home page

Bihar Rain Alert : बिहार में 48 घंटों में भारी बारिश और वज्रपात का अलर्ट, यहां चेक करें मौसम का लेटेस्ट अपडेट

Bihar Today Mausam update - देश भर में मौसम का मिजाज बदला हुआ है। आसमान में काले बादल छाए हुए हैं आज सुबह से कई जगहों पर हल्की व भारी बारिश देखने को मिली है। दिल्ली एनसीआर और नोएडा में आज झमाझम बारिश हुई है। वहीं, इसी दौरान मौसम विभाग ने उत्तर बिहार में अगले 48 घंटों में मूसलाधार बारिश और वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। आइए जानते हैं कहां कब होगी बारिश - 

 | 

HR Breaking News (ब्यूरो)। पिछले 24 घंटों के दौरान बिहार में मानसून (Bihar Monsoon Update) की स्थिति बेहद कमजोर रही। हालांकि भारी वर्षा रोहतास और मधेपुरा जिले के एक या दो स्थानों पर दर्ज की गई। जबकि हल्की से मध्यम स्तर की वर्षा दक्षिण पूर्व भाग के अनेक स्थानों पर दर्ज की गई। वहीं उत्तर पश्चिम, उत्तर पूर्व और दक्षिण पश्चिम भागों के कुछ स्थानों पर भी हल्की वर्षा रिकॉर्ड की गई।

बता दें कि वर्षा प्रमुख रूप से सहरसा के पत्थर घाट में 111.6 मिलीमीटर, मधेपुरा के मधीपुरा 78.8 मिलीमीटर और रोहतास के नोखा में 66.4 मिलीमीटर दर्ज की गई। वहीं प्रदेश का सर्वाधिक अधिकतम तापमान (Aaj ka Tempraeture) 36.5 डिग्री सेल्सियस औरंगाबाद में और सबसे कम यानी न्यूनतम तापमान 24.5 डिग्री सेल्सियस किशनगंज जिले में रिकॉर्ड किया गया।

उत्तर बिहार में हो सकती है भारी बारिश


भारी वर्षा उत्तर बिहार (Bihar Mausam Update) के सीमांचल जिलों में एक या दो स्थानों में होने का पूर्वानुमान है, जबकि शेष भाग के कुछ स्थानों में हल्की से मध्यम स्तर की वर्षा देखी जा सकती है। वहीं प्रदेश में अगले 02 दिनों के दौरान दिन के तापमान में 02 से 04 डिग्री तक की वृद्धि देखी जा सकती है। इसके बाद बारिश होने से फिर से तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी।

48 घंटों में बारिश और वज्रपात का अलर्ट - 


पटना मौसम विज्ञान (IMD Rain alert) केंद्र के कुमार गौरव ने बताया कि मानसून द्रोणी रेखा जैसलमेर, चित्तौड़गढ़, रायसेन, रायपुर से होकर गुजर रही है, जो अपने सामान्य स्थान से दक्षिण में है। इसके प्रभाव से अगले 48 घंटों के दौरान प्रदेश के पश्चिम और मध्य भागों के कुछ स्थानों, जबकि शेष भाग के एक या दो स्थानों में मेघ गर्जन के साथ वज्रपात होने की संभावना है। बताते चलें कि सूबे में पिछले कुछ दिनों में तेज बारिश और आकाशीय बिजली से जहानाबाद, वैशाली, नालंदा, बेगूसराय और भागलपुर में अब तक 11 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।


ऐसे मिलेगा ठनका का अलर्ट


इंद्र वज्र मोबाइल एप कोई भी स्मार्टफोन यूजर आसानी से अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले प्ले स्टोर पर जाकर इंद्र वज्र टाइप करने इंस्टॉल करना होगा। एप के इंस्टॉल हो जाने के बाद उसमें अपना मोबाइल नंबर अंकित करने के बाद इस एप को उपयोग में लिया जा सकता है। इससे ठनका से होने वाली घटनाओं को कम करने में मदद मिलेगी। पटना के मौसम वैज्ञानिक आशीष कुमार की मानें, तो इस एप के माध्यम से ठनका/आकाशीय बिजली और वज्रपात से होने वाली दुर्घटनाओं से बचा जा सकेगा।