home page

Whiskey : भारत की इस शराब की दुनिया है दीवानी, हासिल किया बेस्ट व्हिस्की का ख़िताब, इतने में आती है बोतल

Liquor : शराब पीने वालों की संख्या हर रोज बढ़ती ही जा रही है। हालांकि हर जगह पढ़ने और सुनने को यही मिलता है कि इसकी एक बूंद भी हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस भारतीय शराब के बारे में जिसकी दुनिया है दीवानी। आपको बता दे कि इस शराब ने बेस्ट व्हिस्की का ख़िताब भी हासिल कर लिया है। आइए खबर मैं जानते हैं इसकी बोतल की क्या है कीमत
 | 

HR Breaking News, Digital Desk - शराब शौकीनों (wine lovers) के लिए खुशखबरी है। दरअसल, भारत में बनी व्हिस्की को दुनिया की सबसे बेस्ट व्हिस्की (World's best whiskey) का ख़िताब मिला है। जी हां, अमृत डिस्टिलरीज को ‘दुनिया की सबसे अच्छी व्हिस्की’ के खिताब से नवाजा गया है। लंदन में 2024 इंटरनेशनल स्पिरिट्स चैलेंज में अमृत डिस्टिलरीज की जीत भारत की स्पिरिट्स इंडस्ट्री (Best Whiskey Award के लिए महत्वपूर्ण पल था। 


इस चैलेंज के 29वें संस्करण में दुनियाभर के टॉप व्हिस्की ब्रांड (Top Whiskey Brands) शामिल थे। इनमें स्कॉटलैंड, आयरलैंड और जापान के नाम प्रमुख थे लेकिन खिताब भारत के हाथ लगा। ऐसे में आइए जानते हैं इस व्हिस्की ब्रांड को बनाने वाला मालिक और उनके पास कितनी दौलत है?


देश-विदेश में मशहूर है व्हिस्की (Top Whiskey Brands)


अमृत भारत की पहली सिंगल माल्ट व्हिस्की (India's first single malt whiskey) है। आज देश-विदेश में यह मशहूर है। इस ब्रांड को आजादी के बाद 1948 में जेएन राधाकृष्ण राव जगदाले ने शुरू किया था। उनके बेटे नीलकंठ जगदाले ने इसे आगे बढ़ाया। अमृत डिस्टिलरीज शुरुआत में इंडियन मेड फॉरेन लिकर (IMFL) बनाती थी। यह ज्यादातर कर्नाटक और केरल के कैंटीन स्टोर्स को सप्लाई होती थी। आज जो मुख्य डिस्टिलरी है, वह 1987 में बनी। यह कंबीपुरा में है और चार एकड़ में फैली है।


1976 में जेएन राव जगदाले का निधन हो गया था। उनके बाद उनके बेटे नीलकंठ राव जगदाले ने कंपनी की कमान संभाली। वह कंपनी के सीएमडी बने। उनके नेतृत्व में अमृत डिस्टिलरीज ने नया मुकाम हासिल किया है। कंपनी ने बहुत तरक्की की और इंडस्ट्री में बड़ा नाम कमाया।


इतनी है नेटवर्थ


पिता के निधन के बाद रक्षित एन. जगदाले ने इस विरासत को आगे बढ़ाया। उन्होंने इसे मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में संभाला। रक्षित ने आधुनिक बाजार की जरूरतों को पूरा करने के लिए कई अहम बदलाव किए। 2022 में जगदाले ने बताया कि अमृत एक नया ब्रांड ‘सिंगल माल्ट्स ऑफ इंडिया’ लॉन्च करने जा रही है। इस प्रोजेक्ट के जरिए अमृत भारत के अलग-अलग हिस्सों से बेस स्पिरिट खरीदकर उन्हें अलग-अलग तरीकों से मैच्योर करके बेचेगी। इस रिसर्च का पहला नतीजा था अमृत नीधल पीटेड इंडियन व्हिस्की। इसे भारत के तटीय इलाकों से लाई गई बेस स्पिरिट से बनाया गया था।


इतनी है एक बोतल की कीमत? (Amrit Single Malt Whiskey)


रिपोर्ट के मुताबिक, इसकी 12,000 बोतलों में से 1,200 बोतलें भारत में 5,996 रुपये में बिकीं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जगदाले परिवार की नेटवर्थ 70,000 करोड़ रुपये से ज्यादा है।
2004 में इस व्हिस्की को ‘अमृत सिंगल माल्ट व्हिस्की’ (Amrit Single Malt Whiskey)  के नाम से ग्लासगो, स्कॉटलैंड में लॉन्च किया गया। ब्रिटेन में लॉन्च होने के दो साल के भीतर ही यह स्कैंडिनेविया और पश्चिमी यूरोप में भी फैल गई। अगस्त 2009 में अमृत सिंगल माल्ट व्हिस्की ऑस्ट्रेलिया में लॉन्च हुई। फिर 2008 में दक्षिण अफ्रीका में। इस तरह इसने दुनिया भर में अपनी पहचान बनाई।