home page

Income Tax ने बेरोजगार स्टूडेंट को भेजा 46 करोड़ का टैक्स नोटिस, वजह जान उड़े होश

Income Tax Department Notice : वित्तीय वर्ष खत्म होने वाला है और ऐसे में इनकम टैक्स विभाग सख्ती से काम  कर रहा है। आयकर विभाग कि नजरें सभी की कमाई पर होती है। अगर कोई टैक्सपेयर्स टैक्स चोरी करता है या अकाउंट में लिमिट से ज्यादा का कैश लेन देन करता है तो इनकम टैक्स विभाग नोटिस (Income Tax) भेजता है गड़बड़ी मिलने पर कड़ी कर्रवाई की जाती है। हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। आयकर विभाग ने एक स्टूडेंट को 46 करोड़ रूपये का टैक्स नोटिस भेज दिया। आइए नीचे खबर में जानते हैं क्या है पूरा मामला-

 | 
Income Tax ने बेरोजगार स्टूडेट को भेजा 46 करोड़ का टैक्स नोटिस, वजह जान उड़े होश 

HR Breaking News (ब्यूरो)। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक कॉलेज स्टूडेंट को आयकर विभाग ने 46 करोड़ रुपये का टैक्स नोटिस (Income Tax) भेजा है. रिपोर्ट के  मुताबिक इसके बाद छात्र ने उसके खाते से हुए 46 करोड़ रुपये के फर्जी लेनदेन के बाद पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई है.

 

 

क्या है पूरा मामला?

Axis Bank ग्राहकों के लिए जरूरी अपडेट, कस्टमर की सेफ्टी के लिए बैंक ने उठाया ये कदम


प्रमोद कुमार दंडोतिया नाम का छात्र मध्य प्रदेश ग्वालियर का रहने वाला है. वह एसएलपी कॉलेज से एमए इंग्लिश कर रहा है. प्रमोद को उस समय एक बड़ा झटका लगा, जब उसे इनकम टैक्स विभाग और जीएसटी विभाग का 46 करोड़ रुपये का नोटिस मिला. दोनों डिपार्टमेंट ने छात्र को नोटिस (Tax Notice) में जानकारी दी है कि उसके पैन कार्ड नंबर का इस्तेमाल करके साल 2021 में दिल्ली और मुंबई में दो कंपनियों को रजिस्टर किया गया है. 

इसके साथ ही इसके लिए छात्र के बैंक खाते का भी इस्तेमाल किया गया है. नोटिस मिलने के बाद प्रमोद के होश उड़ गए और उसे पहले लगा कि विभाग की तरफ से कोई गलती हो गई होगी. बाद में मामले पर पता लगाने पर छात्र को जनवरी 2021 से 2024 के बीच उसे खाते पूरे 46 करोड़ रुपये के लेनदेन का पता चला.

छात्र ने कही ये बात


छात्र ने का है कि वह बड़ी मुश्किल से अपनी कॉलेज की फीस दे पाता है. ऐसे में इतनी बड़ी राशि की लेनदेन करने का सवाल ही नहीं उठता है. इसके साथ ही छात्र ने दावा किया उसके पैन कार्ड नंबर का गलत इस्तेमाल करके फर्जी फर्म खोलकर इस पूरे फ्रॉड को अंजाम दिया गया है. प्रमोद ने यह भी कहा कि इस मामले में उसने इनकम टैक्स विभाग से भी बात करने की कोशिश की, लेकिन उसका भी कोई नतीजा नहीं निकला. इसके बाद छात्र ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है.

Supreme Court Decision : पुश्तैनी जमीन और मकान वाले जान लें सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

एडिशनल एसपी से मांगी मदद


नोटिस प्राप्त होने पर छात्र ने इस मामले में क्राइम ब्रांच के एडिशनल एसपी से मदद मांगी है. एडिशनल एसपी सियाज ने छात्र को साइबर सेल में अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए कहा है. इसके साथ ही पुलिस ने छात्र को फ्रॉड केस दर्ज करने के बाद मामले की कॉपी आयकर विभाग और जीएसटी विभाग के पास जमा कराने की सलाह दी है.