home page

Success Story : पति पत्नी ने मिलकर शुरू किया मोमबत्ती का काम, 40 के ऑर्डर से हुई शुरूआत और खड़ी हो गई करोड़ों की कंपनी

Success Story : आपको बता दें कि तारा कैंडल्स की शुरुआत 2005 में हुई थी। और इसकी संस्थापना उमेश सिंह और उनकी पत्नी रिचा सिंह ने मिलकर की थी। जानिए नीचें खबर में इनकी सफलता की पूरी कहानी के बारे में...
 | 
Success Story : पति पत्नी ने मिलकर शुरू किया मोमबत्ती का काम, 40 के ऑर्डर से हुई शुरूआत और खड़ी हो गई करोड़ों की कंपनी

HR Breaking News, New Delhi : तारा कैंडल्स की शुरुआत 2005 में हुई थी. इसके संस्थापना उमेश सिंह ने अपनी पत्नी रिचा सिंह के साथ मिलकर की थी. उमेश सिंह के पिता चाहते थे कि वह टीचर बनें लेकिन सिंह ने नौकरी की बजाय बिजनेस को चुना. उन्होंने सबसे पहले कॉर्पोरेट के लिए गिफ्ट पैकिंग का काम करना शुरू. 90 के दशक के अंत में गिफ्ट का मार्केट बूम कर रहा था. इसी को देखते हुए उमेश सिंह ने इस क्षेत्र में अपना कदम रखा. उनका फैसला सही भी साबित हुआ.

हालांकि, उनके जीवन में अभी बड़ा बदलाव आना था. गिफ्ट का काम अच्छा चल रहा था कि तभी उनके पास गिफ्ट के तौर पर कैंडल्स का ऑर्डर आया. क्लाइंट की डिमांड के हिसाब से ये कैंडल्स एक-दूसरे से अलग होनी थीं. क्लाइंट का नाम था एमिरेट्स. इतने बड़े ग्रुप से ऑर्डर मिलने का नतीजा ये हुआ कि संसाधन नहीं होने के बावजूद सिंह ने इसे लपक लिया. उन्होंने कई जगह इस काम को आउटसोर्स करने की कोशिश की लेकिन वह कोई ऐसा काम करने वाला तब मिला ही नहीं.

तारा कैंडल्स का जन्म:

इसके बाद उमेश सिंह और उनकी पत्नी रिचा ने खुद ही इस ऑर्डर को पूरा करने की ठानी. एमिरेट्स की ओर से 40 मोमबत्तियों का ऑर्डर था जिसे पूरा भी कर दिया गया. उमेश सिंह कहते हैं कि यह कैंडल के बिजनेस में उनका अब तक का सबसे खराब काम था लेकिन यहां से उन्होंने सीखा कि ये काम किया कैसे जाता है. इसके बाद तारा कैंडल्स का जन्म हुआ और उन्होंन पूरा ध्यान इस तरफ केंद्रित कर दिया. तारा कैंडल्स का आइडिया चल पड़ा. उस समय देश में शायद ही कोई हो जो एरोमा कैंडल्स बना रहा हो. इसका फायदा तारा कैंडल्स को मिला.

40 से 1 लाख 60 हजार:

उमेश सिंह बताते हैं कि जिस कंपनी की शुरुआत 40 कैंडल के ऑर्डर के साथ हुई थी उसने कोरोना काल में एल्केम फार्मा को 16 दिन के अंदर 1.60 लाख कोरोना शेप कैंडल्स पहुंचाईं. अब तक कंपनी के 90 कॉर्पोरेट क्लाइंट्स हो चुके हैं. इसके अलावा कंपनी के पास 5000 अन्य क्लाइंट्स हैं. कंपनी के क्लाइंट्स में जेडब्ल्यू मैरियट व ताज जैसे देश के सबसे बड़े होटल्स भी शामिल हैं. कंपनी ने 2021-22 में करीब 20 करोड़ का रेवेन्यू जेनरेट किया है. तारा कैंडल्स की योजना अब इंटरनेशनल लेवल पर जाने की है.