home page

क्या जमीन पर 100 साल तक कब्जा करने से उस पर हो जाता अधिकार, Calcutta High Court ने किया क्लियर

Illegal occupation of property - लोग प्रॉपर्टी या जमीन खरीदने के लिए अपने जीवनभर की कमाई लगा देते हैं। लेकिन कई बार देखा गया है कि प्रॉपर्टी पर अवैध कब्जा हो जाता है जिसके बाद लोग परेशान हो जाते हैं। हाल ही में एक ऐसे ही मामले पर सुनवाई करते हुए कोलकत्ता हाई कोर्ट ने इस बात को क्लियर कर दिया है कि 100 साल तक जमीन पर अवैध कब्जा रखने से मालिकाना हक मिल जाता है या नहीं। आइए नीचे खबर में जानते हैं - 

 | 

HR Breaking News (ब्यूरो)। कलकत्ता हाई कोर्ट (Calcutta High Court) ने कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट की जमीन पर अवैध कब्जे से जुड़े एक मामले में कहा कि किसी जमीन पर 100 साल तक अवैध तरीके से कब्जा करके रखने से उसपर अधिकार नहीं हो जाता।
मामला कोलकाता के माजेरहाट इलाके में कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट की जमीन पर अवैध कब्जे (illegal occupation of land) से जुड़ा है। इसे लेकर हाई कोर्ट में मामला दायर किया गया था। न्यायाधीश अमृता सिन्हा की एकल पीठ ने उक्त जमीन से अवैध निर्माण को हटाने का निर्देश दिया था।


पुलिस को स्थानीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा


पुलिस जब अवैध निर्माण हटाने पहुंची थी, तब उसे स्थानीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा था। अवैध निर्माण से जुड़े लोगों ने एकल पीठ के फैसले को खंडपीठ में चुनौती देते हुए कहा था कि वर्षों से वहां पर निर्माण है।

जमीन पर 100 साल तक कब्जा करने से उसपर अधिकार नहीं होता


इसपर मुख्य न्यायाधीश टीएस शिवगणनम व न्यायाधीश हिरणमय भट्टाचार्य की खंडपीठ ने क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा कि किसी जमीन पर 100 साल तक कब्जा करके रखने से उसपर अधिकार नहीं हो जाता। खंडपीठ ने इस मामले में राज्य सरकार व कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट को हलफनामा दाखिल करने को कहा है।