home page

Chanakya Niti : ऐसी स्त्री के लिए दुश्‍मन की तरह होता है उसका पति

Chanakya Neeti for Husband Wife : आचार्य चाणक्य की नीतियों का पालन करके हम हर मुश्किल काम काम आसानी से कर सकते है। चाणक्‍य नीति के अनुसार पत्‍नी में यदि कुछ बुराइयां हों तो उसके लिए ज्ञानी पति दुश्‍मन की तरह होता है। ऐसी महिला अपनी और पूरे परिवार की बदनामी का कारण (cause of family disgrace) बनती है। आइए खबर में जानते है इन महिलाओं के बारे में पूरी जानकारी...
 | 
Chanakya Niti : ऐसी स्त्री के लिए दुश्‍मन की तरह होता है उसका पति

HR Breaking News, Digital Desk : आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) एक महान नीतिशास्त्र है। आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में पैसे, सेहत, बिजनेस, दांपत्य जीवन, समाज, जीवन में सफलता से जुड़े तमाम चीजों पर अपनी राय दी है। अगर कोई व्यक्ति की आचार्य चाणक्य की बातों का अनुसरण अपने जीवन में करता है, तो वह जीवन में कभी गलती नहीं करेगा और सफल मुकाम पर पहुंच सकता है। चाणक्य नीति में महिलाओं और पुरुषों के संबंधों (Relations between men and women in Chanakya Niti) के साथ-साथ उनके गुणों के बारे में भी उल्लेख किया है।

आचार्य चाणक्य (Aacharya chankya niti) के अनुसार पति और पत्नी के एक  दूसरे के पूरक है। लेकिन आपसी तालमेल में अगर कमी हो तो, पति-पत्नी का रिश्ता कभी भी बिना तालमेल के नहीं चल सकता। आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्‍त्र (Acharya Chanakya Niti Shastra) में पति-पत्‍नी के लिए बहुत महत्‍वूर्ण बातें बताई हैं। इसमें पति, पत्‍नी के चरित्र की खासितयों, उनकी अच्‍छाई-बुराई से शादीशुदा जिंदगी पर होने वाले असर के बारे में बताया है।


आचार्य चाणक्य (Aacharya chankya) के अनुसार पति और पत्नी के एक-दूसरे के पूरक है। लेकिन उनके बीच आपसी तालमेल में कमी पूरे परिवार के लिए परेशानी का सबब बन सकती है।


ऐसे घरों की सुख-शांति, समृद्धि छिन जाती है। उन्‍होंने महिलाओं की कुछ बुराइयों के बारे में बताया है जिससे उसका ज्ञानी और चरित्रवान पति ही उसका सबसे बड़ा शत्रु बन जाता है।


ऐसी पत्‍नी के लिए दुश्मन से भी बुरा होता है पति


बता दें कि ऐसी महिला जिसका आचरण (Chankya niti) अच्‍छा न हो, जिसके परपुरुष से संबंध हों। ऐसी पत्‍नी के लिए उसका पति ही सबसे बड़ा दुश्‍मन साबित होता है। ऐसी पत्‍नी की न केवल समाज में बदनामी होती है, बल्कि उसके कारण पूरे परिवार का मान-सम्‍मान खत्‍म हो जाता है। 


अगर पति-पत्‍नी बुरे काम करें, नशे की लत के शिकार हों या फिजूल खर्ची (wasteful expenditure) करते हों तो इसका बुरा असर भी पूरे परिवार पर पड़ता है। पति-पत्‍नी की इन बुराइयों का असर एक-दूसरे के जीवन पर होता है। इसलिए पति-पत्‍नी में से एक में भी बुरी आदतें हों तो दोनों का जीवन बर्बाद हो जाता है। 


जो पत्‍नी अगर लालची हो और लालच के लिए रोज घर में कलह (discord in the house every day due to greed) करे, तो ऐसी महिला को संतुष्‍ट करना बहुत मुश्किल होता है। ऐसी महिला को कुबेर का खजाना भी मिल जाए तो शांति नहीं मिलती है। ना ही ऐसी महिला कभी दान-पुण्‍य करती है। 


ये तो सब जानते ही है कि मूर्ख व्‍यक्ति को समझाना नामुमकिन (impossible to explain to a stupid person) होता है। मूर्ख पत्‍नी के मामले में भी ऐसा है। ऐसी मूर्ख महिला को ज्ञानी पति मिल जाए और अच्‍छी बातें बताए तो वह भी उसे अपना दुश्‍मन ही लगता है। ऐसी महिला को ज्ञानवर्धक बातें सुनना रास नहीं आता है, फिर चाहे ये बातें उसका पति ही क्‍यों न कहे।