home page

Success Story : 4 भाई बहनों ने रचा इतिहास, सभी ने हासिल की IAS-IPS की कुर्सी, ऐसे मिली सफलता

Latest Success Story : आज हम आपको बताने जा रहे है उत्तर प्रदेश के एक ऐसे परिवार के बारे में जहां चार भाई-बहनों ने यूपीएससी की परीक्षा पास कर इतिहास रच दिया है, आइए खबर में जानते है इन चारों के बारे में विस्तार से।

 | 
Success Story : 4 भाई बहनों ने रचा इतिहास, सभी ने हासिल की IAS-IPS की कुर्सी, ऐसे मिली सफलता

HR Breaking News (ब्यूरो)। भारत में हर एक युवा का सपना IAS या फिर IPS बनने का होता है, लेकिन बहुत कम ही होते हैं जिनका ये सपना पूरा होता है। आपको ये जानकार हैरानी होगी कि उत्तर प्रदेश में एक ऐसा परिवार भी है, जहां चार भाई-बहनों ने यूपीएससी की परीक्षा (upsc exam) पास की है और आज चारों IAS और IPS हैं।

ये चारों भाई बहन उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में लालगंज के रहने वाले हैं। इनके पिता अनिल प्रकाश मिश्रा एक ग्रामीण बैंक में मैनेजर थे। उन्होंने कहा कि हालांकि मैं ग्रामीण बैंक में प्रबंधक था, लेकिन मैंने अपने बच्चों की शिक्षा के साथ कभी समझौता नहीं किया। मैं चाहता था कि उन्हें अच्छी नौकरियां मिलें और मेरे बच्चों ने भी अपनी पढ़ाई पर ध्यान दिया।

चारों बच्चे आईएएस-आईपीएस


चार भाई-बहनों में सबसे बड़े योगेश मिश्रा आईएएस अधिकारी (Yogesh Mishra IAS Officer) हैं। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा लालगंज में पूरी की और फिर मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में इंजीनियरिंग की। पढ़ाई के दौरान उन्होंने नोएडा में नौकरी भी की, लेकिन सिविल सेवा की तैयारी जारी रखी। साल 2013 में उन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास की और आईएएस अधिकारी बन गए।

उनकी बहन क्षमा मिश्रा सिविल सेवा की तैयारी कर रही थीं। अपने पहले तीन प्रयासों के दौरान वे इन्हें पास नहीं कर सकीं। हालांकि, अपने चौथे प्रयास के दौरान परीक्षा पास की और अब एक IPS अधिकारी है।

तीसरी बहन माधुरी मिश्रा लालगंज के एक कॉलेज से ग्रेजुएट होने के बाद मास्टर के लिए इलाहाबाद चली गईं। उन्होंने 2014 में यूपीएससी की परीक्षा सफलतापूर्वक पास की और इस समय झारखंड कैडर की आईएएस अधिकारी हैं।

सबसे छोटे बेटे लोकेश मिश्रा बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। उन्होंने साल 2015 में यूपीएससी परीक्षा में उन्हें 44वां स्थान प्राप्त किया और परिवार के चौथे अधिकारी बने।