home page

IRCTC : गरीब रथ में सफर करने वालों के लिए गुड न्यूज, किया गया ये बड़ा बदलाव

IRCTC :  गरीब रथ में सफर करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आपको बता दें कि पहले चरण में 9 गरीब रथ ट्रेनों के डिब्बों को बदले जाएंगे। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि इसके लिए 50 एसी 3 इकोनॉमी कोच पूवोत्तर रेलवे और 50 नए कोच उत्तर-पश्चिम रेलवे को मुहैया कराने के निर्दश दिए गए हैं।
 | 
IRCTC : गरीब रथ में सफर करने वालों के लिए गुड न्यूज, किया गया ये बड़ा बदलाव

HR Breaking News, Digital Desk- गरीब रथ एक्सप्रेस की सूरत बदलने वाली है। सस्ते में ही गरीबों को एसी क्लास में सफर कराने के लिए तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने साल 2006 में गरीब रथ एक्सप्रेस की शुरुआत की थी। अब इस ट्रेन में अत्याधुनिक जर्मन टेक्नोलोजी वाले एलएचबी कोच लगाने की तैयारी हो रही है।

गरीबों को सस्ते में सफर कराने के लिए गरीब रथ-

गरीबों को भी सस्ते में एसी क्लास में सफर कराने वाली ट्रेन है गरीब रथ एक्सप्रेस। गरीब रथ की शुरुआत तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने साल 2006 में की थी। इसी ट्रेन में अब अत्याधुनिक जर्मन तकनीक वाले एलएचबी डिब्बे लगाने की तैयारी है। जी हां, रेल मंत्रालय ने इसमें एसी 3 इकोनॉमी कोच लगाने का फैसला किया है। एलएचबी प्लेटफार्म पर बने इन कोचों में 80 बर्थ की व्यवस्था है।

डिब्बे बदलने की आवश्यकता-

गरीब रथ में इस समय आईसीएफ कोच लगे हैं। स्टील से बने इन डिब्बों की उम्र करीब 20 साल होती है। गरीब रथ एक्सप्रेस ट्रेनों की शुरुआत साल 2006 से हुई थी। मतलब कि इन डिब्बों को बदलने का वक्त आ गया है। इसलिए रेलवे बोर्ड ने निर्णय लिया है कि गरीब रथ ट्रेन में अब एलएचबी प्लेटफार्म पर बने एसी 3 इकोनॉमी डिब्बों को लगाया जाए। उल्लेखनीय है कि इस समय देश भर में 26 गरीब रथ ट्रेनें चल रही हैं।

पहले नौ गरीब रथ के बदले जाएंगे डिब्बे-

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पहले चरण में 9 गरीब रथ ट्रेनों के डिब्बों को बदले जाएंगे। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि इसके लिए 50 एसी 3 इकोनॉमी कोच पूवोत्तर रेलवे और 50 नए कोच उत्तर-पश्चिम रेलवे को मुहैया कराने के निर्दश दिए गए हैं। जैसे जैसे नए कोच मिलते जाएंगे, गरीब रथ एक्सप्रेस से पुराने डिब्बों की विदाई होती जाएगी।

डिब्बे नए तो किराया बढ़ जाएगा?

यहां सवाल उठता है कि जब गरीब रथ में नए एलएचबी कोच लगाए जाएंगे तो क्या इस ट्रेन का किराया बढ़ जाएगा। इसके जवाब में रेलवे बोर्ड के अधिकारी बताते हैं कि गरीब रथ एक्सप्रेस के कोच के बदलने के बाद भी पुराने दरों से ही किराया वसूला जाएगा। इस ट्रेन के किराये में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं होगा।

गरीब रथ के पुराने डिब्बों में होती है असुविधा-

गरीब रथ एक्सप्रेस के डिब्बों को जब डिजाइन किया गया था, उस समय रेल मंत्रालय का जोर किराया कम रखने पर था। इसलिए इसमें ज्यादा से ज्यादा बर्थ लगाने की कोशिश की गई थी। इसी चक्कर में साइड बर्थ में एक मिडिल बर्थ की व्यवस्था की गई थी। इस मिडिल बर्थ का यात्रियों ने खूब विरोध किया था। लेकिन अभी भी गरीब रथ एक्सप्रेस ट्रेन से इसे हटाया नहीं गया है। अब जब इसमें नए डिब्बे लगाने की कोशिश हो रही है तो यात्रियों को साइड मिडिल बर्थ से छुटकारा मिल जाएगा।