home page

FD वालों की होने वाली है मौज ही मौज, इस वजह से ब्याज दरों में होगी बंपर बढौतरी

FD Interest Rates : जल्द ही एफडी (FD) पर ब्याज दरें बढ़ सकती हैं। जमा की तुलना में कर्ज की ग्रोथ ज्यादा होने से दरें बढ़ाई जा सकती हैं। बैंकों ने 11.9 लाख करोड़ रुपये का डिपॉजिट जोड़ा है। जबकि उनकी लोन बुक्स में 12.4 लाख करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से.

 | 

HR Breaking News (नई दिल्ली)। एफडी (FD) में पैसा लगाने वालों के लिए अच्छी खबर है। फिक्स डिपॉजिट्स पर ब्याज दरों (FD Interest Rates) में इजाफा हो सकता है। जमा की तुलना में लोन्स में तेजी से ग्रोथ होने के चलते ऐसा हो सकता है। चालू वित्त वर्ष के पहले 5 महीनों में बैंक लोन्स में ग्रोथ डिपॉजिट्स की तुलना में अधिक रही है। इससे आने वाले समय में बैंक डिपॉजिट्स पर ब्याज दरें और बढ़ सकती हैं। बैंकों के भारित औसत सावधि जमा दरों में अप्रैल-अगस्त 2023 के दौरान 0.27 फीसदी का इजाफा हुआ है।

एचडीएफसी मर्जर ने बढ़ाया अंतर


आरबीआई (RBI) के आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल-अगस्त 2023 में बैंक डिपॉजिट 6.6 फीसदी बढ़कर 149.2 लाख करोड़ रुपये हो गया। इसी अवधि में बैंक क्रेडिट 9.1 फीसदी बढ़कर 124.5 लाख करोड़ पर पहुंच गया। ये आंकड़े एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक के मर्जर के चलते भी हैं, जिसने क्रेडिट-डिपॉजिट के अंतर को बढ़ा दिया है। क्योंकि हाउसिंग फाइनेंस कंपनी के डिपॉजिट्स इसके लोन्स से कम थे।

जमा से ज्यादा लोन में इजाफा


नंबर्स को देखें, तो बैंकों ने 11.9 लाख करोड़ रुपये का डिपॉजिट जोड़ा है। जबकि उनकी लोन बुक्स में 12.4 लाख करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। लोन और डिपॉजिट ग्रोथ के बीच की खाई को बैंकों द्वारा सरकारी सिक्योरिटीज में सरप्लस इन्वेस्टमेंट से मैनेज किया गया है। केयरएज रेटिंग्स के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में क्रेडिट ग्रोथ 13-13.5% रहने की उम्मीद है, जिसमें एचडीएफसी विलय का प्रभाव नहीं है।

मनी मार्केट की लिक्विडिटी पर पड़ता है असर


बड़ौदा बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री मदन सबनवीस के अनुसार, क्रेडिट और डिपॉजिट ग्रोथ के बीच का अंतर मनी मार्केट्स में लिक्विडिटी में दिखाई देता है। उन्होंने कहा, 'आरबीआई के आंकड़ों के आधार पर जुलाई में जमा लागत में वृद्धि होना आश्चर्य की बात नहीं है, जो अगस्त में भी बनी रही होगी।' बैंकों की भारित औसत सावधि जमा दर अप्रैल के 6.28% से बढ़कर जुलाई 2023 में 6.55% हो गई।

यहां है सबसे ज्यादा ब्याज दर


पिछले हफ्ते पीएनबी ने टर्म डिपॉजिट्स पर ब्याज दरों में 25 आधार अंक (0.25%) की वृद्धि की थी। वर्तमान में, सबसे अधिक एफडी रेट्स स्मॉल फाइनेंस बैंक्स की हैं। यूनिटी एसएफबी 1001 दिनों की एफडी पर 9% ब्याज दर ऑफर कर रहा है। वहीं, भारतीय निजी बैंकों में डीसीबी 25 से 37 महीने की एफडी के लिए 7.75% ब्याज दर की पेशकश कर रहा है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पंजाब एंड सिंध बैंक की 7.4% ब्याज दर सबसे अधिक है।