home page

alcohol : हर रोज पीने वाले भी नहीं जानते शराब पीने का सही तरीका, एक्सपर्ट ने दी राय

Right way to drink Liquor : शराब पीने का शौंक रखने वाले इस अलग अलग तरीकों से पीना पसंद करते हैं। लेकिन ज्यादातर लोगों को शराब पीने का सही तरीका नहीं पता। कहा जाता है कि शराब (sharab) पीने से सेहत को नुकसान होता है। लेकिन अगर ऐस सही तरीके से पिया जाए तो काफी हद तक इसके नुकसान कम हो जाते हैं। चलिए नीचे खबर में विस्तार से जानते हैं शराब कब और कैसे पीनी चाहिए-   
 | 

HR Breaking News (ब्यूरो)। गम और खुशी...दोनों का साथी शराब। ऐसा लोग कहते हैं। आज हम इस आर्टिकल में शराब और हेल्थ पर उसके असर से जुड़े सवाल के जवाब तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। शराब पीने के शौकीन लोग इसे अलग-अलग स्टाइल में पीना पसंद करते हैं। 


कई लोग शराब को सोडा के साथ मिक्स करते हैं तो कुछ कोल्ड ड्रिंक के साथ पीना पसंद करते हैं।  इन सब के बीच कुछ ऐसे भी हैं लोग हैं जिन्हें शराब नॉर्मल पानी के साथ पीना (sharab peene ka sahi tarika)पसंद है। लेकिन हमारा मकसद यह जानना है कि इन तीनों में से कौन सा वाला कॉम्बिनेशन सबसे खतरनाक है? और इसका आपके हेल्थ पर क्या असर पड़ता है?


ज्यादातर लोग सोडा के साथ शराब मिलाकर पीना पसंद करते हैं। सोडा और आइस के साथ इसलिए भी कई लोग पसंद करते हैं क्योंकि सोडा में पाए जाने वाला कार्बन डाई ऑक्साइड अल्कॉहल की वजह से जो बुलबुला बनता है उससे खूबसूरत दिखाई देता है। 


सोडा में पाया जाने वाले कार्बन डाई ऑक्साइड शराब के जरिए जब हमारे खून में जाता है तो यह घुलकर नशे का फटाक से एहसास दिलाता है। ज्यादातर भारतीय शराब में सोडा मिलाकर ही पीते हैं। सोडा की बात तो हो गई लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि शराब को सोडा या कोक के साथ मिलाकर पीना शरीर के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

दुनिया के ज्यादातर देशों में ऐसे पी जाती है शराब


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया के ज्यादातर देशों में शराब नीट ही पी जाती है। विशेषज्ञ का मानना है कि शराब में किसी भी तरह के दूसरी तरह के फ्लेवर मिलाकर पीने से इसका स्वाद ही खराब हो जाता है। शराब की कड़वाहट को कम करने के लिए इंडियन अक्सर शराब में कोक, स्पराइट, जूस या सोडा मिलाकर पीते हैं। 


शराब के साथ सोडा 


सोडा में कार्बन डाई ऑक्साइड के साथ-साथ फास्फोरिक एडिड भी होता है। जो शरीर में मौजूद कैल्शियम को धीरे-धीरे खत्म करती है। बाद में यह कैल्शियम यूरीन के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है। जिसकी वजह से हड्डियां कमजोर होने लगती है। और यह टूट भी सकती है। 


शराब के साथ कोल्ड ड्रिंक 


सोडा के मुकाबले कोल्ड ड्रिंक में चीनी की मात्रा अधिक होती है। यह हमारे खून में शुगर लेवल को बढ़ाता है। शुगर की वजह से हमारा शरीर ज्यादा एल्कॉहल नहीं ऑब्जर्व कर पाता है। कोल्ड ड्रिंक में कैफीन की मात्रा में काफी अधिक होती है। एल्कॉहल लोगों को सुस्त बनाती है वहीं कैफीन सुस्ती को खत्म करके नींद भगाने का काम करती है। इस वजह सो शराब में कोल्ड ड्रिंक पीने वालों को डीहाईड्रेशन और हैंगओवर की दिक्कतें ज्यादा हो सकती है।


शराब के साथ पानी मिलाकर 


हमने कई जगह रिसर्च किए लेकिन ऐसा कोई निष्कर्ष नहीं निकला कि शराब में पानी मिलाकर पीने से कोई नुकसान तो नहीं दिखा लेकिन यह जरूर पढ़ा कि स्कॉच में पानी मिलाने से उसके स्वाद में बढ़ौतरी होती हैं। साथ ही शराब का स्वाद भी बढ़ जाता है। इसलिए बहुत सारे लोग शराब में पानी मिलाकर पीते हैं। स्कॉच में पानी मिलाने से व्हिस्की के फ्लेवर कम्पाउंडस बूस्ट हो जाते हैं।