home page

Success Story: रातों रात हो गए कंगाल, फिर भी नहीं मानी हार, मेहनत और लग्न से खडा कर दिया 300 करोड़ का कारोबार

Success Story: हम आपके लिए सफलता की ऐसी कहानी लेकर आए हैं जिसे सुनकर आपको मेहनत और जुनून पर विश्वाश हो जाएगा। हम आपको ऐसे इंसान की संघर्ष की कहानी बताने जा रहे हैं जिनकी कंपनी रातों रात डुब गई और उन्होनें हार नहीं मानी, बल्कि मेहनत से 300 करोड़ का कारोबार खडा कर दिया, जानिए इनकी कहानी...
 | 
Success Story: रातों रात हो गए कंगाल, फिर भी नहीं मानी हार, मेहनत और लग्न से खडा कर दिया 300 करोड़ का कारोबार

HR Breaking News (नई दिल्ली)। Success Story: अर्थशास्त्र में कहा गया है कि व्यवसाय करने के लिए जोखिम उठाना पड़ता है. क्योंकि, इसमें कई तरह की चुनौती होती है और इन्हीं चैलेंज का सामना करके कोई व्यक्ति कामयाब बिजनेसमैन बनता है. हम आपको एक ऐसे युवा उद्यमी की कहानी बताने जा रहे हैं जिसने ना सिर्फ जोखिम उठाया बल्कि दिवालिया होने के बावजूद हिम्मत दिखाई और अपनी कंपनी को फिर से खड़ा कर दिया।

संघर्ष और सफलता की ये कहानी तीन दोस्तों की है, जिन्होंने अपनी मेहनत से 40 करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी. एक समय ऐसा लगने लगा कि मानो मेहनत सफल हो गई और सपने पूरे हो गए. लेकिन, बिजनेस में लाभ और हानि दोनों संभव है. अचानक कुछ ऐसा हुआ कि इन तीनों दोस्तों की कंपनी रातों-रात डूब गई और सभी रोड पर आ गए. पैसा भले ही चलाया गया लेकिन हौसला नहीं गया. इसके बाद तीनों ने मिलकर पहले से 10 गुना बड़ी कंपनी खड़ी कर दी. 


कॉलेज में ही बना लिया बिजनेसमैन बनने का मन -
विनय सिंघल, प्रवीण सिंघल और शशांक वैष्णव ने कॉलेज से पास होते ही एक खास स्टार्टअप को शुरू करने का सपना देखा. इसके लिए उन्होंने मार्क जकरबर्ग की तरह सोशल मीडिया प्लेटफार्म तैयार करने का मन बनाया, जिसे देश और दुनिया में जाना जाये. WittyFeed की शुरुआत से उन्होंने इस सपने को साकार किया. यह एक फेसबुक पेज था जो फनी और इंट्रेस्टिंग कंटेंट शेयर करता था.

धीरे-धीरे उनकी कंपनी ग्लोबल लेवल पर काम करने लगी. एक समय ऐसा आया जब वे कंपनी से लगभग 40 करोड़ का रेवेन्यू कमा रहे थे. लेकिन, अचानक 25 नवंबर 2018 को फेसबुक ने उनके पेज को ब्लॉक कर दिया. इसके बाद तो मानो वे सड़क पर आ गए.


मुश्किल वक्त में फिर दिखाई हिम्मत -
विनय ने बताया कि उस समय ऐसा लग रहा था जैसे सबकुछ खत्म हो गया. नुकसान बहुत बड़ा था लेकिन फिर भी विनय ने हौसला रखा. इस मुश्किल वक्त में सबसे उन्होंने कर्मचारियों को 3 महीने तक सैलरी दी. 3 महीने इंतजार करने के बाद तीनों दोस्तों को STAGE ऐप तैयार का आइडिया आया.

इसके लिए उन्होंने अपने कर्मचारियों से मदद मांगी. विनय और उनके तीनों दोस्तों का हौसला देखकर सभी कर्मचारी काम करने के लिए तैयार हो गए. इसके बाद 1 नवंबर 2019 को विनय ने अपने साथियों के साथ मिलकर STAGE ऐप लॉन्च किया. अब कंपनी की वैल्यूएशन 300 करोड़ तक है.


STAGE ऐप, एक OTT प्लेटफॉर्म है जिस पर हरियाणवी, मारवाड़ी जैसी बोलियों में लोकल कंटेंट, वेब सीरिज और शॉर्ट फिल्में आदि मिलेंगी. STAGE App को लोकल बोलियों के कंटेंट का Netflix भी कहा जाता है.