home page

Milawati Ghee Kaise Pehchanein : कहीं आप भी तो नहीं कर रहे मिलावटी घी का इस्तेमाल, इन 5 तरीकों से करें शुद्धता की जांच

Adulterated Ghee Identification tips : आज कल हर चीज में लोग मिलावट करने लगे है। अपना ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में लोग सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे है। ऐसा ही कुछ घी के साथ भी किया जा रहा है। घी की मात्रा बढ़ाने के लिए इसमें मिलावट की जा रही है। अच्छी गुणवत्ता वाला घी ढूंढना अब बड़ी चुनौती बन गई है क्योंकि मिलावटी गाय का घी बाजार में बेझिझक बेचा रहा है। ऐसो में आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे है जिनसे कि आप घी की शुद्धता की जांच आसानी से कर सकते है। 

 | 
Milawati Ghee Kaise Pehchanein : कहीं आप भी तो नहीं कर रहे मिलावटी घी का इस्तेमाल, इन 5 तरीकों से करें शुद्धता की जांच

HR Breaking News, Digital Desk : भारत देश में लोग डाइटिंग से ज्यादा खुल कर खाने में विश्वास रखते है। हमारे देश में सबसे ज्यादा खाया जाने वाला डेयरी प्रोडक्ट (Dairy products purity check) घी, जो गाय के दूध से बनाया जाता है।  वनस्पति तेलों के अस्तित्व में आने से पहले, भोजन मुख्य रूप से घी में पकाया जाता था।  हालांकि, समय के साथ, घी ने अपनी प्रधानता खो दी और अब यह अक्सर विशेष अवसरों पर खाना पकाने में काम में लिया जाता है। 99.5 प्रतिशत वसा (जिनमें से 62 प्रतिशत संतृप्त वसा है) से बना, घी कई आयुर्वेदिक दवाओं को बनाने में भी इस्तेमाल (Ghee used in making Ayurvedic medicines) लाया जाता है।


वर्तमान में हर एक चीज में मिलावट (adultration in every products) की जाने लगी है, जिससे घी भी अछूता नहीं है। अच्छी गुणवत्ता वाला घी ढूंढना अब बड़ा टास्क हो सकता है, क्योंकि मिलावटी गाय का घी (वनस्पति तेल या वसा और पशु शरीर वसा के साथ मिला) बाजार में बेझिझक बेचा जा रहा है। बासी घी (rancid ghee) को अक्सर उसके समान रंग के कारण घी के नाम से बेचा जाता है। ऐसे में आज हम यहां पर कुछ ऐसी तरकीबे बता रहे हैं, जिससे मिलावटी घी को आसानी से जांच सकते हैं। 

1. घी की जांच करने का पहला तरीका


ये सबसे आसान उपायों में से एक है एक बर्तन में एक चम्मच घी गर्म (ghee purity check) करना। अगर घी तुरंत पिघल जाए और गहरे भूरे रंग का हो जाए तो यह शुद्ध गुणवत्ता वाला है। हालांकि, अगर इसे पिघलने में समय लगता है और इसका रंग हल्का पीला हो जाता है, तो इससे बचना ही बेहतर है।

2. घी जांच का दूसरा तरीका


अगर एक चम्मच घी आपकी हथेली में अपने आप पिघल जाए तो वह शुद्ध है।

3. घी जांचने का तीसरा तरीका


यदि आप ये जांचना चाहते है कि घी में नारियल तेल (coconut oil in ghee) है या नहीं, डबल-बॉयलर विधि का उपयोग करके एक ग्लास जार में घी पिघलाएं। इस जार को कुछ देर के लिए फ्रिज में रख दें। यदि घी और नारियल का तेल अलग-अलग परतों में जम जाता है, तो घी मिलावटी है।

4. घी जांचने का चौथा तरीका


इसके लिए पिघले हुए घी की थोड़ी सी मात्रा में आयोडीन घोल की दो बूंदें मिलाएं। यदि आयोडीन का रंग बैंगनी हो जाता है, इसका मतलब घी में स्टार्च मिलाया गया है और इससे बचना चाहिए।

5. घी जांचने का पांचवां तरीका


जांच के लिए एक ट्रासपेरेंट बोतल में एक चम्मच पिघला हुआ घी लें और उसमें एक चुटकी चीनी मिला मिक्स कर दीजिए। अब कंटेनर को बंद करें और इसे जोर से हिलाएं। इसे पांच मिनट तक ऐसे ही रहने दें। यदि बोतल के तल पर लाल रंग दिखाई देता है, तो मतलब कि उसमें तेल (oil in ghee) है। 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें।