home page

My Story : मैंने योगा क्लास में ट्रेनर के साथ बनाए संबंध, अब हो रहा पछतावा

पति-पत्नी का ऐसा रिश्ता होता है जिसमें प्यार और विश्वास दोनों की कही जरूरत होती हैं। इन दोनों में से अगर एक चीज न हो तो रिश्त को निभा पाना मुश्किल हो जाता है। ऐसा ही कुछ मेरे साथ हुआ। पति से मुझे वो प्यार नहीं मिला जो शादी के बाद मिलना चाहिए था। इसलिए मैं योगा ट्रेनर के करीब आ गई। अब आप ही बाताओं क्या ये मैंने गलत किया। 

 | 

HR Breaking News (नई दिल्ली)। शादी एक ऐसा रिश्ता है, जिसमें पति-पत्नी का मन न मिलें, तो सब कुछ बेकार हो जाता है। एक उबाऊ शादी में न केवल चुप्पी अपनी जगह बना लेती है बल्कि वहां नफरत के अलावा कुछ नहीं होता है। मेरी शादीशुदा जिंदगी भी बिल्कुल ऐसी ही है। हम दोनों के बिजी रूटीन की वजह हमारे बीच रोजमर्रा के झगड़े इतने ज्यादा बढ़ गए कि हम दोनों ही एक-दूसरे से अलग होने लगे। हमारे वैवाहिक जीवन में बहस के अलावा अब कुछ भी नहीं बचा है। हम दोनों घर वापस आते हैं और बस बिस्तर पर लेट जाते हैं।

ये भी पढ़ें : UP में बड़ा शहर बसाने का प्लान, 8 जिले होंगे शामिल

ऐसा इसलिए क्योंकि एक तो हम ज्यादातर समय थके हुए रहते हैं। वहीं दूसरा हमारे मन में एक-दूसरे के लिए कोई प्यार भी नहीं रह गया है। हम दोनों अपने बीच की नकारात्मक ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित करने में लगे हुए हैं। मुझे याद भी नहीं है कि हमने कब एक-दूसरे को आखिरी बार छुआ था। हम दोनों संबंध नहीं बनाते हैं। हम केवल खुशी के मौके पर ही एक-दूसरे को किस करते हैं। भले ही हम सबसे खुशहाल परिवार में से हैं। हमारे बच्चे हमारी पहली प्राथमिकता हैं, लेकिन फिर भी हमें एक-दूसरे से बिल्कुल प्यार नहीं है। कहना गलत नहीं होगा कि हम दोनों ही इस शादी से नाखुश हैं। 

मैंने खुद पर ध्यान देना शुरू कर दिया

हमारे रिश्ते की सबसे बुरी बात यह है कि हम में से किसी ने भी इसे ठीक करने की कभी कोशिश नहीं की। हम बस झगड़ा करते हैं। लड़ाई करते हैं। हमारे बारे में किसी को पता न चले तो हम एक साथ रात का खाना खाते हैं। मैं वास्तव में खुद से भी खुश नहीं थी। मैं अपने दिखने के तरीके से नफरत करती थी। ऐसा इसलिए क्योंकि घर-गृहस्थी के चक्कर में मैंने अपना आत्मविश्वास खो दिया था। मैं इसे फिर से हासिल करना चाहती थी। मैं जीवन के हर मुकाम पर अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहती रही। मैं सबसे बेहतर लगना चाहती थी।

इसलिए मैंने अपने घर के पास में चल रहीं योग क्लासेस में शामिल होने का मन बना लिया था। मैंने नियमित रूप से एक दिनचर्या का पालन किया ताकि मैं कोई बहाना न बना सकूं। मैंने अपनी योग कक्षाएं शुरू की। कुछ ही दिनों में मेरे आत्मविश्वास के साथ-साथ मेरा शरीर भी अधिक सक्रिय और लचीला होने लगा था। मैं मानती हूं कि योग क्लासेस काफी ज्यादा कठिन थीं। लेकिन हर दिन के अंत में मैं खुद को बहुत ज्यादा अच्छा महसूस कर रही थी। मुझे योग क्लासेस में जाना अच्छा लगने लगा था। खैर, इसका एक कारण मेरा योगा ट्रेनर भी था।

उसने जब मेरी कमर पर हाथ रखा

वह वास्तव में बहुत ज्यादा सुंदर था। उसका शरीर भी काफी फिट था। यही एक वजह भी है कि जब उसने हमें योग मुद्राएं सिखाईं, तो उसकी मांसपेशियां जिस तरह से मुड़ी थीं, वह एकदम अद्भुत था। वह हर चीज इतनी सहजता से सिखाता था कि उसे नापसंद करने का कोई सवाल ही नहीं था। इसका एक कारण यह भी है कि उसकी स्माइल बहुत प्यारी थी। मुझे यकीन है कि उसने मुझे एक-दो बार घूरते हुए भी पकड़ा था।

मेरे मन में तो उसके लिए बहुत कुछ चल ही था लेकिन एक दिन अचानक से उसने मेरी योग मुद्राओं में मदद करनी शुरू कर दी। उसने जब मुझे संतुलित करने के लिए अपना हाथ मेरी कमर पर रखा, तो मैं उसके स्पर्श को महसूस कर सकती थी। ऐसा इसलिए क्योंकि जिस महिला ने महीनों से सेक्स नहीं किया हो, उसके लिए यह कामुक होना बहुत ही लाजमी था।

हम एक-दूसरे के करीब आ गए

यह शनिवार की बात है, जब पूरी क्लास लगभग जा चुकी थी। मैं इस दौरान थोड़ा रूक गई थी। ऐसा इसलिए क्योंकि मैं उससे बात करने के अवसर तलाश रही थी। मैंने उससे अपनी लाइफस्टाइल के बारे में बात करने की कोशिश की ताकि हम दोनों ज्यादा देर तक बात कर सकें। लेकिन उसकी भेदी चमक ने मुझे कुछ और ही समझने पर मजबूर कर दिया। उसने मुझे इस तरह से देखा कि हमने एक-दूसरे को चूम लिया। मैं सदमे में थी, लेकिन इसके बाद भी मैंने उसे किस करना जारी रखा।

हमारे होंठ जोश से भर गए थे। तभी मेरा ट्रेनर मुझे अपने ड्रेसिंग रूम में ले गया। वहां हम दोनों के अलावा कोई नहीं था। हमने एक-दूसरे को किस करना जारी रखा। उसके हाथ मेरे पूरे शरीर पर घूमने लगे। मैं मन ही मन खुशी से मर रही थी। इसके बाद हम दोनों ने संबंध बना लिए।

हां, मैंने अपने पति को धोखा दिया

ये भी पढ़ें : RBI Guidelines : 500 और 1000 के नोटों को लेकर RBI ने दी बड़ी जानकारी


मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि इतनी लगन से प्यार किया जाना कितना मजेदार होता है। अद्भुत सेक्स के बाद हम दोनों ही अपने-अपने घर लौट गए। हां, मैं मानती हूं कि मैनें अपने पति को धोखा दिया, लेकिन मुझे इसमें कुछ भी गलत नहीं लगा। 17 साल की हमारी शादी में प्यार बिल्कुल भी नहीं था।यही एक वजह भी है कि मैंने अपने पति को कुछ भी नहीं बताने का फैसला किया। ऐसा इसलिए भी क्योंकि मैं किसी को भी जोखिम में नहीं डालना चाहती थी। लेकिन मैं आपसे छिपाना नहीं चाहती मैंने अपने ट्रेनर के साथ संबंध बनाना जारी रखा। मैं उसे खोना नहीं चाहती हूं क्योंकि मुझे उसके साथ अच्छा लगता है।