home page

Garuda Purana: ऐसी महिलाएं पुरूष के भाग्य के खोल देती द्वार, गरुड़ पुराण में बताए गए हैं स्त्रियों के ये 4 गुण

Garuda Purana: गरुड़ पुराण के मुताबिक ऐसी महिलाएं पति और ससुराल दोने के लिए बेहद भाग्यशाली मानी जाती हैं. इसके विपरीत अगर स्त्री गुणी न हो तो घर को नरक बनते देर नहीं लगती. वहीं अगर पति आदर्श न हो तो जीवन को नरक बनते देर नहीं लगती. आइए जानते हैं इनके बारे में...
 | 

HR Breaking News (नई दिल्ली)। Lord Vishnu Niti in Hindi: हिंदू धर्म में औरत को लक्ष्मी का रूप माना गया है इसलिए ऐसी मान्यता है कि एक स्त्री अपने अच्छे गुणों से शादी के बाद घर की किस्मत को बदल देती है. इसलिए घर के बड़े बुजुर्ग अपने बेटे के लिए सर्वगुण संपन्न बहु की चाह रखते हैं. 

हिंदू धर्म में एक आदर्श पत्नी के महत्व को बेहद जोर दिया गया है. इसलिए गरुड़ पुराण में आदर्श और गुणी पत्नी की व्याख्या की गई है. गरुड़ पुराण के अनुसार जिन स्त्रियों में ये गुण पाए जाते हैं वो सौभाग्य का सूचक होती हैं जिससे घर-परिवार में खुशहाली बनी रहती है. चलिए आज हम आपको गरुड़ पुराण के मुताबिक भाग्यशाली पत्नी के गुणों के बारे में बताएंगे. 


भाग्यशाली होती हैं ऐसे गुणों वाली पत्नी -

1. ऐसी मान्यता है कि साफ-सुथरे घर में मां लक्ष्मी का वास होता है जिससे घर में बरकरत रहती है. इसलिए जो महिला घर को साफ-सुथरा बनाए रखती है वो परिवार के लिए भाग्यशाली होती है.
2. जो स्त्री घर आए मेहमानों और रिश्तेदारों का मान-सम्मान करती है वो गुणवान कहलाती है. औरत के इस गुण से ससुराल के मान सम्मान में बढ़ोत्तरी होती है.

3. ऐसी स्त्री बेहद गुणवान होती है. जो औरत कम संसाधनों में भी घर को अच्छी तरह से चलाती है. इससे घर में कलह-क्लेश नहीं होते और सुख-शांति बनी रहती है.

4. वो औरत सुलक्षणा कहलाती है जो अपने पति की सही बातों को मानती है और उनका मान रखती हैं. ऐसी स्त्री पति से प्रेम धनवान रहती है जिससे वैवाहिक जीवन सुखमय बना रहता है.