home page

Bihar के इस शहर में सातवें आसमान में पहुंचे प्रोपर्टी के रेट, एयरपोर्ट बनने के बाद 10 गुना हो जाएगी कीमत

Property Rate : प्रॉपर्टी में पैसा निवेश करने वालों की संख्या हर रोज बढ़ती ही जा रही है, अगर आप भी प्रॉपर्टी में पैसा लगाने का कर रहे है प्लान तो आज हम आपको बताने जा रहे है बिहार के उस इलाके के बारे में जहां सातवें आसमान में पहुंचे प्रोपर्टी के रेट, बताया जा रहा है की एयरपोर्ट बनने के बाद 10 गुना हो जाएगी कीमत...

 | 
Bihar के इस शहर में सातवें आसमान में पहुंचे प्रोपर्टी के रेट, एयरपोर्ट बनने के बाद 10 गुना हो जाएगी कीमत

HR Breaking News, Digital Desk - अगर आपके पास पैसै हैं और आप इसे जमीन या प्रॉपर्टी में इनवेस्ट (Invest in land or property) करना चाहते हैं तो आपके लिए एक ऑप्शन गोपालगंज भी है. बिहार का गोपालगंज(Gopalganj of Bihar) जिला जो यूपी से सटा है में जमीन की कीमत लगातार बढ़ रही है. इसका कारण है प्रमुख धार्मिक स्थल थावे दुर्गा मंदिर पर पर्यटकों को बढ़ावा मिलना और मेडिकल कॉलेज के साथ-साथ एयरपोर्ट का बनना. यहां के प्रमुख पर्यटक केंद्र थावे दुर्गा मंदिर के पास महज एक साल में जमीन की कीमतें 100 से 120 फीसदी बढ़ी है. गोपालगंज के कई इलाकों में 1 कट्ठा जमीन की कीमत (land price) 3 से 4 करोड़ रुपए तक हो गई है.

किस इलाके में कितनी है जमीन की कीमतें


ये है थावे प्रखंड का थावे दुर्गा मंदिर परिसर. यहां आसपास के इलाके में आपको खाली जमीन नहीं मिलेगी. बिहार सरकार (Bihar Government) ने को विकसित करने के लिए 70 करोड़ रुपए का आवंटन जब से किया है. मंदिर के आसपास की जमीन की रेट दोगुनी (land rate doubled) हो गई है. बाहर से पहुंचे निवेशकों ने प्रॉपर्टी खरीदना शुरू कर दिया है. एनएच-531 से जुड़े इस प्रखंड में सड़क के किनारे प्रति कट्ठा जमीन की कीमत एक करोड़ रुपये से लेकर 1.20 करोड़ रुपए तक है.

 

मेडिकल कॉलेज बनने से पहले ही भागी कीमत


यहां बिहार सरकार (Bihar Government) ने मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए कैबिनेट से मंजूरी दे दी है और जमीन अधिग्रहण का काम (land acquisition work) भी शुरू हो चुका है. अगर आप जमीन में पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आपके लिए यह इलाका बेहतर और फायदेमंद होगा. चनावे गांव में जमीन की कीमत 8 से 10 लख रुपए प्रति कट्ठा है. एनएच-531 के किनारे यह गांव है. मेडिकल कॉलेज बनने के बाद यहां जमीन की कीमतें 4 से 5 गुना महंगी हो सकती है, इसलिए अभी यहां जमीन में पैसा इन्वेस्ट (invest money in land) करना फायदेमंद साबित हो सकता है.

एयरपोर्ट एरिया का रेट


सबेया के इस गांव के 517 एकड़ जमीन में बिहार का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनने जा रहा है. केंद्र सरकार ने इस एयरपोर्ट को ‘उड़ान योजना’ में शामिल किया है. एयरपोर्ट की बाउंड्री के लिए सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन की मद से पीलर भी गाड़े जा चुके हैं. इस इलाके में जमीन में पैसा इन्वेस्ट करना काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. यहां अभी जमीन की कीमत स्टेट हाइवे के किनारे 8 से 10 लाख रुपए प्रति कट्ठा है. एयरपोर्ट बनने के बाद यहां जमीन की कीमतें 8 से 10 गुना ज्यादा हो सकती है. इसलिए अभी यहां जमीन में पैसा इन्वेस्ट करते हैं तो आने वाले समय में काफी फायदा मिल सकता है. होटल, लॉज और रेस्टोरेंट भी खोल सकते हैं. बिजनेस परपस से भी इस इलाके की जमीन काफी महत्वपूर्ण है.

पटना से महंगी है यहां की जमीन


प्रॉपर्टी विक्रेताओं के जानकारों की मानें तो गोपालगंज में सबसे ज्यादा जमीन की कीमत में पुरानी चौक मोहल्ला, मेन रोड मोहल्ला, कलेक्ट्रेट रोड, राजेंद्र सब स्टैंड और थावे रोड में है. पुरानी चौक और मेन रोड में प्रति कट्ठा तीन करोड़ रुपये है. इसके अलावा राजेन्द्र नगर, कलेक्ट्रेट रोड, थावे रोड में दो करोड़ रुपए प्रति कट्ठा जमीन का रेट है. कारण है,इस इलाके में जमीन खाली नहीं होना और पॉश इलाका होना.