home page

IAS Tina Dabi से भी खूबसूरत है ये महिला अफसर, 23 की उम्र में बनी गई थी अधिकारी

आईएएस अधिकारी टीना डाबी का भी काफी नाम है लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला अफसर के बारे में बताने जा रहे है जो Tina Dabi से भी खूबसूरत है, सबसे बड़ी बात तो यह है कि इस महिला अफसर ने 23 की उम्र में कुर्सी हासिल कर ली थी, आइए खबर में जानते है आईएएस अधिकारी स्मिता सभरवाल के बारे में विस्तार से।

 | 
IAS Tina Dabi से भी खूबसूरत है ये महिला अफसर, 23 की उम्र में बनी गई थी अधिकारी

HR Breaking News, Digital Desk - राजस्थान के जैसलमेर जिले की डीएम आईएएस टीना डाबी अक्सर ही अपनी निजी जिंदगी को लेकर सुर्खियों में बनी रहती हैं। टीना अपने लुक्स को लेकर सुर्खियों में भी रहती हैं। सोशल मीडिया पर टीना की अच्छी खासी फैन फोलोइंग है। हालांकि, टीना डाबी के अलावा एक महिला आईएएस अधिकारी और भी हैं, जो उन्हें लुक्स में न सिर्फ टक्कर देती हैं, बल्कि लोगों के बीच भी काफी पॉपुलर हैं। आइए इनके बारे में जाना जाए। 

दरअसल, हम बात कर रहे हैं आईएएस अधिकारी स्मिता सभरवाल (IAS officer Smita Sabharwal) की। जो वर्तमान में तेलंगाना मुख्यमंत्री कार्यालय की सचिव हैं। स्मिता की पहचान पीपुल्स ऑफिसर के रूप में होती है। अपने करियर में उन्होंने अपने काम को लेकर काफी वाहवाही लूटी है। स्मिता के ट्विटर पर पांच लाख से ज्यादा फोलोवर्स हैं। 


स्मिता सभरवाल 2000 बैच की आईएएस अधिकारी हैं। उन्होंने UPSC एग्जाम में चौथी रैंक मिली थी। उन्होंने बहुत कम उम्र से UPSC एग्जाम की तैयारी शुरू कर दी थी। अपनी मेहनत और लगन के बूते उन्होंने UPSC एग्जाम को क्रैक किया और महज 23 साल की उम्र में आईएएस अधिकारी बन गईं। यही वजह है कि UPSC की तैयारी कर रहे युवा उन्हें एक प्रेरणा के तौर पर देखते हैं।  


स्मिता मूल रूप से दार्जिलिंग की रहने वाली हैं। उनके पिता का नाम कर्नल पीके दास और मां का नाम पूरबी दास है। उनके पिता रिटायर सैन्य अधिकारी हैं। दार्जिलिंग की रहने वाली स्मिता ने 9वीं क्लास से लेकर 12वीं क्लास तक की पढ़ाई हैदराबाद में की। वह पढ़ने में शुरू से ही होशियार थीं। उन्होंने ICSE बोर्ड के 12वीं क्लास में पहली रैंक हासिल की थी।


स्मिता सभरवाल ने सेंट फ्रांसिस कॉलेज फॉर वुमेन से अपनी ग्रेजुएशन पूरी की। इस दौरान उन्होंने UPSC की तैयारी शुरू कर दी। हालांकि, पहले प्रयास में उन्हें नाकामी हाथ लगी। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी मेहनत जारी रखी। इस तरह उन्होंने साल 2000 में दूसरी बार UPSC एग्जाम दिया और सफलतापूर्वक एग्जाम क्रैक किया।


आईएएस अधिकारी स्मिता सभरवाल को अपने करियर में कई महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेदारी मिली है। वह चितूर में सब-कलेक्टर, कडप्पा रूरल डेवलपमेंट एजेंसी की प्रोजेक्ट डायरेक्टर समेत कई अहम पदों की जिम्मदारी संभाल चुकी हैं। उन्होंने जहां-जहां भी काम किया है, लोगों के बीच अपने काम को लेकर तारीफें बटोरी हैं। तेलंगाना में कई सारे सुधारों के लिए उनकी तारीफ की जाती है।