home page

FD से करनी है कमाई तो पहले जान लें कौन सा बैंक दे रहा है सबसे ज्यादा ब्याज, चेक करें 10 बैंकों की ब्याज दरें

इनकम टैक्स बचाने का मौसम चल रहा है. लोग अलग-अलग स्कीम में पैसा लगाकार जहां अपने पैसे को महफूज तो कर ही रहे हैं, साथ में अच्छा रिटर्न और टैक्स की बचत जैसे काम भी किए जा रहे हैं.आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से.

 | 
FD से करनी है कमाई तो पहले जान लें कौन सा बैंक दे रहा है सबसे ज्यादा ब्याज, चेक करें 10 बैंकों की ब्याज दरें

HR Breaking News (नई दिल्ली)।  वित्त वर्ष 2023-24 अपने अंतिम चरण में हैं. इस वित्तीय वर्ष को समाप्त होने में लगभग चंद दिन ही बचे हैं. जैसे-जैसे समय बीत रहा है, अंतिम समय में टैक्स बचाने की होड़ मची हुई है. कोई बीमा में निवेश कर रहा है तो कोई सरकारी स्कीम में पैसा लगा रहा है. जबकि बहुत कम लोग जानते हैं कि टैक्स बचाने के लिए इक्विटी लिंक सेविंग स्कीम- ईएलएसएस (Equity Linked Savings Scheme ) सबसे अच्छे टैक्स बचत निवेश विकल्पों में से एक है, लेकिन इसमें जोखिम भी है. निवेश करने वाले या टैक्स बचाने वाले ज्यादातर लोग अपने निवेश पर जोखिम नहीं लेना चाहते. वे चाहते हैं कि उनका पैसा सुरक्षित रहे, भले ही रिटर्न कम मिले. उनके लिए अपनी कमाई की सुरक्षा सबसे पहले है. ऐसे में अगर आप टैक्स बचाने के लिए सुरक्षित पैसा निवेश करना चाहते हैं, तो टैक्स सेवर बैंक एफडी एक अच्छा विकल्प हो सकता है.

टैक्स सेविंग बैंक एफडी क्या है और किन बैंकों में यह सुविधा दी जा रही है. बैंक टैक्स सेविंग एफडी पर क्या ब्याज दे रहे हैं. यहां हम इसकी विस्तार से चर्चा कर रहे हैं.

टैक्स सेविंग बैंक एफडी क्या है


टैक्स सेवर बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट-एफडी में आयकर अधिनियम की धारा 80-सी के तहत टैक्स छूट का लाभ मिलता है. टैक्स सेवर बैंक एफडी 5 साल के लिए होती है. पांच साल की लॉक-इन अवधि के दौरान बैंक एफडी से पैसा नहीं निकाला जा सकता है. इसमें पैसे की सुरक्षा के साथ रिटर्न की गारंटी दी जाती है. बैंकों से कर बचत एफडी भारतीय रिजर्व बैंक- आरबीआई की सहायक कंपनी डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (डीआईसीजीसी) के तहत संचालित की जाती है. इसमें बैंक और निवेशक की 5 लाख रुपये की राशि को कवर की जाता है.


हालांकि, टैक्स सेविंग बैंक एफडी का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इससे मिलने वाली ब्याज पर टैक्स कटता है.पांच साल की कर बचत वाले सहित बैंक एफडी निवेशकों के लिए, कर देनदारी टीडीएस कटौती के साथ समाप्त नहीं होती है. एफडी से मिलने वाली ब्याज को निवेशक की वार्षिक आय में शामिल किया जाता है और फिर इनकम टैक्स की स्लैब के अनुसार टैक्स लगाया जाता है. इसके अलावा, नियमित एफडी के विपरीत ज्यादातर बैंक आमतौर पर आपको टैक्स सेवर एफडी पर लोन लेने की अनुमति नहीं देते हैं, जबकि साधारण एफडी के आधार पर लोन भी ले सकते हैं.


टैक्स सेविंग बैंक एफडी में कितना टैक्स बचा सकते हैं


टैक्स सेविंग बैंक एफडी में निवेशक को अन्य बचत योजना जैसे- पीपीएफ, होम लोन के मूलधन का पुनर्भुगतान, जीवन बीमा प्रीमियम में मिलने वाली टैक्स छूट मिलती है. पांच साल की टैक्स सेविंग एफडी पर डेढ़ लाख रुपये तक की टैक्स छूट का दावा किया जा सकता है.

10 बड़े बैंकों में एफडी स्कीम और ब्याज दर


यहां हम देश के टॉप 10 बैंकों की एफडी स्कीम तथा एफडी पर दी जा रही ब्याज के बारे में विस्तार से चर्चा कर रहे हैं-

HDFC Bank


एडजीएफसी बैंक सामान्य एफडी पर 7 फीसदी सालाना की ब्याज दे रहा है. यहां वरिष्ठ नागरिकों को एफडी पर आधा फीसदी अधिक 7.5 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जा रहा है.


ICICI Bank


आईसीआईसीआई बैंक द्वारा एफडी पर एचडीएफसी बैंक की तरह ही सात और साढ़े प्रतिशत की दर से वह ब्याज दिया जा रहा है.

State Bank Of India


देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई द्वारा सामान्य एफडी पर 6.5 प्रतिशत और सीनियर सिटिजन के लिए एफडी पर 7.5 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है.

Kotak Mahindra Bank


कोटक महिंद्रा बैंक सामान्य व्यक्तियों को 7 दिनों से लेकर 10 वर्ष तक के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम चलाता है. यह बैंक 6.2 से लेकर 6.7 फीसदी का ब्याज दर दे रहा है.

Axis Bank


एक्सिस बैंक सामान्य एफडी पर 7 प्रतिशत की और सीनिटर सिटिजन को सबसे अधिक 7.75 प्रतिशत की दर से ब्याज दे रहा है. यहां 5 से 10 साल तक के लिए एफडी कराई जा सकती है.

IndusInd Bank


इंडसइंड बैंक भी नियमित यानी सामान्य एफडी पर 7.25 प्रतिशत की दर से ब्याज दे रहा है. वरिष्ठ नागरिकों के लिए 7.75 फीसदी वार्षिक की दर से ब्याज दे रहा है.

Bank of Baroda


बैंक ऑफ बड़ौदा ने इस तरह की योजना चला रहा है. बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा एफडी पर 6.5 और 7.15 प्रतिशत सालाना की दर से इंटरेस्ट दिया जा रहा है.

Punjab National Bank


पंजाब नेशनल बैंक में एफडी की दरें भी निजी बैंकों से कम हैं. यहां सामान्य एफडी पर 6.5 फीसदी का ब्याज दिया रहा है, जबकि सीनियर सिटिजन के लिए एफडी पर 7 प्रतिशत का ब्याज मिल रहा है.