home page

Delhi NCR Metro : 8399 करोड़ की लागत से दिल्ली में यहां बिछाई जाएगी नई मेट्रो लाइन, बनेंगे 8 स्टेशन, 2026 तक पूरा होगा काम

Holi Metro Corridor: मेट्रो का ऑफर और भी ज्यादा आसान होने वाला है। जल्द ही दिल्‍ली के लोगों को दो नए मेट्रो कॉरिडोर मिलेंगे। हरियाणा के बहादुरगढ़ और इसके आसपास के लोगों को भी फायदा होगा।आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से.

 | 
Delhi NCR Metro : 8399 करोड़ की लागत से दिल्ली में यहां बिछाई जाएगी नई मेट्रो लाइन, बनेंगे 8 स्टेशन, 2026 तक पूरा होगा काम

HR Breaking News (नई दिल्ली)। अगर आप रोजाना मेट्रो से सफर करते हैं, तो आपके लिए मेट्रो का सफर और आसान होने वाला है। बहुत जल्द दिल्‍ली के लोगों को दो नए मेट्रो कॉरिडोर मिलेंगे। कैबिनेट की तरफ से जिस कॉरिडोर पर काम को मंजूरी मिली है, उनमें लाजपत नगर से साकेत जी-ब्लॉक और इंद्रलोक से इंद्रप्रस्थ कॉरिडोर शामिल हैं। इससे आने वाले समय में मेट्रो कनेक्टिविटी में इजाफा तो होगा ही साथ ही दिल्ली के लोग जरूरत के हिसाब से दोनों कॉरिडोर का फायदा सफर को बेहतर बनाने के लिए ले पाएंगे।

 

 

इस प्रोजेक्‍ट का कुल बजट 8399 करोड़ रुपए है। ये नए मार्ग मार्च 2029 तक पूरा होने वाले हैं। बताया जा रहा है कि मेट्रो कॉरिडोर बनने से न सिर्फ दिल्ली के लोगों को बल्कि हरियाणा के बहादुरगढ़ और इसके आसपास के लोगों को भी बहुत फायदा होगा। तो आइए जानते हैं इन दो नए कोरिडोर के बारे में।


बनेंगे 8 स्‍टेशन


8.4 किमी में फैला लाजपत नगर से साकेत जी ब्लॉक आठ स्टेशनों की मेजबानी करेगा। कॉरिडोर पूरी तरह से एलिवेटेड होगा। इंद्रलोक-इंद्रप्रस्थ लाइन हरियाणा के बहादुरगढ़ क्षेत्र को बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। जिससे यात्रियों को इंद्रप्रस्थ के साथ-साथ विभिन्न मध्य और पूर्वी दिल्ली डेस्टिनेशन तक सीधी पहुंच के लिए ग्रीन लाइन पर चढ़ने में मदद मिलेगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 12.4 किलोमीटर लंबे इंद्रलोक से इंद्रप्रस्थ रूट पर 10 स्टेशन होंगे।


बनेंगे इंटरचेंज स्‍टेशन भी


इसके अलावा, इंद्रलोक, नबी करीम, नई दिल्ली, दिल्ली गेट, इंद्रप्रस्थ, लाजपत नगर, चिराग दिल्ली और साकेत जी ब्लॉक में आठ नए इंटरचेंज स्टेशन भी बनेंगे। इससे दिल्ली मेट्रो नेटवर्क की सभी परिचालन लाइनों के बीच इंटर-कनेक्टिविटी में सुधार हो सकेगा।

2026 तक चरणों में पूरा होगा काम


कोरिडोर का काम मार्च 2026 तक चरणों में पूरा होने की उम्मीद है। दोनों कॉरिडोर पर काम पूरा होने के बाद दिल्‍ली के 2.5 लाख नए यात्रियों को मेट्रो नेटवर्क से जुड़ने का मौका मिलेगा। बता दें कि वर्तमान में दिल्ली में कुल 65-70 लाख लोग मेट्रो से यात्रा करते हैं।