home page

UP News : अब मिलेगा पूरा राशन, योगी सरकार ने कर दिया ऐसा काम, नहीं हो पाएगी घटतौली

up news hindi : यूपी सरकार को ऐसी बहुत सारी शिकायतें आ रही थी जिसमे बताया गया था की राशन देने वाले पूरा टोल कर राशन नहीं देते जिससे लोगों को पूरे पैसे देकर भी कम राशन मिल रहा था और लोगों की शिकायतों को दूर करते हुए सरकार ने ऐसा इंतज़ाम किया है की अब कोई भी राशन देने वाला कम राशन नहीं तोल पायेगा | आइये जानते हैं इसके बारे में 

 | 
अब लोगों को मिलेगा पूरा राशन, सरकार ने कर दिया ये काम

HR Breaking News, New Delhi : यूपी में बांटे जा रहे फ्री राशन को लेकर कोटेदारों की जो शिकायतें हो रहीं थीं, सरकार ने उसका हल निकाल लिया है। कोटेदार अब राशन देने में घटतौली नहीं कर पाएंगे। दुकानों पर आने वाले सभी कार्ड धारकों को अब पूरा राशन देना होगा। दरअसल सरकार कोटेदारों के राशन तोलने वाले कांटे को ई-पॉश मशीन से लिंक करने जा रही है। दोनों के लिंक होने के बाद जबतक कांटे से पूरा राशन नहीं तुलेगा, राशनकार्ड धारक का अंगूठा एप्रूव नहीं होगा। जनपद की 1200 से अधिक राशन की दुकानों पर ई-पॉश मशीन व तोल मशीनों को लिंक करने का काम पूरा हो जाएगा।

EPFO : हर महीने सैलरी से कटता है PF तो आपको मिलेंगे ये 7 फायदे, जान लें काम की बात

सरकार को मिल रही थी शिकायतें 
राशन कोटेदारों की सबसे बड़ी शिकायत कम राशन देने की पूर्ति विभाग को मिलती हैं। यह शिकायत दशकों से चल रही है। कोरोना काल में मुफ्त राशन मिलना शुरू हुआ तो कोटेदारों ने घटतौली बढ़ा दी। घटतौली की शिकायतें बढ़ीं तो सरकार ने पहले ई-पॉश मशीन लांच की। इससे यह फायदा हुआ कि फर्जी राशनकार्ड खत्म हो गए। मशीन में अंगूठा लगकर ही राशन मिलता है। परंतु घटतौली की शिकायतें इससे भी कम नहीं हुईं तो अब सरकार ने राशन कोटेदार के राशन तोलने के तराजू को ई-पॉश मशीन को लिंक करने का काम शुरू कर दिया है। जिला पूर्ति अधिकारी संजीव कुमार सिंह ने बताया कि जनपद में सभी कोटेदारों की तोल मशीन को लिंक करने का काम होगा। इससे घटतौली नहीं हो सकेगी।


कोटेदार संभालेगा ये जिम्मेवारी 

SBI ग्राहकों के खाते से कट रहे 147.50 रुपये, बैंक ने बताई इसकी वजह


राशन कार्ड लाभार्थियों की केवाईसी कराने की जिम्मेदारी कोटेदारों को सौंपी गई है। हरदोई के जिला पूर्ति अधिकारी कमल नयन सिंह ने बताया कि जनपद में सात लाख 70 हजार 993 राशन कार्ड हैं। इनमें 31 लाख 52 हजार से अधिक यूनिट हैं। राशन कार्ड में दर्ज कोई भी व्यक्ति दुकान पर जाकर ई-पाश मशीन में अंगूठा लगाकर राशन ले सकता है। कई मामलों में पता चला है कि परिवार के सदस्य की मौत हो जाने के बाद भी उसके यूनिट का राशन लिया जा रहा है। कार्डधारक इस बारे में विभाग को सूचना देकर कार्ड से यूनिट नहीं कटवा रहे हैं, इसलिए शासन स्तर से हर यूनिट का ईकेवाईसी सत्याप कराने के आदेश दिए गए हैं। इसके लिए तीन महीने का समय दिया गया है। इस दौरान राशन कार्ड में शामिल प्रत्येक व्यक्ति को राशन की दुकान पर जाकर मशीन पर अंगूठा लगाना होगा। कोटेदार इस संबंध में कार्डधारकों को जानकारी दें।