home page

Note update : 10, 20, 100 और 500 रुपये के नोट को लेकर RBI ने कही बड़ी बात

इंडियन करंसी (Indian currency) के नोट छापने का अधिकार भारत सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास होता है। लेकिन, नोट छापने का फैसला RBI अकेले नहीं ले सकता है। इसके लिए आरबीआई (RBI) को भारत सरकार से इजाजत लेनी होती है। सरकार भी इस फैसले को लेने के लिए आरबीआई (RBI) से पूरा विचार-विमर्श करती है और इसके बाद ही अंतिम फैसला किया जाता है। इसी बीच 10, 20, 100 और 500 रुपये के नोट को लेकर बड़ा अपडेट सामने आया है। आइए नीचे खबर में विस्तार से जानते हैं- 

 | 
Note update : 10, 20, 100 और 500 रुपये के नोट को लेकर RBI ने कही बड़ी बात 

HR Breaking News (ब्यूरो)। देशभर में करेंसी नोटों को लेकर तरह-तरह की खबरें सुनने को मिल रही हैं। 19 मई 2023 को सरकार ने 2000 रुपये के नोटों को चलन से बाहर कर दिया था। इस बीच RBI ने एक अहम बयान जारी किया है। केंद्रीय बैंक ने 'स्टार' (note with star) चिन्ह वाले 10, 20, 100 और 500 रुपये के नोट को लेकर एक अहम बयान जारी किया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 'स्टार' वाले नोटों के लिए कहा है कि ये नोट वैलिड हैं।

स्टार वाले नोट क्यों जारी किये जाते हैं?

EMI भरने वालों को RBI ने दी बड़ी राहत, बैंक लोन डिफॉल्ट से जुड़े नए नियम हुए लागू

गलत छपे नोटों की जगह छपे नोटों में स्टार का चिन्ह दिया जाता है। इन नोटों में सीरियल नंबर की जगह स्टार का चिन्ह लगा होता है। आरबीआई (RBI) ने कहा कि नोटों के बंडल में गलत तरीके से छपे नोटों को स्टार चिन्ह वाले नोटों से बदला जा रहा है।


क्या ये नोट मान्य हैं? 

सोशल मीडिया पर ऐसे कई पोस्ट और मैसेज आ रहे थे। इन मैसेज में नंबर पैनल पर स्टार के निशान वाले नोटों की वैलिडिटी को लेकर चिंता जताई गई थी। RBI ने एक बयान जारी कर इस चिंता को दूर कर दिया है। आरबीआई ने कहा है कि स्टार मार्क वाला नोट अन्य वैध नोटों की तरह ही चलन में रहेंगे। किसी नोट पर स्टार का निशान यह दिखाता है कि नोट में बदलाव किया गया है या उसे दोबारा छापा गया है। RBI ने यह साफ कर दिया है।

ऐसे बदल सकते हैं दो हजार के नोट

इसके लिए लोगों को ऑनलाइन उपलब्ध एक आवेदन पत्र भरना होगा और नोटों को भारतीय डाक की किसी भी सुविधा से आरबीआई के कार्यालय को भेजना होगा। फॉर्म आरबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध है। असल में 2,000 रुपये के नोट बदलने के लिए आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों में अब भी लोगों की कतारें लग रही हैं। आरबीआई के एफएक्यू के मुताबिक, एक व्यक्ति डाकघर से मिलने वाली सुविधा के साथ रिजर्व बैंक के 19 कार्यालयों में एक बार में 20,000 रुपये की सीमा तक नोट बदल सकता है या जमा कर सकता है।

अभी तक इतने नोट आए वापस

7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए जरूरी खबर, 30 अप्रैल तक निपटा लें ये काम

आरबीआई ने पिछले साल मई में 2,000 रुपये के नोटों को वापस लेने के अपने फैसले की घोषणा की थी। इस नोट को नवंबर, 2016 में नोटबंदी के समय पहली बार जारी किया गया था। आरबीआई ने कहा था कि 2,000 रुपये के नोटों को वापस लेने का निर्णय इसलिए लिया गया क्योंकि इनमें से अधिकांश नोट अपनी अपेक्षित जीवन-अवधि पूरा कर चुके हैं और लोग भी लेनदेन में इनका अधिक इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। मई 2023 तक चलन में मौजूद 2,000 रुपये मूल्य के 97.38 प्रतिशत से अधिक नोट वापस लिए जा चुके हैं। हालांकि अब बैंक शाखाओं में इस नोट को बदलने या जमा करने की अनुमति नहीं है लेकिन आरबीआई ने वैकल्पिक माध्यम मुहैया कराए हैं।