home page

बैंक अकाउंट में निगेटिव बैलेंस होने पर कितना लगेगा इंटरेस्ट, RBI ने बनाए नए नियम

RBI New Rule On Negative Balance : आजकल हर कोई बैंक खातों का इस्तेमाल तो करता ही है। क्योंकि नई तकनीकी के इस दौर में हर काम ऑनलाइन होते जा रहे हैं जिसमें बैंक खातों का इस्तेमाल बढ़ता ही जा रहा है। कई लोग ऐसे होते हैं जो एक से अधिक बैंक खातों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक में होने के कारण भी सभी बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं रख पाते हैं। ऐसे में क्या आप जानते हैं कि बैंक अकाउंट में नेगेटिव बैलेंस होने पर कितना इंटरेस्ट लगेगा। आइए खबर में जानते है इसको लेकर आरबीआई द्वारा जारी किए गए नियमों के बारे मे विस्तार से।
 | 
बैंक अकाउंट में निगेटिव बैलेंस होने पर कितना लगेगा इंटरेस्ट, RBI ने बनाए नए नियम

HR Breaking News, New Delhi : एक समय था जब बैंक से जुड़े काम (bank related work) निपटाने के लिए घंटों लाइन में लगना पड़ता था। लेकिन जब से स्मार्टफोन आए हैं और बैंकिंग सेवाएं ऑनलाइन (banking services online) हुई हैं, बैंक से जुड़े लगभग सभी काम फोन पर ही हो जाते हैं। हालांकि, इससे कुछ समस्याएं भी पैदा हुई हैं। कई लोग अब एक से ज्यादा बैंक अकाउंट रखने लगे हैं। इससे मिनिमम बैलेंस (Minimum balance in bank account) रखना मुश्किल हुआ है और कई स्थितियों में बैलेंस माइनस में भी चला जाता है।


ऐसी स्थिति में अगर आप बैंक से अकाउंट बंद करने (Process of closing account from bank) के लिए कहते हैं तो आपसे उस अमाउंट का भुगतान करने के लिए कहा जाता है जितना माइनस में होता है। लेकिन, अब ऐसी परिस्थितियों का सामना कर रहे ग्राहकों के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (reserve Bank of India latest updates) ने राहत देने का काम किया है। आरबीआई के नए नियमों के अनुसार अगर आपने मिनिमम बैलेंस मेनटेन (Minimum balance maintain) नहीं किया है तो यह जीरो हो सकता है लेकिन बैंक इस पर इंटरेस्ट लगाकर इसे माइनस में नहीं कर सकते।
 

बिना चार्ज दिए बंद करा सकते हैं खाता


अगर आपके अकाउंट में बैलेंस माइनस में दिख रहा है तब भी बैंक यह राशि देने के लिए ग्राहक से नहीं कह सकते। बैंक के पास यह अधिकार नहीं है कि वह निगेटिव में गए बैलेंस की राशि मांग सके। आरबीआई गाइडलाइंस के अनुसार (As per RBI guidelines) माइनस बैलेंस होने पर भी आपको एक भी रुपये का भुगतान करने की जरूरत नहीं है। इसका मतलब यह है कि आपके बैंक अकाउंट को बिना किसी एक्स्ट्रा चार्ज के बंद किया जा सकता है। बैंक इसके लिए पैसा नहीं ले सकतीं।