home page

Illegal Possession : थर थर कांपेगा आपकी जमीन पर कब्जा करने वाला, तुरंत कर लें ये काम

Property Rights - जमीन, दुकान या मकान पर अवैध कब्जा होना कोई नई बात नहीं है। आए दिन ऐसे मामले सामने आते रहते हैं। लोग स्थाई इनकम पाने के लिए जमीन, दुकान या मकान को किराए पर चढ़ा देते हैं और फिर लंबे समय तक सुध नहीं लेते। जिसके चलते किराएदार कब्जा जमा लेता है। आपकी जमीन पर कब्जा हो गया है तो ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है। अगर आप प्रॉपर्टी से जुड़े इन कानूनी नियमों के बारे में जानते हैं तो आसानी से कब्जादारी से अपनी जमीन खाली करवा सकते हैं चलिए जानते हैं - 

 | 

HR Breaking News (ब्यूरो)। लोग अक्सर जमीन या फिर अपना घर खरीदने के लिए अपनी जिंदगीभर की कमाई लगा देते हैं, लेकिन कई बार देखा गया है कि जमीन पर अवैध कब्जा (illegal occupation of land) हो जाता है, जिससे लोग काफी परेशान होते हैं और उन्हें समझ नहीं आता है कि आखिर वो क्या करें।


इस तरह के मामले पिछले कुछ सालों में काफी ज्यादा बढ़े हैं और कई मामले आज तक कोर्ट में लंबित हैं. अगर आपके किसी दोस्त या रिश्तेदार के साथ भी ऐसा होता है तो आपको उन्हें कुछ चीजें बतानी चाहिए. आज हम आपको बता रहे हैं कि जमीन पर कब्जा होने की स्थिति में क्या करना चाहिए।

प्रॉपर्टी मालिक के पास होते हैं ये अधिकार - 


किसी भी संपत्ति के मालिक के पास ये अधिकार है कि वो अपनी संपत्ति पर किए गए कब्जे के खिलाफ अपील करे. इसके लिए कानून में अलग से व्यवस्था की गई है, जिसमें आप अपनी जमीन को कब्जे (land possession rule) से छुड़वा सकते हैं और अपनी मेहनत की कमाई को लुटने से बचा सकते हैं. 

इन धाराओं के तहत दर्ज होता है मामला-


अगर कोई जमीन पर कब्जा कर लेता है तो उसके खिलाफ सबसे पहले पुलिस थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराएं, सभी लोगों को ऐसे मामलों में एफआईआर (FIR) कराने का अधिकार है. आईपीसी (IPC) की धारा 420 के तहत ऐसे मामलों में केस दर्ज किया जाता है. 
अब अगर किसी ने आपकी जमीन या फिर संपत्ति के फर्जी दस्तावेज (fake property documents) बनाए हैं तो ये भी कानून की नजर में गुनाह है. ऐसे शख्स के खिलाफ भी आप धारा 467 के तहत केस दर्ज करा सकते हैं. कोई आपकी जमीन को बेच देता है तो उसके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जा सकती है. 

कोर्ट में देने होंगे ये दस्तावेज - 

ऐसे मामलों में अगर पुलिस आपकी मदद नहीं कर रही है तो आप कोर्ट में भी जा सकते हैं. आपको कोर्ट में सभी दस्तावेज देने होंगे और आरोपी के खिलाफ शिकायत करनी होगी. कोर्ट में इस बात की जांच की जाएगी कि आप ही संपत्ति के असली (Property Rights ) मालिक हैं या नहीं... इसके बाद सब ठीक पाया गया तो फैसला आपके हक में आ सकता है. ऐसा करने वाले को जेल की सजा हो सकती है और जुर्माना भी लगाया जा सकता है.