home page

Electricity meter : बिजली मीटर से छेड़छाड़ करने वालों की अब खैर नहीं, MD अधिकारियों ने दिए ये सख्त निर्देश

UP Electricity theft update: यूपी के बिजली उपभोक्ताओं के लिए एक बड़ा अपडेट सामने आया है। बता दें, प्रदेश में बिजली चोरी के मामले आजकल कोई नई बात नहीं है। अक्सर ऐसा देखा जाता है की बिजली चोरी (electricity theft) करने वाले रोज तरह-तरह के नए तरीके ढूंढते रहते हैं। इन्ही में से एक है बिजली मीटर से छेड़छाड़ लेकिन अब बिजली विभाग ने ऐसे मामलो पर सकती दिखाई है। एमडी के (UP Electricity department) अनुसार ऐसा करने वालो वालों को अब बख्शा नहीं जाएगा।
 | 
Electricity meter : बिजली मीटर से छेड़छाड़ करने वालों की अब खैर नहीं, MD अधिकारियों ने दिए ये सख्त निर्देश

HR Breaking News (ब्यूरो) | बिजली मीटरों से छेड़छाड़ के मामले कोई नई बात नहीं है, इसको लेकर समय-समय पर जांच में टैंपर्ड मीटर के केस भी मिले और कार्रवाई भी हुई। मुरादाबाद में भी टैंपर्ड मीटर (electricity meter) को लेकर पूर्व में कार्रवाई हुई हैं। अमरोहा में दो दिन पूर्व एक उपभोक्ता की शिकायत पर बिजली मीटर में छेड़छाड़ की पुष्टि होने पर आरोपी मीटर रीडर और सुपरवाइजर की सेवा समाप्त कर दी गई, वहीं बिलिंग एजेंसी से भी जवाब मांगा (Electricity meter reading) गया है। टैंपर्ड मीटर के मामलों पर एमडी पश्चिमांचल ने नाराजगी जताते हुए पश्चिमांचल के सभी जिलों के मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता और अधिशासी अभियंताओं (electricity department) को ऐसे मामलों की जांच कराकर गड़बड़ी मिलने पर कार्रवाई के निर्देश दिए।

 

SBI, ICICI Bank, Axis Bank और PNB बैंक ने करोड़ों ग्राहकों के लिए जारी किया अलर्ट

 

होगी आवश्यक कार्रवाई

कोई दिन जाता होगा जब किसी न किसी डिवीजन में बिजली चोरी के मामले न मिलते हो। इन केसों के मिलने पर कार्रवाई भी लगातार होती हैं। तार में कट लगाकर, तार को मीटर से बाईपास करने सरीखे तरीकों से बिजली चोरी (bijli chori case) की जाती है। इनके साथ ही बिजली मीटर से छेड़छाड़ के भी केस आए दिन किसी न किसी इलाके में चेकिंग में मिल जाते हैं। मीटर टैंपर्ड मिलने पर एक्सईएन मीटर (electricity consumers)  के एई मौके पर पहुंचकर उपभोक्ता के सामने मीटर की रिपोर्ट तैयार करते हैं। मीटर टैंपर्ड की पुष्टि पर रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को देने के (tempered meter) बाद आवश्यक कार्रवाई भी होती है।

 

Car Tyre Air Pressure Tips : गर्मियों में गाड़ी के टायर में कितनी होनी चाहिए हवा, वाहन चालक जान लें ये जरूरी बात

 

चोरी के केसों पर लगाम 

इधर, दो दिन पूर्व जिला अमरोहा में उपभोक्ता असलम अली का कामर्शियल मीटर बिना विभागीय स्वीकृति के बदल दिया गया। उतारे गए मीटर की जब लैब में टेस्टिंग हुई, तो साफ हुआ कि मीटर से छेड़छाड़ (bijli chori cases) करके विभाग को राजस्व की हानि पहुंचाई गई। इसके बाद अफसरों की रिपोर्ट पर मीटर रीडर अंकुर, अजयपाल और सुपरवाइजर नरवेंद्र कुमार को सेवामुक्त कर दिया गया। इस कार्रवाई के बाद एमडी पश्चिमांचल ईशा दुहन ने 14 जिलों में निर्बाध बिजली के साथ (electricity department) चोरी के केसों पर लगाम लगाते हुए आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए।

SBI, ICICI Bank, Axis Bank और PNB बैंक ने करोड़ों ग्राहकों के लिए जारी किया अलर्ट

इसके साथ ही टैंपर्ड मीटर के केसों में भी सख्ती के साथ कार्रवाई और आरोपियों को आउट करने की कार्रवाई को कहा। एमडी (MD) के निर्देश के बाद से डिवीजन के मीटर रीडरों में खलबली मच गई है। एक्सईएन मीटर प्रेमपाल सिंह के अनुसार पिछले चार महीनों में कुछ टैंपर्ड केस मिले हैं। इनके खिलाफ आवश्यक (tempered meter case) कार्रवाई करते हुए उच्चाधिकारियों को संबंधित केस के बारे में अवगत करा दिया गया है।