home page

IRCTC : भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन, यहां एक दो नहीं पूरे 23 प्‍लेटफॉर्म

IRCTC : आज हम आपको अपनी इस खबर में देश के सबसे बड़े रेलवे स्टेशन के बारे में बताने जा रहे है। बता दें कि यहां पर 26 पटरियों की रेलवे लाइन बिछी हुई है. वैसे भारत में छोटे-बड़े 7 हजार से अधिक स्टेशन हैं. हर दिन 13 हजार से अधिक ट्रेनें इन स्‍टेशनों से गुजरती हैं....
 | 
IRCTC : भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन, यहां एक दो नहीं पूरे 23 प्‍लेटफॉर्म

HR Breaking News, Digital Desk- Indias Biggest Railway Station- भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्‍टेशन पश्चिम बंगाल में स्थित है. यह स्‍टेशन है हावड़ा जंक्शन. इसे देश का सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन भी कहा जाता है. हावड़ा जंक्‍शन पर 5-10 नहीं पूरे 23 प्लेटफॉर्म हैं. खास बात यह है कि इस स्टेशन को कुछ यूं डिजाइन किया गया है कि लोगों को प्लेटफॉर्म पार करने के लिए पुल से होकर नहीं गुजरना पड़ता है.

 

 

हावड़ा रेलवे स्टेशन के माध्यम से विभिन्न जोन में ट्रेनों का संचालन किया जाता है. यहां पर 26 पटरियों की रेलवे लाइन बिछी हुई है. वैसे भारत में छोटे-बड़े 7 हजार से अधिक स्टेशन हैं. हर दिन 13 हजार से अधिक ट्रेनें इन स्‍टेशनों से गुजरती हैं.

हावड़ा रेलवे स्टेशन के बाद दूसरे नंबर के सबसे ज्यादा प्लेटफॉर्म वाला स्‍टेशन भी पश्चिम बंगाल में ही है. यह है सियालदह रेलवे स्टेशन. इस पर 20 प्लेटफॉर्म हैं. इस प्लेटफॉर्म को सबसे व्यस्त प्लेटफॉर्म भी कहा जाता है. यह रेलवे स्टेशन करीब सौ साल पुराना है. समय-समय पर इसमें बदलाव होता रहा है.

देश का आर्थिक राजधानी कही जाने वाले मुंबई शहर में बना छत्रपति शिवाजी टर्मिनस देश का तीसरा ऐसा रेलवे स्टेशन हैं जहां पर प्लेटफॉर्म्स की संख्या काफी अधिक है. इस रेलवे स्टेशन पर कुल 18 प्लेटफॉर्म्स हैं. UNESCO की वर्ल्ड हैरिटेज में इसे ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन का दर्जा मिला है.

देश की राजधानी में बना नई दिल्ली रेलवे स्टेशन भी देश के उन रेलवे स्टेशनों में गिना जाता है, जहां सबसे ज्यादा संख्या में प्लेटफॉर्म्स हैं. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर कुल प्लेटफॉर्म्स की संख्या 16 है.

देश का पांचवां सबसे बड़ा रेलवे स्‍टेशन चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्ट्रेशन. इस स्टेशन पर कुल प्लेटफॉर्म्स की संख्या 15 है. यहां से भी हर रोज कई ट्रेने संचालित होती हैं.

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई का रोयापुरम रेलवे स्टेशन भारतीय रेल का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन है. इसका निर्माण 1856 में हुआ था. यह रेलवे स्टेशन भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन है जो आज भी चालू है.