home page

IAS टीना डाबी की कितनी है सैलरी, जानिये कौन कौन सही मिलती हैं सुविधाएं

IAS Tina Dabi Salary : आप आईएएस टीना डाबी के बारे में तो जानते ही होंगे। यूपीएससी की परीक्षा में टॉप करने के बाद से ही वजह लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। आइए नीचे खबर में जानते हैं कि IAS टीना डाबी को कितनी सैलरी मिलती है और कौन-कौन सी सुविधाएं मिलती हैं। 
 | 
IAS टीना डाबी की कितनी है सैलरी, जानिये कौन कौन सही मिलती हैं सुविधाएं

HR Breaking News, Digital Desk - आईएएस टीना डाबी (IAS Tina Dabi) महिला IAS आईएएस अफसरों में सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहने वाली अधिकारी हैं. टीना डाबी फिलहाल जैसलमेर की कलेक्टर है. आईएएस टीना डाबी 9 नवंबर 1993 में एमपी के भोपाल में जन्म हुआ था. उन्होंने 2015 में यूपीएससी टॉप किया, जिसके बाद से ही वह चर्चा में हैं. आईएएस टीना डाबी किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं हैं. उनकी फैन फॉलोइंग की बात करे तो लाखों में है. उनके फेसबुक और इंस्टाग्राम पर तस्वीरें वायरल होती रहती है. इनदिनों उनकी सैलरी के बारे में जानने के लिए लोगों में काफी उत्सुकता है.  ऐसे में हम आपको जैसलमेर की डीएम टीना डाबी के सैलरी से लेकर उनकी उपलब्धियां के बारे में बताएंगे जिसकी वजह से वे हमेशा सुर्खियां में बनी रहती हैं. 
सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाली टीना डाबी युवाओं के रोल मॉडल

सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाली टीना जैसलमेर की 65वीं कलेक्टर है. टीना डाबी अपनी दूसरी शादी को लेकर चर्चा में रही. साल 2015 यूपीएससी में दूसरे स्थान पर रहे कश्मीरी मूल के अतहर आमिर से टीना ने 2018 में शादी की थी. हालांकि दोनों की शादी ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाई. यह शादी 2 साल में ही टूट गई. इसके बाद टीना की राजस्थान कैडर के आईएएस प्रदीप गवांडे से मुलाकात हुई. दोनों के बीच दोस्ती हुई और प्यार हुआ. हाल ही में टीना ने प्रदीप के साथ 7 फेरे लेकर उन्हें अपना जीवनसाथी चुना है. 

इतनी है सैलरी मिलती हैं ये तमाम सुबिधाएं

राज्य का एक जिला कलेक्टर सम्पूर्ण जिले की कार्य विधि का भार उनके कंधो पर होता है. बात करें सैलरी की तो एक कलेक्टर की सैलरी करीब 2.5 लाख रुपये तक होती है. वहीं  राजस्थान सरकार में जिला कलेक्टर की सैलरी 1.34 लाख रुपये से लेकर 1.45 लाख रुपये तक होती है. इससे पहले टीना डाबी वित्त विभाग में तैनात थीं. तब आईएएस टीना डाबी को 56100 रुपये सैलरी मिलती थी. 


टीना डाबी लाखों की सैलरी के अलावा इन्हें कई तरह की सुविधाएं भी दी गई हैं. भारत सरकार की तरफ से जिला कलेक्टर को सरकारी आवास और एक गाड़ी दी जाती है. इसके साथ ही उन्हें ड्राइवर और नौकर भी दिए जाते हैं. सरकारी आवास पर बगीचे के रख-रखाव के लिए माली मिलते हैं और खाना बनाने के लिए कुक भी दिया जाता है. इसके अलावा अन्य कामों के के लिए पर्सनल असिस्टेंट की भी सुविधा मिलती है. 


टीना डाबी को देख युवाओं और युवतियों में प्रशासनिक सेवाओं में सेवा देने के लिए काफी क्रेज देखा गया है. खासकर राजस्थान के युवा यूपीएससी जॉब्स की तैयारी में जुटे हुए हैं. बता दें कि ज्यादातर युवाओं में आईएएस, आईपीएस रैंक के अफसर बनने का क्रेज होता है. आईएएस ऑफिसर की पोस्ट काफी आदर-सम्मान और जिम्मेदारी वाली मानी जाती है. टीना डाबी को आज राजस्थान के युवा रोल मॉडल के रुप में देख रहे है.