home page

दिल्ली की दो बहनों ने एक साथ क्रैक किया UPSC, हासिल की ये रैंक

UPSC Success Story : UPSC की परीक्षा को कठीन परिक्षाओं में से एक माना जाता है। यूपीएससी क्रैक करने के लिए कड़ी मेहनत और लगन से पढ़ाई करनी पड़ती है। साथ ही यह सिलसिला सालों साल चलता है। हाल ही में दिल्ली की दो बहनों ने एक साथ यूपीएससी क्रैक कर अपने पिता का नाम रोशन किया है। चलिए नीचे खबर में जानते हैं इनके बारे में....

 | 
दिल्ली की दो बहनों ने एक साथ क्रैक किया UPSC, हासिल की ये रैंक 

HR Breaking News (ब्यूरो)। संघ लोक सोवा आयोग कि सिविल सेवा परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है. इस परीक्षा को पास कर ऑफिसर का पद हासिल करना अपने आप में ही किसी तपस्या से कम नहीं है. इस परीक्षा को पास करने के लिए एक उम्मीदवार को कई-कई घंटों तक लगातार पढ़ाई करनी पड़ती है. साथ ही यह सिलसिला सालों साल चलता है. ऐसे में सिविल सेवा परीक्षा को पास कर ऑफिसर बने उम्मीदवार की सफलता भरी कहानी इस परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को प्रेरणा देती है।

ऑफिसर बन पूरा किया पिता का सपना


हर साल लाखों उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं, लेकिन इनमें से लगभग एक हजार उम्मीदवार ही इस परीक्षा को पास कर ऑफिसर का पद हासिल कर पाते हैं. आज हम आपको ऐसी ही दो उम्मीदवार या यूं कहें दो बहनों के बारे में बताएंगे, जिन्होंने एक साथ यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा को पास किया और ऑफिसर बन अपने पिता का सपना भी पूरा कर दिखाया।


दोनों बहनों ने एक साथ क्रैक की UPSC परीक्षा


दरअसल, हम बात कर रहे हैं दिल्ली की रहने वाली दो बहनें सिमरन और सृष्टि की, जिन्होंने साल 2020 में यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की थी. बता दें कि सिमरन बड़ी बहन है और उन्होंने अपने तीसरे प्रयास में यह परीक्षा पास की थी, जिसमें उन्होंने ऑल इंडिया 474वीं रैंक हासिल की थी. जबकि छोटी बहन सृष्टि को ऑल इंडिया 373वीं रैंक मिली थी और उन्होंने इस रैंक के साथ अपने पहले ही प्रयास में इस परीक्षा में सफलता हासिल कर ली थी।


इस तरह किया करती थीं पढ़ाई


बता दें कि बड़ी बहन सिमरन के पास इंजीनियरिंग और छोटी बहन सृष्टि के पास इकोनॉमिक्स की डिग्री है. लेकिन मल्टीनेशनल कंपनियों में नौकरी करने के बजाय दोनों बहनों ने अपने पिता नीरज कुमार के सपने को पूरा करने का फैसला किया और संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में जुट गईं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घर छोटा होने के कारण दोनों बहनें घर के पास वाली लाइब्रेरी में पढ़ती थीं. बता दें कि सिमरन और सृष्टि के पिता एक प्रॉपर्टी वर्कर के रूप में काम करते हैं, जबकि उनकी मां सुमन एक होम मेकर हैं।

ये है दोनों बहनों का सपना


सिमरन का सपना संयुक्त राष्ट्र (United Nation) में देश का प्रतिनिधित्व करना है. वहीं सृष्टि ने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से इकोनॉमिक्स ऑनर्स में एडमिशन लेने का फैसला किया था, जिसके बाद अपने देश के लिए कुछ कर सके इसलिए उन्होंने अंततः यूपीएससी की तैयारी करने का फैसला किया था।