home page

Success Story: किसी वक्त मैकेनिक का काम करने वाले इस शख्स के पास आज बुर्ज खलीफा में 22 अपार्टमेंट, बेहद खास है इस बिजनेसमैन की कहानी

जॉर्ज वी नेरेपराम्बिल दिग्‍गज भारतीय कारोबारी हैं। दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा में उनके 22 अपार्टमेंट हैं। जॉर्ज का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ था। उन्होंने 11 साल की उम्र से काम करना शुरू कर दिया था। 1976 में वह बेहतर जीवन की तलाश में संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) चले गए थे। वहां उन्होंने एक मैकेनिक के रूप में भी काम किया।आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से.

 | 
Success Story:  किसी वक्त मैकेनिक का काम करने वाले इस शख्स के पास आज बुर्ज खलीफा में 22 अपार्टमेंट, बेहद खास है इस बिजनेसमैन की कहानी

HR Breaking News (नई दिल्ली)। दुबई में बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची इमारत है। ज्‍यादातर भारतीयों के लिए बुर्ज खलीफा में एक अपार्टमेंट खरीदना ही किसी सपने जैसा होगा। लेकिन, भारतीय कारोबारी जॉर्ज वी नेरेपराम्बिल अलग हैं। न केवल बुर्ज खलीफा में उन्‍होंने कई अपार्टमेंट खरीद डाले। अलबत्‍ता, इस आइकॉनिक बिल्‍डिंग में सबसे बड़े प्रॉपर्टी ओनर भी बन गए। उनके बुर्ज खलीफा में 22 लक्‍जरी अपार्टमेंट हैं। जॉर्ज मुंह में चांदी का चम्‍मच लेकर पैदा नहीं हुए थे। वह बहुत साधारण परिवार से आते हैं। कभी जॉर्ज ने मैकेनिक के तौर पर भी काम किया। उनकी सफलता लाखों लोगों को प्रेरित करती है। बुर्ज खलीफा में इतने सारे अपार्टमेंट खरीदने के पीछे की भी दिलचस्‍प कहानी है। आइए, यहां उनके बारे में सबकुछ जानते हैं।

केरल के साधारण परिवार में हुआ जन्‍म 


जॉर्ज वी नेरेपराम्बिल का जन्म केरल में एक मध्यम आय वाले परिवार में हुआ था। शुरुआती सालों में वित्तीय कठिनाइयों के चलते जॉर्ज को 11 साल की छोटी उम्र से ही काम शुरू करना पड़ा। वह कैश क्रॉप के व्यापार और परिवहन में अपने पिता की मदद करते थे। उन्होंने अपने पिता की सहायता करते हुए बचे हुए कपास के बीजों से गोंद बनाने का साइड बिजनेस शुरू किया। अपने वेस्‍ट-सेलिंग (कूड़ा-कचरा बेचना) कारोबार से उन्‍होंने अच्‍छा कमाना शुरू कर दिया। इससे वह कई सालों तक अपने परिवार का भरण-पोषण करते रहे।


किस्‍मत ने ली पलटी


1976 में जॉर्ज को उनकी किस्‍मत शारजाह खींचकर ले गई। उस समय मिडिल ईस्‍ट की इकनॉमी बूम पर थी। वहां जाने के बाद उन्हें रेगिस्तानी गर्मी से निपटने के लिए एयर कंडीशनिंग क्षेत्र में भारी मौकों का एहसास हुआ। इसके बाद जॉर्ज ने अपनी कंपनी शुरू की। यही बाद में GEO ग्रुप ऑफ कंपनीज बनी। इसने उन्हें खाड़ी में एक जाने-माने भारतीय व्यवसायी के रूप में स्थापित होने में मदद की।

बुर्ज खलीफा में 22 अपार्टमेंट खरीदने के पीछे की कहानी


जॉर्ज हमेशा आशावादी रहे हैं। ऐसा ही एक मौका तब आया जब उनके एक रिश्तेदार ने उनका मजाक उड़ाया। एक बार उनके रिश्तेदार ने उनसे कहा कि वह कभी बुर्ज खलीफा में एंट्री नहीं कर पाएंगे। इसे जॉर्ज ने चुनौती के तौर पर लिया। एक बार उनकी नजर अखबार में इस इमारत में एक किराये के अपार्टमेंट के विज्ञापन पर पड़ी। उन्होंने 2010 में अपार्टमेंट किराये पर लिया। फिर इसमें रहने लगे। धीरे-धीरे उन्होंने दुनिया की सबसे ऊंची इमारत में कई अपार्टमेंट खरीद डाले। बुर्ज खलीफा के 900 लक्जरी अपार्टमेंटों में से 22 उनके नाम हैं। इसने उन्‍हें इमारत में सबसे बड़ा प्रॉपर्टी ओनर बना दिया।


करोड़ों की है जॉर्ज की नेटवर्थ 


जॉर्ज की नेटवर्थ 4,800 करोड़ रुपये की है। बुर्ज खलीफा में संपत्ति रखने वाले सबसे धनी उद्यमियों में से वह एक हैं। जॉर्ज दुनिया की सबसे ऊंची इमारत में अपने भव्य अपार्टमेंट में एक शानदार जीवन जीते हैं। जिस अपार्टमेंट में वह रहते हैं उसमें फर्श, छत और दीवारों पर सोने की परत लगाई गई है। वह लक्जरी कारों और विमानों के भी शौकीन हैं।