home page

LPG cylinder price : 1 तारीख से सस्ता हो जाएगा गैस सिलेंडर, जानिये कितनी मिलेगी छूट

LPG cylinder price 2024 - कल यानी 1 अप्रैल से चालू वित्तीय वर्ष खत्म होने वाला है। और इसके साथ पैसे से जुड़े कई नियमों में बदलाव होने वाला है। इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि 1 तारीख से एलपीजी गैस सिलेंडर (LPG cylinder) पर 300 रुपये की छूट मिलेगी। जानकारी के लिए बता दें कि छह महीने में तीसरी बार गैस सिलेंडर की कीमतों में कटौती के संकेत मिले हैं। आइए नीचे खबर में जानते हैं- 

 | 
LPG cylinder price : 1 तारीख से सस्ता हो जाएगा गैस सिलेंडर, जानिये कितनी मिलेगी छूट 

HR Breaking News (ब्यूरो)। कल यानी 1 अप्रैल ने नए फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत हो रही है। फाइनेंशियल ईयर के पहले दिन ही कई ऐसे बदलाव होंगे, जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ेगा। ऐसा ही एक बदलाव एलपीजी सिलेंडर की कीमत से जुड़ा है। दरअसल, सरकारी तेल कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर की कीमत को निर्धारित करती हैं। इसी कड़ी में अप्रैल महीने की एलपीजी सिलेंडर की कीमत तय होगी। लोकसभा चुनाव को देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि सिलेंडर की कीमत में कटौती हो सकती है।

100 रुपये की मिली है राहत

500 रुपये के नोट को लेकर RBI की रिपोर्ट में हुआ चौकाने वाला खुलासा

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिला दिवस पर  यानी 8 मार्च को एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 100 रुपये की छूट देने की घोषणा की थी। पीएम मोदी ने कहा था- इससे नारी शक्ति का जीवन आसान होने के साथ ही करोड़ों परिवारों का आर्थिक बोझ भी कम होगा। यह कदम पर्यावरण संरक्षण में भी मददगार बनेगा, जिससे पूरे परिवार का स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा।

बता दें कि इस कटौती के बाद अब देश की राजधानी दिल्ली में एलपीजी सिलेंडर की कीमत 803 रुपये है। वहीं, उज्जवला योजना के लाभार्थियों को इस कीमत पर 300 रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी मिलती है। ऐसे में लाभार्थियों के लिए एलपीजी सिलेंडर 503 रुपये में उपलब्ध है।


छह महीने में दूसरी बार कटौती

गलत खाते में पैसा ट्रांसफर होने पर कैसे मिलेगा वापस, जानिए RBI का नियम


मार्च महीने में पिछले छह महीने में दूसरी बार एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में कटौती की गई थी। अगस्त 2023 में रक्षाबंधन के मौके पर एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 200 रुपये प्रति सिलेंडर की कटौती की गई थी। इसी तरह अक्टूबर 2023 में उज्जवला लाभार्थियों की सब्सिडी भी 200 रुपये से बढ़ाकर 300 रुपये कर दी गई थी। बता दें कि तब मध्य प्रदेश और राजस्थान सहित 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव होने वाले थे।