home page

FD में ब्याज के अलावा मिलते हैं ये 5 बड़े फायदे, 90 प्रतिशत लोगों को नहीं है जानकारी

Benefits available in fixed deposit - भविष्य को सुरक्षित करने के लिए लोग निवेश करना पसंद करते हैं। और जब बात निवेश की आती है तो ऐसे में सबसे पहले एफडी यानी फिकस्ड डिपॉजिट (FD) में निवेश करने के बारे में सोचते हैं। क्योंकि यहां पर गारंटीड रिटर्न मिलता है और पैसे भी सेफ रहते हैं। इसलिए ज्यादातर लोग एफडी में निवेश करना पसंद करते हैं। लेकिन वहीं, अधिकतर लोगों को एफडी में ब्याज के अलावा मिलने वाले पांच बड़े फायदों के बारे में जानकारी नहीं होती है। अगर आप भी FD में निवेश करते हैं तो जरूर जान लें ये 5 बातें- 
 | 

HR BREAKING NEWS (ब्यूरो)। हर कोई अपनी कमाई को बढ़ाना चाहता है और ऐसे में निवेशक निवेश के लिए कम रिस्क और ज्यादा रिटर्न वाले ऑप्शन खोजते हैं। अगर आप भी ऐसे ही विकल्प की तलाश कर रहे हैं तो ये खबर आपके काम की है। दरअसल, जब बात निवेश की आती है तो अधिकतर लोग एफडी (Fixed Deposit) की बात करते हैं। एफडी को तवज्जो इसलिए दी जाती है, क्योंकि वहां पर आपको गारंटी के साथ रिटर्न मिलता है। बहुत से लोग एफडी कराने के बजाय पैसा म्यूचुअल फंड या अन्य जगहों पर लगाने की भी सलाह देते हैं।


ऐसा इसलिए ताकि अधिक रिटर्न पाया जा सके। वहीं बाकी जगहों पर रिटर्न की गारंटी नहीं होती। तो अगर आप अपने पैसे पर गारंटी के साथ रिटर्न चाहते हैं तो एफडी बेहतर विकल्प है। इतना ही नहीं, एफडी करने के कई फायदे (Benefits of Fixed Deposit) हैं। तो एफडी कराते वक्त सिर्फ उस पर मिलने वाला ब्याज (FD Rate) ही ना देखें, बल्कि और भी चीजों को ध्यान में रखें।


1- एफडी पर लोन या ओवरड्राफ्ट की सुविधा


बहुत सारे लोगों को ये नहीं पता है कि वह जो एफडी कराते हैं, उस पर उन्हें बैंक से आसानी से लोन भी मिल जाता है। कुछ बैंक उसके आधार पर ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी भी देते हैं। एफडी आपकी एक गारंटी जैसा होता है कि अगर आप लोन नहीं चुका सके तो लोन के पैसे आपकी एफडी(FD) से कवर कर लिए जाएंगे। तो अब अगर आप एफडी की तुलना किसी और निवेश से करें तो यह भी उसमें ध्यान रखें कि एफडी पर आपको लोन मिल सकता है।


2- एफडी पर मिलता है इंश्योरेंस कवर


अगर आपने बैंक में एफडी कराई हुई है तो उस पर आपको डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (DICGC) का इंश्योरेंस कवरेज मिलता है। अगर आपका बैंक डिफॉल्ट कर देता है या दिवालिया हो जाता है तो आपको इस इंश्योरेंस कवर के तहत 5 लाख रुपये तक मिल जाएंगे, जिसमें मूलधन और ब्याज दोनों ही शामिल होंगे। यानी आपके रिटर्न की तो गारंटी होगी ही, 5 लाख रुपये तक वापस मिलने की भी गारंटी होगी।


3- मुफ्त लाइफ इंश्योरेंस का फायदा


बहुत से ऐसे बैंक हैं तो अपने यहां एफडी कराने वालों को मुफ्त में लाइफ इंश्योरेंस (free life insurance)का एक अतिरिक्त फायदा देते हैं। बैंक ऐसा ऑफर इसलिए देते हैं, ताकि वह अधिक से अधिक लोगों को एफडी के लिए आकर्षित कर सकें। इसके तहत बैंक अपने ग्राहकों को फिकस्ड डिपॉजिट (FD) की रकम के बराबर लाइफ इंश्योरेंस की पेशकश करते हैं। हालांकि, इसमें उम्र की एक सीमा भी तय होती है। देखा जाए तो बैंक अपना रिस्क कैल्कुलेट कर के ग्राहकों को लाइफ इंश्योरेंस देते हैं, जो फायदे का सौदा है।


4- टैक्स से जुड़े फायदे


अगर आप 5 साल या उससे अधिक दिनों के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit Interest Rate) करते हैं तो उस पर आप आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80सी के तहत टैक्स छूट क्लेम कर सकते हैं। इसके तहत साल भर में आप 1.5 लाख रुपये तक पर टैक्स छूट पा सकते हैं। हालांकि, अगर आप 5 साल से कम की एफडी कराते हैं तो आपको टैक्स चुकाना होगा। अगर किसी साल में तमाम बैंकों से मिला ब्याज 40 हजार रुपये से अधिक होता है तो उस पर भी टैक्स लगेगा।


5- गारंटी के साथ रिटर्न


FD की सबसे खास बात यही होती है कि इसमें आपको गारंटी के साथ रिटर्न मिलता है। यानी अगर आप 5 साल या 10 साल या कितने भी साल बाद की प्लानिंग कर रहे हैं तो एफडी में आपको ये पक्के तौर पर पता होता है कि आपको मेच्योरिटी पर कितने पैसे मिलेंगे। ऐसा इसलिए कि एफडी पर फिक्स रिटर्न मिलता है। वहीं म्यूचुअल फंड, एनपीएस, ईएलएलएस जैसे निवेशों में रिटर्न हर साल कम-ज्यादा होता है और शेयर बाजार की चाल पर निर्भर करता है।