home page

RBI Cash Deposit Limit : बैंक खाते में 30 हजार से ज्यादा कैश जमा कराने पर अकाउंट हो जाएगा बंद, जानिये सच्चाई

RBI Cash Deposit Rule - 500 और 1000 के नोट बंद होने और अब 2000 के नोटों के चलन से बाहर होने के बाद कैश डिपॉजिट, बैंक अकाउंट और दूसरे बैंकिंग नियमों को लेकर लोगों को एक आशंका और उत्सुकता सी हो गई है कि कहीं उनके लिए अचानक से कोई नियम न बदल जाए। ऐसे में कहीं खबर दिख जाए कि आपका बैंक खाते (Bank Account) इस फलां-फलां कारण से बंद हो सकता है, तो जाहिर है कि लोगों में पैनिक बढ़ेगा।  दरअसल, सोशल मीडिया पर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि अगर बैंक खाताधारकों ने एक बार में खाते में 30 हजार रुपये से ज्यादा कैश जमा कराया तो आपका बैंक अकाउंट बंद (bank account closed) हो जाएगा। आइए नीचे खबर में जानते हैं क्या है इसकी पूरी सच्चाई...  

 | 
RBI Cash Deposit Limit : बैंक खाते में 30 हजार से ज्यादा कैश जमा कराने पर अकाउंट हो जाएगा बंद

HR Breaking News (ब्यूरो)। बताया जा रहा है कि एक मैसेज वायरल हो रहा है. इसमें दावा किया जा रहा है कि रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने घोषणा की है कि अगर आप अपने खाते में एक बार में तीस हजार कैश जमा करते हैं या आपके खाते में 30 हजार रुपये हैं तो आपका खाता बंद हो जाएगा।

 

बैंक खाते में मिनिमम बैलेंस को लेकर RBI ने बनाए नए नियम, 1 तारीख से हो जाएंगे लागू

 

 

RBI Cash Deposit Rule: रिजर्व बैंक के गवर्नर के नाम से वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि बैंक बैलेंस को लेकर नए नियमों की घोषणा की है. हालांकि, ये मैसेज पूरी तरह से फर्जी है. शीर्ष बैंक के द्वारा इस तरह की कोई घोषणा नहीं की गयी है।

 

 


RBI Cash Deposit Rule: नकद जमा करने को लेकर किये जा रहे दावें को लेकर PIB Fact Check ने पड़ताल की है. इसके साथ ही, सोशल मीडिया पर बताया है कि वायरल मैसेज में किया जा रहा दावा पूरी तरह से फर्जी है।

 

PIB Fact Check ने सोशल मीडिया ने लिखा है कि भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर ने बैंक खातों को लेकर अहम ऐलान किया है कि अगर किसी खाताधारक के खाते में 30 हजार रुपये से ज्यादा है तो उसका खाता बंद कर दिया जाएगा. यह खबर फर्जी है. आरबीआई (RBI) ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है।

UP News : यूपी सरकार का बड़ा फैसला, अब प्रोपर्टी नाम कराने के लगेगे इतने रुपये


PIB Fact Check से आप भी किसी वायरल मैसेज की पड़ताल करा सकते हैं. इसके लिए आपको factcheck.pib.gov.in पर मैसेज करना होता है. इसके अलावा आप 8799711259 पर WhatsApp संदेश भी भेज सकते हैं. pibfactcheck@gmail.com पर ई-मेल भेजकर मामले के बारे में पूरी जानकारी ले सकते हैं. इसके साथ ही, आप सोशल मीडिया के माध्यम से भी वायरल मैसेज की जानकारी ले सकते हैं।

सेविंग अकाउंट में पैसा जमा कराने की क्या है लिमिट

सेविंग अकाउंट यानि कि बचत खाते (saving account) के माध्यम से बैंक एक व्‍यक्ति को अपनी जरूरतों के अनुसार पैसा रखने की सुविधा प्रदान करते हैं. भारत देश में सेविंग अकाउंट खुलवाने की कोई लिमिट नहीं है. एक व्‍यक्ति कितने भी बचत खाते खुलवा सकता है. सबसे खास बात यह है कि भारत में सेविंग अकाउंट में पैसे जमा कराने की भी कोई लिमिट नहीं है. मतलब, आप सेविंग अकाउंट में चाहें जितना पैसा जमा कर सकते हैं. हां, जीरो बैलेंस खाते को छोड़कर अन्‍य सभी सेविंग बैंक अकाउंट्स में मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य होता है. बैंक द्वारा निर्धारित राशि से कम पैसे अकाउंट में रखने पर बैंक शुल्‍क लेता है.

एक‍ रिपोर्ट के अनुसार टैक्‍स और निवेश सलाहकार बलवंत जैन का कहना है कि बचत खाते में कोई भारतीय कितना भी पैसा रख सकता है. सेविंग अकाउंट में पैसा जमा कराने पर आयकर कानून या बैंकिंग रेगुलेशन्‍स (Income tax law or banking regulations) में कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है. यही नहीं, बैंक में पैसा जमा कराने पर बैंक किसी तरह का कोई शुल्‍क नहीं लेता, बल्कि जमाकर्ता को ब्‍याज देता है.


ग्राहको को ब्‍याज पर देना होता है टैक्स


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बैंक के सेविंग अकाउंट में रखी राशि पर जो ब्‍याज बनता है, उस पर बैंक अकाउंट होल्‍डर को टैक्‍स देना होता है. बैंक 10 फीसदी टीडीएस ब्‍याज पर काटता है. बलवंत जैन का कहना है कि ब्‍याज पर टैक्‍स चुकाना होता है लेकिन, इस पर भी टैक्‍स कटौती का लाभ लिया जा सकता है. आयकर अधिनियम की धारा 80 टीटीए के अनुसार सभी व्‍यक्ति 10 हजार तक की टैक्‍स छूट प्राप्‍त कर सकते हैं. अगर ब्‍याज 10 हजार रुपये से कम बना होगा तो टैक्‍स नहीं चुकाना होगा.


आपको यह पता होना जरूरी है कि 60 साल से ज्‍यादा उम्र के अकाउंट होल्‍डर (saving account holder) को 50 हजार रुपये तक के ब्‍याज पर टैक्‍स नहीं देना होता है. अगर आपकी कुल सालाना आमदनी में उस ब्याज को मिलाने के बाद भी, आपकी सालाना आमदनी इतनी नहीं होती कि उस पर टैक्स देनदारी बन सके तो फिर आप फॉर्म 15 G जमा करके बैंक द्वारा काटे गए टीडीएस का रिफंड प्राप्‍त कर सकते हैं.


अधिक्तम कितने खुलवा सकते है सेविंग अकाउंट?


देश में सेविंग अकाउंट (बचत खाता) खोलने की भी कोई सीमा तय नहीं (There is no limit for opening a savings account) की गई है. एक व्‍यक्ति चाहे तो जितने भी खाते खोल सकता है. वित्‍तीय सलाहकारों का कहना है कि एक व्‍यक्ति के पास तीन से ज्‍यादा बैंक खाते नहीं होने चाहिए. वेल्‍थ क्रिएटर्स फाइनेंशियल एडवाइजर्स के को-फाउंडर विनित अय्यर का कहना है कि सभी परमानेंट इनकम के लिए एक बैंक खाता होना चाहिए. रोजाना के खर्चों के लिए पति-पत्‍नी एक ज्वाइंट खाता खुलवा सकते हैं. तीसरा खाता व्‍यक्तिगत खर्चों के लिए भी खोला जा सकता है. अय्यर का कहना है कि तीन से ज्‍यादा बैंक अकाउंट रखने में कोई समझदारी नहीं है.