home page

Success Story : लाखों की नौकरी छोड़ किसान के बेटे ने खड़ी की करोड़ों की कंपनी, ऐसे खुली किस्मत

अगर लगन से मेहनत की जाए तो हर किसी को सफलता मिलती है। ऐसे ही कुछ एक किसान के बेटे ने कर दिखाया है। दरअसल, किसान के बेटे ने लाखों की नौकरी छोड़ खुद का बिजनेस शुरू किया और करोड़ों की कंपनी का मालिक है। चलिए नीचे खबर में जानते हैं इनकी पूरी कहानी- 
 | 
Success Story : लाखों की नौकरी छोड़ किसान के बेटे ने खड़ी की करोड़ों की कंपनी, ऐसे खुली किस्मत

HR Breaking News (ब्यूरो)। जिंदगी में हर इंसान सफल होना चाहता है। लेकिन सफलता के लिए कड़ी मेहनत और लगन जरूरी है। कभी-कभी जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए रिस्क भी लेना पड़ता है। अगर अपने आप पर विश्वास हो तो बड़ी से बड़ी सफलता हासिल की जा सकती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है स्टॉक ब्रोकिंग ऐप Groww के ग्रो के सह-संस्थापक और सीईओ ललित केशरे (Lalit Keshre) ने। ललित ने अपनी मेहनत के दम पर नौकरी छोड़कर बिजनेस की शुरुआत की थी।


 आज ग्रो देश की सबसे बड़ी ब्रोकिंग फर्म बन चुकी है। लेकिन ललित (Lalit Keshre) को ये सफलता ऐसे ही नहीं मिली है। इसके लिए उन्होंने काफी कड़ी मेहनत की है। इससे पहले भी ललित ने एक स्टार्टअप शुरू किया था। हालांकि वह ज्यादा दिनों तक चल नहीं सका था। इसके बाद उन्होंने अपनी गलतियों से सीखकर नए स्टार्टअप की शुरुआत की थी। हालांकि इस बार उनका स्टार्टअप सफल रहा।

किसान परिवार में जन्मे

ललित का जन्म मध्‍य प्रदेश के खरगोन जिले के लेपा गांव में किसान परिवार में हुआ। किसान होने के बावजूद भी उनके पिता पढ़ाई का महत्व समझते थे और हमेशा ललित को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते थे। ललित की स्कूली शिक्षा खरगोन में ही हुई थी। 12वीं की पढ़ाई के बाद उन्होंने आईआईटी का एंट्रेंस दिया और बहुत ही अच्छी रैंक से एंट्रेंस क्लियर किया, जिसके बाद उन्हें आईआईटी बॉम्बे में दाखिला मिला।

ऐसे की शुरुआत

किसान परिवार में जन्‍में ललित ने साल 2016 में तीन अन्‍य सहयोगियों के साथ ग्रो को शुरू किया था। सात ही साल में इस स्‍टार्टअप ने देश की सबसे बड़ी ब्रोकरेज फर्म बनने का खिताब हासिल कर लिया है। ग्रो में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, सिकोइया कैपिटल और टाइगर ग्लोबल जैसे दिग्गजों ने पैसा लगाया है। ग्रो निवेशकों को स्टॉक, म्यूचुअल फंड, एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड, आईपीओ, अमेरिकी स्टॉक,फ्यूचर्स एंड ऑपशंस, फिक्स्ड डिपॉजिट और सोने में निवेश करने में मदद करती है।

बिजनेस के लिए छोड़ी नौकरी

आईआईटी से पढ़ाई पूरी करने के बाद ललित केशरे ने नौकरी की। वह ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट में काम करते थे। लेकिन साल 2016 में उन्होंने लाखों रुपये के पैकेज वाली अपनी इस नौकरी को छोड़कर तीन दोस्तों के साथ मिलकर ग्रो की नींव रखी थी। वह फ्लिपकार्ट में प्रोडक्ट मैनेजर के रूप में मार्केटप्लेस का काम देख रहे थे।