home page

Gold limit Income Tax Rules: कहीं आपके पास तो नहीं है इस लिमिट से ज्यादा साेना, कभी भी पड़ सकता है इनकम टैक्स का छापा, जान लें नियम

सोने के आभूषण लगभग हर दूसरे भारतीय घर में मौजूद रहते हैं। खास कर शादी के शुभ अवसर का सोने का महत्व और बढ़ जाता है। हर की बहू-बेटी के पास सोने के आभूषण होना आम है। ऐसे में आपको घर में गोल्ड रखने के नियम की जानकारी होना जरूरी है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) के नियम चेक किया जाना जरूरी है।आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से.

 | 
Gold limit Income Tax Rules:  कहीं आपके पास तो नहीं है इस लिमिट से ज्यादा साेना, कभी भी पड़ सकता है इनकम टैक्स का छापा, जान लें नियम

HR Breaking News (नई दिल्ली)। सदियों से भारतीयों को सोने से एक अलग ही लगाव रहा है। आज के समय में भी विवाह जैसे शुभ अवसरों पर सोने का महत्व और भी बढ़ जाता है।घर की बेटी-बहू के लिए सोने के गहने तैयार किए जाते हैं, ऐसे में हर दूसरे घर में सोना होना आम बात हैं।
हालांकि, लिमिट से ज्यादा सोना रखना आपके सर एक बड़ी मुसीबत ला सकता है। आपके घर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का छापा पड़ सकता है।

कितना सोना रखना है सही


दरअसल, सोना रखने के महत्व को समझते हुए कुछ नियम बनाए गए हैं। इन नियमों के तहत एक लिमिट तक सोना रखा जा सकता है-


घर में सोना रखने के लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने 1994 में निर्देश जारी किया था। इन निर्देशों के मुताबिक-

  • एक मैरिड महिला के पास 500 ग्राम तक का गोल्ड हो सकता है।
  • एक अनमैरिड महिला के पास 250 ग्राम तक का गोल्ड हो सकता है।
  • किसी मैरिड या अनमैरिड पुरुष के पास 100 ग्राम तक का गोल्ड हो सकता है।


कब खड़ी हो सकती है परेशानी


यहां आपको समझने की जरूरत है कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज का यह नियम गोल्ड रखने को लेकर किसी तरह का कानूनी अधिकार नहीं देता है।
यह केवल छापों के दौरान टैक्सपेयर को गोल्ड जब्ती से बचाने के लिए बने हैं। यह नियम परिवार के सदस्यों पर ही लागू होते हैं।
घर के बाहर किसी दूसरे सदस्य के पास गोल्ड मिलता है तो इनकम टैक्स अधिकारी इसे जब्त कर सकते हैं।