home page

Relationship Tips : पार्टनर करेगा आपसे बेशुमार प्यार बस अपनानी होगी ये टिप्स

Relationship Tips : अगर आप लव रिलेशनशिप में है तो ये खबर आपके लिए खास है। अगर पार्टनर आपको रिप्लाई नहीं करता है और आपसे पयार नहीं करता है तो अब परेशान होने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको कुठ टिप्स बताने जा रहे हैं। जिनके जरिए आप पार्टनर की आदतों को सुधार सकते हैं। 
 | 
Relationship Tips : पार्टनर करेगा आपसे बेशुमार प्यार बस अपनानी होगी ये टिप्स

HR Breaking News (ब्यूरो)। रिलेशनशिप के दौरान खट्टी-मीठी यादें बनीं रहती हैं। हर कपल को कभी न कभी रिलेशनशिप के दौरान मुश्किल समय से गुजरना ही पड़ता है। लेकिन कई बार छोटी-छोटी बातों से ही गलतफहमियां पैदा हो जाती हैं। कई रिलेशनशिप में तो यह भी देखा गया है कि अपने पार्टनर की कुछ बातों से परेशान (Troubled by some things about your partner) होकर लोग उन्हें इग्नोर करने लग जाते हैं। अच्छे रिलेशनशिप की यही निशानी है कि अपने पार्टनर को रिप्लाई न करने की बजाय उनसे बात करने की कोशिश करनी चाहिए।


अगर आपका साथी आपको नज़रअंदाज़ करता है, तो आपको इसके पीछे की वजह तलाश करनी चाहिए। लेकिन आपको अगर अपने पार्टनर कीबेवजह चुप्पी परेशान कर रही है, तो अपने रिश्ते को दोबारा पटरी पर लाने के लिए इन टिप्स को फॉलो कर सकते हैं।


बार-बार कॉल या मैसेज न करें


अगर आपका पार्टनर आपको इग्नोर कर रहा है और आपके कॉल या फिर मैसेजेस का जवाब नहीं दे रहा है तो बार-बार फोन करके उन्हें परेशान बिल्कुल न करें। आपके बार-बार ऐसा करने से पार्टनर ज्यादा चिढ़ सकता है। इसलिए अपने पार्टनर को समय दें।


फीलिंग्स जाहिर करें


अगर आपको लगता है कि आपका पार्टनर आपको इग्नोर करने की कोशिश कर रहा है तो सही मौके पर उनसे इसको लेकर खुलकर बातचीत करें। इसके लिए जरूरी है कि अपने पार्टनर के साथ फीलिंग्स को खुलकर जाहिर करें। किसी भी स्थिती से निपटने के लिए शांत होकर बात करें।
 

पार्टनर को दें वक्त


अगर आपको लगता है कि आपका पार्टनर आपको टाइम नहीं दे पा रहा है तो आपको उन्हें थोड़ा वक्त देना चाहिए। अपने पार्टनर पर भरोसा रखें। उनपर शक न करें।
 

अपने करीबियों से सलाह लें


अगर आपके पार्टनर का नजरअंदाज करना आपको परेशान कर रहा है तो आप अपने किसी करीबी दोस्त या फिर परिवार के किसी सदस्य से इस मामले में सलाह ले सकते हैं। ध्यान रखें कि इसके लिए आप किसी करीबी की सलाह ही लें। ऐसा आमतौर पर होता है कि जब हम ज्यादा परेशान और टेंशन में होते हैं तो हमारी सोचने-समझने की क्षमता कई बार कमजोर पड़ जाती है। इसलिए ऐसी स्थिती में अपनों की सलाह एक बार जरूर ले लें।