home page

CM yogi : लखनऊ में शामिल होंगे 6 ज़िले, NCR की तर्ज़ पर बनेगा एक और शहर

Yogi Adityanath : UP में विकास काफी तेज़ी से हो रहा है और व्यवस्था को और भी सटीक बनाने के लिए लखनऊ में 6 और ज़िलों को शामिल किया जा रहा है और NCR की तर्ज पर एक और शहर बसाने की तयारी चल रही है 

 | 
लखनऊ में शामिल होंगे 6 ज़िले, NCR की तर्ज़ पर बनेगा एक और शहर 

HR Breaking News, New Delhi : जिस तरह देश की राजधानी दिल्ली से सटे विभिन्न राज्यों के शहरों को मिलाकर एनसीआर विकसित किया गया है, उसी तर्ज पर अब यूपी में भी योजना बन रही है. यूपी की योगी सरकार लखनऊ और आसपास के जिलों को मिलाकर एससीआर यानी स्टेट कैपिटल रिजन (SCR) विकसित करने के प्लान पर काम कर रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते शुक्रवार को आवास एवं शहरी नियोजन विभाग की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने स्टेट कैपिटल रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (एससीआरडीए) के जल्द से जल्द गठन के निर्देश दिए. बैठक में मौजूद अधिकारियों को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि तीन महीने के अंदर एससीआरडीए की कार्ययोजना प्रस्तुत करें.

Noida news : बेटी की शादी के लिए खरीदा 53 लाख का सोना, सब निकला नकली, फिर सुनार को ऐसे सिखाया सबक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एससीआरडीए में लखनऊ, उन्नाव, हरदोई, रायबरेली, सीतापुर और बाराबंकी को शामिल करें. साथ ही राजधानी लखनऊ को एससीआरडीए का मुख्यालय बनाएं और नागरिकों की सुविधा के लिए बाकी जनपदों में रीजनल ऑफिस खोलें. बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी की निगरानी में एससीआरडीए का प्लान तैयार किया जाए.

आपको बता दें कि झांसी औद्योगिक विकास प्राधिकरण के बाद एससीआरडीए प्रदेश में नियोजित शहरी विकास का मॉडल होगा. मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अगले 100 साल की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए शहरी विकास की योजना बनाएं. उन्होंने जोर देते हुए कहा कि शहरी विकास की जो भी योजनाएं तैयार हों, उनका आधार निवेश और रोजगार होना चाहिए.

Noida news : बेटी की शादी के लिए खरीदा 53 लाख का सोना, सब निकला नकली, फिर सुनार को ऐसे सिखाया सबक

सीएम योगी ने कहा कि अमृत योजना के अंतर्गत 59 शहरों के लिए तैयार किया जा रहा मास्टर प्लान शासन के पास 30 सितंबर तक भेज दें. उन्होंने कहा कि शामली, बड़ौत, चंदौसी, गोंडा, एवं अमरोहा में पहली बार मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है, इसमें तेजी लाएं. साथ ही लोनी और मोदीनगर को गाजियाबाद में इंट्रीग्रेटेड करते हुए एक मास्टर प्लान बनाएं. मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां पर मास्टर प्लान का नक्शा पास हो गया है, अगर वहां कोई बिल्डर नियमों का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें.