home page

Business Idea : 40 रुपये किलो बिकेगी 10 रुपये किलो लागत वाली ये चीज, बिजनेस शुरू कर कमा सकते हैं मोटा पैसा, सरकार भी करेगी मदद

Small Business Idea : आज कल के समय में कोई काम मुश्किल या छोटा नही है। यदि आप घर में रह कर ही किए जाने वाले किसी बिजनेस के बारे में सोच रहे है तो हम आपकी इस दुविधा का हल आपको बताने वाले है। आज हम आपको ऐसे बिजनेस के बारें में बताएंगे जिसकी डिमांड कभी कम हो ही नही सकती है। ये बिजनेस खान-पान से संबंधित है तो आप समझा ही गए होंगे कि यह पूरा साल ही चलेगा। आइए जान लेते है कम लागत में शुरू होन वाले इस बिजनेस के बारे में..
 | 
Business Idea : 40 रुपये किलो बिकेगी 10 रुपये किलो लागत वाली ये चीज, बिजनेस शुरू कर कमा सकते हैं मोटा पैसा, सरकार भी करेगी मदद

HR Breaking News (ब्यूरो) : यदि आप अपने घर पर बैठे ही कम जगह में कोई धंधा शुरू करना चाहते हैं, तो ये कम लागत वाले बिजनेस का आइडिया (Business idea) आपको बढ़िया कमाई का मौका दे सकता है. इस प्रोडक्ट की खासियत ये है कि मार्केट में इसकी डिमांड बहुत ज्यादा रहती है. खाने का ये सामान जहां लोगों के स्नैक्स का अहम हिस्सा है, वहीं आजकल पॉपुलर डाइट फूड में भी लोग इसे खूब इस्तेमाल करते हैं. वहीं इसका होल सेल रेट सिर्फ 40 रुपये प्रति किलो होने से इसकी खरीदारी बनी रहती है.


आज हम बात कर रहे है मुरमुरा बनाने के बिजनेस (Murmura making business) के बारे में. वही मुरमुरा जो भेलपूरी से लेकर झालमुरी जैसे पॉपुलर स्नैक्स का हिस्सा है. वहीं इसकी डिमांड देश के हर कोने में जबरदस्त है.

इस तरह शुरू करें मुरमुरा मेकिंग का बिजनेस
आपको बता दें कि मुरमुरा मेकिंग के बिजनेस को सरकार का खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) और राष्ट्रीय लघ उद्योग निगम (NSIC) भी सपोर्ट करता है. इस बिजनेस के बारे में आप इनके सेंटर से भी डिटेल प्राप्त कर सकते हैं. खादी और ग्रामोद्योग आयोग तो इसके लिए एक रोजगार योजना भी चलाता है.


यदि आप मुरमुरा मेकिंग की मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट (murmura manufacturing unit) लगाना चाहते हैं, तो पहले इसकी एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार होती है. आम तौर पर इस बिजनेस को शुरू करने की लागत 3.5 से 4 लाख रुपये के बीच आती है. अगर आपके पास पैसे नहीं है, तो प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना (Mudra Yojana) के तहत आप इसके लिए लोन भी ले सकते हैं.

इसे बनाने के लिए से है जरूरी सामान 


मुरमुरा बनाने के लिए कच्चा माल के तौर पर धान या चावल का इस्तेमाल होता है. चावल को आप अपनी खपत के अनुसार खरीद सकते हैं. इसे आप अपने शहर की मंडी से भी खरीद सकते हैं. बस एक बात ध्यान रखें कि चावल जितनी अच्छी क्वालिटी का होगा, मुरमुरा उतनी ही अच्छे स्वाद का बनेगा और खाने के काम में स्वाद ही सबसे अहम होता है.

मुरमुरा को बनानें के लिए चावल को ऊंचे तापमान पर पफ करके (puffed rice used to make murmura) बनाया जाता है. इसे आप पॉपकॉर्न बनाने की प्रक्रिया की तरह समझ सकते हैं. इसलिए मुरमुरा बनाने की यूनिट में आपको कोई खास मशीनरी की जरूरत नहीं पड़ती है. छोटे स्तर पर शुरू करना चाहें तो एक बड़ी कड़ाही से भी आप इस धंधे को शुरू कर सकते हैं.

मुरमुरा के बिजनेस के लिए चाहिए होगा ये लाइसेंस


दरअसल मुरमुरा एक खाने-पीने का सामान है. इसलिए आपको भारतीय खाद्य संरक्षा और मानक प्राधिकरण यानी FSSAI से इसका लाइसेंस लेना होता है. इसकी लागत 10,000 रुपये से भी कम बैठती है. आप अपने बिजनेस के लिए चाहें तो ट्रेडमार्क भी रजिस्टर्ड करा सकते हैं. इस बिजनेस के लिए आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

जब भी आप पैकेज्ड फूड वाले किसी बिजनेस में जाते हैं तो आपको फिर एक पैकेजिंग मशीन और पैकेट की जरूरत पड़ेगी. पैकेजिंग यूनिट की शुरुआती लागत करीब 2 लाख रुपये के आसपास बैठती है. पर आप चाहें तो अपने इलाके में किसी से कॉन्ट्रैक्ट पर भी पैकेजिंग करवा सकते हैं.

इतनी है डिमांड और कमाई


मुरमुरा के उत्पादन में 1 किलो की लागत 10 से 20 रुपये तक पड़ती है. जबकि मार्केट में होल सेल रेट पर ये 30 से 40 रुपये किलो तक, जबकि पैकेट में 80 से 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक के भाव पर इसे बेच सकते हैं. यानी आपकी लागत पर बढ़िया मुनाफा (Profitable business idea) होगा और आप हर महीने लाखों रुपये कमा सकते हैं.

अगा बात करें इसकी डिमांड की, तो नमकीन बनाने वाली इकाइयों से लेकर, गली मोहल्ले की दुकानों और मॉल के रिटेल ग्रॉसरी स्टोर तक में इसकी अच्छी डिमांड है. यानी एक बार आप सप्लाई चेन का हिस्सा बन गए तो आपकी डिमांड कभी कम नहीं होने वाली है.