home page

PF खाताधारकों के लिए बड़ा अपडेट, EPFO ने कर दिया ये बदलाव

EPFO New Rules : सब जानते है कि नया वित्त वर्ष शुरू हो चुका है। नए वित्त वर्ष में कई जरूरी नए नियम लागू हो जाते हैं। ऐसा ही पीएफ खाते से जुड़ा एक नियम है जिसमें कि बदलाव हुआ है और 1 अप्रैल को कर्मचारी संगठन भविष्य निधि (EPFO) की ओर से नया नियम लागू कर दिया गया है। इस नियम के लागू होने से कर्मचारियों को सीधे तौर पर लाभ मिलने वाला है। आइए जान लेते है कि EPFO से जुड़े किन नियमों में हुआ है बदलाव...

 | 
PF खाताधारकों के लिए बड़ा अपडेट, EPFO ने कर दिया ये बदलाव

HR Breaking News, Digital Desk : हाल ही में ईपीएफओ खाताधारकों (epfo account holders) के लिए बड़ी खुशखबरी सामने आ रही है. अब ईपीएफओ खाताधारकों को नौकरी बदलने पर मैन्युल तरीके से पीएफ ट्रांसफर के लिए अनुरोध करने की कोई आवश्यक्ता नही है। अब ईपीएफओ ने ऑटोमैटिक फंड ट्रांसफर की सुविधा शुरू कर दी है. यह सुविधा आपको 1 अप्रैल से मिलनी शुरू हुई है. अभी से पहले यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) होने के बावजूद, लोगों को पीएफ ट्रांसफर (pf transfer) के लिए अनुरोध करना पड़ता था. यह कुछ हद तक थकाने वाला काम होता था.

 

 

 

 

अब से नौकरीपेशा लोग बिना किसी झंझट की चिंता किए हुए नई नौकरी की तलाश कर सकते हैं. नई नौकरी बदलने पर ईपीएफ खाते का पैसा खुद-ब-खुद नए अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएगा. बता दें कि कर्मचारियों को ईपीएफ में अपने वेतन (employees Sallery) का 12 फीसदी रखना होता है. साथ ही नियोक्ता को भी इसी के बराबर कर्मचारी की ओर से पैसा ईपीएफ खाते में जमा करना होता है.


UAN का लाभ


बता दें कि यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) अलग-अलग नियोक्ताओं द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किया जाता है. यह अलग-अलग ईपीएफओ खातों के लिए सेंट्रलाइज्ड प्लेटफॉर्म के रूप में काम करता है. 


इससे विभिन्न खाते एक साथ जुड़ जाते हैं. यूएन कई प्रकार की सेवाएं प्रदान कता है. जैसे, UAN कार्ड, ट्रांसफर-इन डिटेल्स, पिछले सदस्यों की पीएफ आईडी को वर्तमान पीएफ आईडी के साथ जोड़ने की क्षमता और ईपीएफओ से जुड़ी सूचनाएं एसएमएस के जरिए मिलती हैं.


जान लें क्या है ईपीएफओ?


जानकारी के लिए बता दें कि यह भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय (Ministry of Labor and Employment) के तहत काम करने वाला निकाय है. इसका काम कर्मचारियों के पेंशन फंड के संबंध में विनियमन और प्रबंधन करना है. यह अन्य देशों के साथ भी सामाजिक सुरक्षा समझौतों का प्रबंधन करता है. 


इस समय ईपीएफओ (EPFO) में फिलहाल 8.10 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. इसमें नियोक्ता और कर्मचारी दोनों पैसे जमा करते हैं और उन पैसों पर ब्याज मिलता है. यह कुल रकम मिलकर कर्मचारी के लिए भविष्य निधि तैयार करती हैं.