home page

Alcohol limit per day : एक दिन में पीनी चाहिए कितनी शराब, बड़े डॉक्टरों ने बताई लिमिट

आज बहुत सारे लोग हर रोज़ शराब पीते हैं, कुछ लोगों का मानना है की हर रोज़ एक दो पेग लगाने से कुछ नहीं होता और दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी लोग है जो डेली 5 से 6 पेग को भी नार्मल मानते हैं | ऐसे में सवाल खड़ा होता है की डेली कितनी शराब पीनी चाहिए , कुछ बड़े डॉक्टरों ने इसके ऊपर हाल ही में रिसर्च की है और इस रिसर्च में लोगों के इस सवाल का जवाब देने की कोशिश की गयी है | आइये जानते है

 
 | 

HR Breaking News, New Delhi :  आज पूरी दुनिया में शराब पीने वालों की गिनती बढ़ती जा रही है और हर रोज़ शराब की लाखों बोतलें बिक रही है | कुछ लोग डेली एक बोतल तो कुछ लोग एक पेग शराब पीते हैं | आज के जमाने में शराब लोगों के सेलिब्रेशन का हिस्सा बन गई है. कई लोगों को शराब की लत लग जाती है और वे रोज पीना शुरू कर देते हैं. इसमें एल्कोहल होता है और इसकी वजह से इसका ज्यादा सेवन कैंसर, लिवर फेलियर समेत तमाम जानलेवा बीमारियों की वजह बन सकता है. सबसे बड़ा सवाल यह है कि रोज कितनी शराब पीना सुरक्षित है?

कुछ लोग मानते हैं कि प्रतिदिन 1-2 पैग शराब पीने से सेहत को कोई नुकसान नहीं है, तो कई लोग 3-4 पैग को भी नॉर्मल मानते हैं. कई रिसर्च में भी शराब के कुछ फायदे बताए गए हैं, लेकिन इन पर बहुत विवाद है. हेल्थ एक्सपर्ट्स शराब को सेहत के लिए बेहद खतरनाक मानते हैं. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने भी इसी साल शराब को लेकर एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें कई चौंकाने वाली बातें थीं. इसमें यह बताया गया था कि कितनी मात्रा में शराब पीना सेफ माना जा सकता है और इसका सेवन शरीर पर किस तरह असर डालता है. चलिए नए साल से पहले यह बात सभी के लिए जानना बेहद जरूरी है.

 Liquor :1 पेग यानी 60 ML शराब पीने से लिवर पर क्या होता है असर, एक्सपपर्ट ने दी ये राय


WHO ने बताई शराब पीने की लिमिट 

डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार शराब की एक बूंद को भी सुरक्षित नहीं माना जा सकता है. शराब या अन्य एल्कोहल वाली ड्रिंक्स की कम से कम मात्रा भी सेहत के लिए खतरनाक होती है. लोगों को बिल्कुल शराब नहीं पीनी चाहिए. डब्ल्यूएचओ ने कई सालों के आकलन के बाद यह निष्कर्ष निकाला है. शराब की पहली बूंद पीने से ही कैंसर, लिवर फेलियर समेत तमाम गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. शराब या बीयर के 1 पैग को भी सुरक्षित मानना लोगों की गलतफहमी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि अभी तक किसी स्टडी में यह साबित नहीं हो सका है कि शराब सेहत के लिए फायदेमंद हो सकती है. ऐसी रिसर्च विवादों से घिरी हैं.


सेहत के लिए हानिकारक है शराब 
WHO के अनुसार शराब में एल्कोहल मिलाया जाता है, जो एक जहरीला (Toxic) पदार्थ होता है. यह शरीर को गंभीर नुकसान पहुंचाता है. सालों पहले इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर ने एल्कोहल को ग्रुप 1 कार्सिनोजेन (Group 1 carcinogen) में शामिल किया था. कार्सिनोजेन को कैंसर पैदा करने वाले ग्रुप में शुमार किया जाता है. इस खतरनाक ग्रुप में एस्बेस्टस, रेडिएशन और तंबाकू को भी शामिल किया गया है. सिर्फ शराब ही नहीं, बल्कि तंबाकू और रेडिएशन से कई तरह के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि वह शराब के तथाकथित सुरक्षित स्तर के बारे में बात नहीं कर सकता है.

 Liquor :1 पेग यानी 60 ML शराब पीने से लिवर पर क्या होता है असर, एक्सपपर्ट ने दी ये राय