home page

Success Story : वीकेंड में 2 दिन पढ़कर पास की UPSC परीक्षा, बनीं ऑफिसर

Devyani Singh Success Story : आज हम आपको आईआरएस ऑफिसर देवयानी सिंह की सक्सेस स्टोरी के बारे में बताने वाले हैं। आईआरएस ऑफिसर देवयानी सिंह ने जॉब करने के साथ-साथ हफ्ते में केवल दो दिन यूपीएससी की तैयारी कर आईआरएस का पद हासिल कर लिया। आपको बता दें कि देवयानी सिंह ने अपनी कक्षा 10वीं व 12वीं की पढ़ाई चंडीगढ़ एसएच सीनियर सेकेंडरी स्कूल से की है। आइए जानते है इनके बारे में पूरी जानकारी।

 | 
Success Story : वीकेंड में 2 दिन पढ़कर पास की UPSC परीक्षा, बनीं ऑफिसर

HR Breaking News, Digital Desk - आपने अब तक ना जाने कितने ही यूपीएससी उम्मीदवारों की सक्सेस स्टोरी के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी ऑफिसर की सक्सेस स्टोरी के बारे में बताएंगे, जिन्होंने जॉब करने के साथ-साथ हफ्ते में केवल दो दिन यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी की और परीक्षा में ऑल इंडिया 11वीं रैंक हासिल कर डाली. दरअसल, हम बात कर रहे हैं आईआरएस ऑफिसर देवयानी सिंह की, जिन्होंने एक सही सट्रेटजी और अपनी मेहनत के दम पर यह मुकाम हफ्ते में केवल दो दिन परीक्षा की तैयारी से हासिल कर लिया।

डिग्री से इंजीनियर हैं देवयानी 

बता दें कि देवयानी सिंह ने अपनी कक्षा 10वीं व 12वीं की पढ़ाई चंडीगढ़ एसएच सीनियर सेकेंडरी स्कूल से की है. कक्षा 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद देवयानी ने साल 2014 में बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पिलानी (Birla Institute of Technology and Science, Pilani) के गोवा कैंपस के इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन लिया था. यहां से उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की थी।

इंटरव्यू राउंड तक जाकर चूकीं


इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद देवयानी ने यूपीएससी की परीक्षा देने का मन बनाया, जिसके लिए उन्होंने तुरंत तैयारी भी शुरू कर दी. हालांकि, देवयानी को इतनी आसानी से सफलता हासिल नहीं हुई. लगातार तीन बार साल 2015, 2016 और 2017 के यूपीएससी एग्जाम में फेल होने के बाद चौथे प्रयास में जाकर उन्होंने सफलता हासिल की. बता दें देवयानी शुरुआती दो प्रयासों में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का प्रीलिम्स (UPSC Prelims) राउंड भी क्लियर नहीं कर पाई थीं. जबकि तीसरे प्रयास में वो इंटरव्यू राउंड तक तो पहुंच गई, लेकिन फाइनल लिस्ट में उनका नाम नहीं आया।


चौथे अटेंप्ट में मिली सफलता


इसके बावजूद देवयानी ने हार नहीं मानी और साल 2018 में अपना चौथा अटेंप्ट दिया. जिसके परिणामस्वरूप उन्होंने यूपीएससी सिविल सेवी परीक्षा क्रैक कर डाली और ऑल इंडिया में 222वीं रैंक हासिल की. देवयानी को उनकी रैंक के मुताबिक, सेंट्रल ऑडिट विभाग (Central Audit Department) में नियुक्त किया गया. नियुक्ति के बाद उनकी ट्रेनिंग शुरू हो गई. देवयानी अपनी रैंक से खुश नहीं थी, इसलिए उन्होंने एक बार और यूपीएससी की परीक्षा देने का मन बनाया।

वीकेंड में दो दिन पढ़कर क्रैक की UPSC परीक्षा


हालांकि, वह ट्रेनिंग के कारण परीक्षा की तैयारी के लिए ज्यादा समय नहीं दे पा रही थीं. ऐसे में वह केवल वीकेंड यानी शनिवार और रविवार को ही परीक्षा के लिए पढ़ पाती थी. हफ्ते में दो दिन की तैयारी के परिणामस्वरूप देवयानी ने साल 2019 में परीक्षा पास कर ऑल इंडिया में 11वीं रैंक हासिल कर डाली और आईआरएस ऑफिसर का पद हासिल किया।