाद कितनी बढ़ेगी सैलरी?


केंद्र सरकार के कर्मचारी के मामले को लें, जिसे प्रति माह 45,700 रुपये का मूल वेतन मिलता है। पहले 46 फीसदी के हिसाब से उनका महंगाई भत्ता 21,022 रुपये था। डीए 50 फीसदी बढ़ने से उनका महंगाई भत्ता बढ़कर 22,850 रुपये हो जाएगा। तो उसे 1,818 रुपये अधिक मिलेंगे – 22,850 रुपये – 21,022 रुपये।

High Court ने बताया- फोन रिकॉर्डिंग को सबूत माना जाएगा या नहीं

कर्मचारियों के वेतन में आएगा बड़ा उछाल


केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी यह है कि डीए 50 प्रतिशत तक पहुंच गया है। 7वें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिशों के अनुसार, डीए 50 प्रतिशत तक पहुंचने पर कुछ अन्य भत्ते और वेतन के घटक भी बढ़ जाएंगे। इससे केंद्र सरकार के कर्मचारियों की सैलरी में बड़ा उछाल आएगा।

क्या होता है जब डीए 50 प्रतिशत तक पहुंच जाता है: यहां वे भत्ते हैं जो बढ़ जाएंगे


मकान किराया भत्ता
बच्चों की शिक्षा भत्ता
बच्चों की देखभाल के लिए विशेष भत्ता
छात्रावास सब्सिडी
स्थानांतरण पर टीए (व्यक्तिगत वस्तुओं का परिवहन)
ग्रेच्युटी सीमा
पोशाक भत्ता
स्वयं के परिवहन के लिए माइलेज भत्ता
दैनिक भत्ता


पेंशनर्स की कितनी बढ़ेगी पेंशन?


मान लीजिए कि केंद्र सरकार के किसी पेंशनर को प्रति माह 36,100 रुपये की मूल पेंशन मिलती है और 46 फीसदी DR पर पेंशनर को 16,606 रुपये मिलते थे। जैसे ही उनका डीआर अब 50 प्रतिशत तक बढ़ गया है, उन्हें महंगाई राहत के रूप में हर महीने 18,050 रुपये मिलेंगे तो उनकी पेंशन प्रति माह 1,444 रुपये बढ़ जाएगी।