home page

Bank News : भूलकर भी कर दी ये गलती तो सरकार के खाते में चला जाएगा आपका सारा जमा पैसा

Bank News : हर व्यक्ति अपने बचत किए हुए पैसों को ज्यादातर अपने बैंक खाते में ही डलवा कर रखता है। और आजकल ही नही बल्कि काफी समय से ऐसा चलता आ रहा है। लेकिन क्या आपको पता है कि आपकी एक गलती से आप अपने सारे पैसों से हाथ धो सकते है। अगर नही तो आज हम आपको बताएंगे कि अपने पैसों को सुरक्षित रखनें के लिए आपको क्या करना चाहिए और क्या नही....
 | 
Bank News : भूलकर भी कर दी ये गलती तो सरकार के खाते में चला जाएगा आपका सारा जमा पैसा

HR Breaking News, Digital Desk : हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया है कि बैंको में ऐसा बहुत सा पैसा है जजो लावारिस पड़ा है जिसको मतलब है कि उस राशि को क्लेम नही किया गया है। भारत के बैंकों में जमा लावारिस रकम यानी अनक्लेम्ड डिपॉजिट (Unclaimed Deposit in Banks) बढ़ता ही जा रहा है.


बता दें कि मार्च, 2023 तक बैंकों के पास बगैर दावे वाली जमा राशि 42,270 करोड़ रुपये हो गई है. वित्त वर्ष 2021-2022 में यह राशि 32,934 करोड़ रुपये थी. जब आप बैंक में जमा डिपॉजिट्स से 10 साल या उससे अधिक समय तक कोई लेनदेन नहीं करते हैं तो वो अन-क्लेम्ड हो जाता है. दावा न किए गए जमा में चालू और बचत खातों के साथ-साथ फिक्सड-डिपॉजिट और रेकरिंग डिपॉजट भी शामिल हैं. अगर आप भी चाहते हैं कि आपका बैंकों में रखा पैसा ‘लावारिस’ न हो, तो आपको कुछ काम जरूर कर लेने चाहिए.

आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि बैंक जब किसी बैंक अकाउंट में पड़े पैसे को लावारिस घोषित कर देता है तो वह पैसा फिर जमाकर्ता शिक्षा और जागरूकता (DEA) फंड में स्थानांतरित कर दिया जाता है, जहां इसे सरकारी प्रतिभूतियों जैसे इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश किया जाता है. एक बार पैसा अनक्लेम्ड हो जाने पर आपको या आपके परिवार वालों को इसे अपना साबित करने के लिए काफी पापड़ बेलने पड़ते हैं. बैंक में रखा आपका पैसा आपके हाथ से न निकल जाए, इसके लिए एहतिहातन क्‍या कदम उठाए जाने चा‍हिए, आइये जानते हैं.


अपने बैंक खाते से करते रहें लेन-देन


अगर आप बैंक में जमा पैसे से 10 साल या उससे अधिक समय तक कोई लेन-देन नहीं करते हैं तो दिक्‍कत हो जाती है. इसलिए अपने खाते में लेन-देन करते रहें. अगर आपने एफडी कराई तो उसके मैच्‍योर होने पर या तो पैसे निकाल लें या फिर उसे रिन्‍यू करा दें.


अपने खाते में नॉमिनी बनाएं


अधिकतर ऐसा होता है कि बैंक खातों में रखा पैसा इसलिए अनक्‍लेम्‍ड (unclaimed money in banks) हो जाता है क्‍योंकि खाताधारक ने नॉमिनी नहीं बनाया होता है. अगर आपने भी ये गलती कर दी तो आपके पैसे के लावारिस होने के चांस बढ़ जाएंगे. आपकी मृत्यु के बाद आपका धन किसे मिले, अगर आप यह पहले ही बता देंगे तो बैंक को आपका पैसा उसके सही हकदार को देने में आसानी तो होगी ही नॉमिनी को भी पैसा पाने में दिक्‍कत नहीं होगी.

समय-समय पर कराएं केवाईसी अपडेट


बहुत बार ऐसा देखने को मिला है कि बैंक खातों (Bank account) में जमा राशि इसलिए भी अनक्‍लेम्‍ड हो गई क्‍योंकि खाताधारक के बारे में बैंक को पर्याप्‍त जानकारी ही नहीं थी. ऐसे में बैंक खाताधारक या उसके परिजनों से संपर्क ही नहीं कर पाए. अपने खाते को लावारिस होने से बचाने को हमेशा बैंक में अपना केवाईसी डिटेल्स अपडेट करें. अगर आपके एड्रेस में बदलाव हो गया है तो उसकी जानकारी बैंक को जरूर दें.

अपने परिवारजन के साथ सांझा करें जानकारी


बता दें कि बैंक खाताधारक के परिवार वालों को बैंक खातों या एफडी अकाउंट (Bank accounts or FD accounts) की जानकारी न होना भी पैसा अनक्‍लेम्‍ड होने का एक बड़ा कारण है. अपने बैंक खाते और एफडी आदि की जानकारी अपने परिवार को जरूर दें. यह पारदर्शिता आपके प्रियजनों को अप्रत्याशित परिस्थितियों में इन खातों को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने में मदद करेगी. ऐसा करने से आपकी गाढ़ी कमाई को लावारिस होने से बच सकता हैं. जब लोगों के पास सभी डिटेल्स रहेंगे तो वो पैसे पर अपना क्लेम कर सकते हैं.


ज्‍यादा बैंक अकाउंट रखना भी है 1 कारण


बहुत ज्‍यादा बैंक अकाउंट न रखें. जिन खातों का आप इस्‍तेमाल लंबे समय से नहीं करा रहे हैं, उनमें जमा धनराशि निकाल कर उन्‍हें बंद करा दें. ऐसा करने से धन के लावारिस होने का जोखिम तो कम होगा ही धनराशि कंसॉलिडेट करने से वित्तीय प्रबंधन (financial management) सरल हो जाता है.


अपनी एफडी की रिसीप्ट संभालकर रखें


फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में निवेश करते समय, एफडी पर्चियों को सुरक्षित रूप से रखें. ये दस्तावेज़ आपके निवेश के सबूत के रूप में काम करते हैं और नामांकित व्यक्तियों या लाभार्थियों के लिए धन का दावा करने के लिए महत्वपूर्ण हैं.