home page

UP CM Yogi Adityanath : अब कोई नहीं कर पायेगा ज़मीन पर अवैध कब्ज़ा, यूपी सरकार करने जा रही ये काम

यूपी में ज़मीन के अवैध कब्ज़े की घटनाएं आये दिन सामने आती रहती है | ज़मीन के अवैध कब्ज़े की वजह से सरकार को भी और प्रशाशन  को भी काफी दिक्कत होती है | यूपी सरकार (Yogi Adityanath news) ज़मीन के अवैध कब्ज़े को लेकर ऐसे बड़े कदम उठाने जा रही है जिसेक बाद कब्ज़ा करने वालों की कमर टूट जाएगी | आइये जानते हैं इसके बारे में विस्तार से 
 | 

HR Breaking News, New Delhi : यूपी में बढ़ते अवैध कब्ज़ों ने सरकार और प्रशाशन की नाक में दम कर दिया है | यूपी की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath news) सरकार अब भूमाफियाओं की कमर तोड़ेगी. सरकार ने इसके लिए एंटी माफिया सेल का गठन किया है. एंटी भूमाफिया सेल जमीन पर कब्जा करने वाले अपराधियों को चिन्हित करेगा. एंटी भूमाफिया सेल (Anti Land Mafia Cell) भू माफिया पर सीधी कार्रवाई करेगा. उस पर गुंडा और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. सभी थानों और पोर्टल से जमीन पर कब्जों के मामलों की जानकारी ली जाएगी. भूमाफिया के खिलाफ हुई कार्रवाई को भूमाफिया पोर्टल पर अपडेट किया जाएगा ताकि पता चले कि कौन से भूमाफिया पर ऐक्शन हुआ है या नहीं.

8th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, सितंबर में लागू होगा आठवां वेतन आयोग


लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने इस सेल के बारे में जानकारी देते हुए बताया है की ये सेल जमीन पर कब्जा जमाने से जुड़ी सभी शिकायतों की जांच करेगी. इसमें भूमाफियाओं को चिन्हित किया जाएगा. उनके आपराधिक इतिहास को खंगाला जाएगा. ऐसे अपराधियों पर गुंडा एक्ट और गैंगस्टर एक्ट में निरुद्ध किया जाएगा. सेंट्रलाइज्ड मॉनीटरिंग सेल के जरिये इनके खिलाफ एक्शन की पूरी मॉनीटरिंग करेगी.

गौरतलब है कि हाल ही में देवरिया जमीन विवाद का नरसंहार सामने आया था, इसमें छह लोगों की मौत हो गई थी. इसके बाद लखनऊ में भी जमीन विवाद को लेकर तिहरा हत्याकांड हुआ है. जिला स्तर पर भी तमाम ऐसे भूमाफिया की पहले ही पहचान कर उन्हें जेल में डाला गया है. हालांकि जिले, तहसील और ब्लॉक स्तर पर जमीन पर कब्जे से जुड़ी शिकायतों पर समय रहते उचित कार्रवाई न होने से कई बार ऐसी बड़ी घटनाएं सामने आई हैं. भूमाफिया गैंग बनाकर बेशकीमती जमीनों को हथियाने की कोशिश में रहते हैं. 

केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए गुड न्यूज, 18 महीने का बकाया DA एरियर देने का प्रपोजल