home page

Success Story : बुजुर्ग की फरियाद सुनने के लिए जमीन पर बैठ गई IAS, जानिये कौन है ये अधिकारी

Success Story, IAS Soumya Pandey: आज हम आपको एक ऐसी आईएएस अफसर के बारे में बताने जा रहे हैं जो काफी समय से एक बात को लेकर चर्चा में हैं। दरअसल, इस अफसर ने जमीन पर बैठकर एक बुजुर्ग व्यक्ति की फरियाद सुनी। आइए जानते हैं कि सौम्या पांडेय की पुरी कहानी...
 | 
Success Story : बुजुर्ग की फरियाद सुनने के लिए जमीन पर बैठ गई IAS, जानिये कौन है ये अधिकारी

HR Breaking News (नई दिल्ली)। Success Story : जमीन पर बैठकर एक बुजुर्ग से बात करती एक आईएएस अधिकारी का वीडियो हाल के दिनों में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. जिसने भी वीडियो देखा, वह अधिकारी की संवेदनशीलता की तारीफ किए बिना नहीं रह सका. इस वीडियो में थीं कानपुर देहात की सीडीओ यानी चाइल्ड डेवलपमेंट ऑफिसर सौम्या पांडेय.

महिलाओं और बच्चों के विकास को लेकर उनके कार्यों की चर्चा अक्सर ही होती रहती है. उन्हें साल 2020 में बेस्ट कलेक्टर का अवार्ड भी मिला था. शायद आपको याद हो कि एक आईएएस अधिकारी ने बेटी को जन्म देने के 22वें दिन ऑफिस ज्वाइन कर लिया था. इसकी खूब चर्चा हुई थी. वह यही सौम्या पांडेय थीं. साल 2020 में जब कोविड के चलते हालात बिगड़ रहे थे तो सौम्या पांडेय ने मैटरनिटी लीव पर रहने की बजाए काम करना चुना.

आईएएस सौम्या पांडेय मूल रूप से उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (इलाहाबाद) की हैं. उनकी पढ़ाई भी प्रयागराज से ही हुई थी. उन्होंने 10वीं में 98% और 12वीं में 97.8% अंकों के साथ अपने जिले में टॉप किया था. उन्होंने साल 2015 में एमएनएनआईटी इलाहाबाद से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया था. वह बीटेक में गोल्ड मेडलिस्ट रही हैं.


पहले ही प्रयास में टॉप की थी यूपीएससी परीक्षा -

सौम्या पांडेय ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद एक साल का ब्रेक लेकर यूपीएससी की तैयारी की थी. इसके बाद उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा दी और पहले ही अटेम्प्ट में महज 23 साल की उम्र में वह यूपीएससी टॉप कर गईं. सौम्या पांडेय एनसीसी बी और सी सर्टिफिकेट होल्डर होने के साथ एक ट्रेंड कथक डांसर भी हैं. इसके अलावा वह बास्केट बॉल की बेहतरीन खिलाड़ी भी हैं.

यूपीएससी उम्मीदवारों के लिए शेयर करती रहती हैं स्ट्रेटजी -
आईएएस सौम्या पांडेय अक्सर ही यूपीएससी उम्मीदवारों के लिए अपनी स्ट्रेटजी शेयर करती रहती हैं. उनका मानना है कि सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा के लिए बेसिक्स को अच्छी तरह क्लियर करना चाहिए. इसके लिए एनसीईआरटी की बुक्स से अच्छा कुछ और मैटेरियल नहीं हो सकता. इसके पढ़ने के बाद ही स्टैंडर्ड बुक्स पर जाएं. वह कहती हैं कि यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए टेस्ट सीरीज बहुत जरूरी है.