home page

UP News : यूपी के बिजली उपभोक्तओं के लिए बड़ा अपडेट, इस जिले में 13 लाख घरों में लगेंगे प्री-पेड मीटर

UP News : यूपी के बिजली उपभोक्तओं के लिए जरूरी बड़ा अपडेट। हाल ही में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक आपको बता दें कि 13 लाख 46 हजार बिजली उपभाेक्ताओं के घर व दुकान पर प्री-पेड मीटर लगाए जाएंगे। इसके लिए विभाग कार्रवाई कर रहा है। बता दें कि इससे साथ बिजली चोरी पर लगाम लगेगा।

 | 
UP News : यूपी के बिजली उपभोक्तओं के लिए बड़ा अपडेट, इस जिले में 13 लाख घरों में लगेंगे प्री-पेड मीटर

HR Breaking News, Digital Desk-  पावर कारपोरेशन देवीपाटन मंडल के 13 लाख 46 हजार बिजली उपभाेक्ताओं के घर व दुकान पर प्री-पेड मीटर लगाएगा। इसके लिए विभाग कार्रवाई कर रहा है। प्री-पेड मीटर से बकायेदारी के साथ बिजली चोरी पर लगाम लगेगा।

देवीपाटन मंडल के बिजली उपभोक्ताओं पर लगभग 1400 करोड़ रुपये की बकायेदारी है। माना जा रहा है कि जुलाई से से प्री-पेड मीटर लगने शुरू हो जाएंगे। इसके बाद उपभोक्ता जितने रुपये का रिचार्ज करेंगे उन्हें उतनी ही बिजली मिलेगी। दूसरी ओर प्री-पेड मीटर लगने के बाद उपभोक्ता अधिक लोड की बिजली का उपभोग भी नहीं कर सकेंगे।

बिजली बिल जमा करने की समस्या से मिलेगी निजात-

उपभोक्ताओं को बिजली बिल जमा करने की समस्या से भी निजात मिलेगी। प्री-पेड मीटर लगने के बाद उपभोक्ता जितने रुपये का रिचार्ज करेंगे उन्हें उतनी ही बिजली मिलेगी। इतना ही नहीं उपभोक्ताओं का जितने किलोवाट का बिजली कनेक्शन होगा यदि उससे अधिक का बिजली उपभोग किया तो उसकी आपूर्ति स्वत: बंद हो जाएगी।

प्री-पेड मीटर लगने से न तो मीटर रीडिंग का झंझट होगा और न ही बिल जमा कराने का झाम। प्री-पेड मीटर से मोबाइल रिचार्ज की तरह बिजली की आपूर्ति होगी। रिचार्ज के रुपये खत्म होते ही बिजली बंद हो जाएगी। इसके बाद दोबारा रिचार्ज करने पर ही बिजली जलेगी इससे बढ़ते बकाया पर अंकुश लगेगा। बिजली चोरी पर भी लगाम लगेगा।

बिजली उपभोक्ताओं की संख्या पर एक नजर-

गोंडा - 460492

बहराइच - 452235

श्रावस्ती - 290140

बलरामपुर- 1430100

जल्द प्रारंभ होगी कार्रवाई-

देवीपाटन मंडल के चारों जिलों के बिजली उपभोक्ताओं के यहां प्री-पेड मीटर लगाने के लिए कार्रवाई चल रही है। पहले नगरीय क्षेत्र के उपभोक्ताओं के यहां प्री-पेड मीटर लगाने की कार्रवाई शुरू होगी। प्री-पेड मीटर लगने से बिजली चाेरी, बकाया जैसी समस्या से निजात मिलेगा। मीटर रीडिंग को लेकर आने वाली शिकायतें भी खत्म होगी।